लाइव टीवी

साथियों को बचाने के लिए झील में कूदे ले. कर्नल गौरव सोलंकी की मौत, कांगो के शांति मिशन में थे तैनात

News18Hindi
Updated: September 15, 2019, 6:47 PM IST
साथियों को बचाने के लिए झील में कूदे ले. कर्नल गौरव सोलंकी की मौत, कांगो के शांति मिशन में थे तैनात
डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो में तैनात भारतीय सेना के अधिकारी गौरव सोलंकी की झील में डूबने से मौत हो गई

डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो (Democratic Republic of Congo) में तैनात भारतीय सेना (Indian Army) के अधिकारी गौरव सोलंकी की झील में डूबने से मौत हो गई

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 15, 2019, 6:47 PM IST
  • Share this:
कांगो. डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो (Democratic Republic of Congo) में तैनात भारतीय सेना (Indian Army) के अधिकारी गौरव सोलंकी की झील में डूबने से मौत हो गई. लेफ्टिनेंट कर्नल गौरव सोलंकी को मध्य अफ्रीकी देश में संयुक्त राष्ट्र (United Nations) के अभियान में एक सैन्य पर्यवेक्षक के तौर पर तैनात किया गया था. संयुक्त राष्ट्र के शांति मिशन के तहत डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो में तैनात गौरव सोलंकी पिछले शनिवार से लापता थे.

लेफ्टिनेंट कर्नल सोलंकी के साथ एक ग्रुप भी था जो बीते रविवार कांगो (Congo) और रवांडा (Rwanda) की सीमा के बीच स्थित चेगेरा द्वीप के पास कीवु झील कायकिंग ट्रिप पर गया था. सेना के मुताबिक वह कायकिंग की कीवु झील में गए थे जिसके बाद से वह लापता हो गए थे.

सहयोगियों को बचाने में गई जान
टाइम्स नाऊ
की एक रिपोर्ट के मुताबिक गौरव के सहयोगी अधिकारी झील में डूब रहे थे जिन्हें बचाने के लिए गौरव भी अपनी लाइफ जैकेट उतारकर झील में कूद गए. हालांकि उनके सहयोगी तैरकर किनारे पर आ गए लेकिन गौरव झील में ही डूब गए.

कुछ दिनों में होनी थी वतन वापसी
एक अधिकारी ने कहा, कायकिंग ट्रिप के बाद सोलंकी को छोड़ सभी वापस आ गए. लापता अधिकारी की तलाश के लिए स्पीड बोट और हैलीकॉप्टर से खोज एवं बचाव अभियान शुरू किया गया. सोलंकी का शव गुरुवार को चेगेरा द्वीप से कुछ दूरी पर बरामद किया गया. सूत्रों के अनुसार, सोलंकी ने कांगो में अपना काम पूरा कर लिया था और वह अगले कुछ दिनों में भारत में अपने रेजिमेंट में शामिल होने वाले थे.

कांगो में 2 हजार से ज्यादा भारतीय सैनिक हैं तैनात
Loading...

डीआरसी में संयुक्त राष्ट्र कार्यालय को मोनुस्को के नाम से जाना जाता है. विदेशी जमीन पर भारतीय सेना की सबसे बड़ी तैनाती कांगो में है. उत्तर किवु प्रांत की राजधानी गोमा में भारतीय ब्रिगेड का मुख्यालय है. शांति मिशन के तहत मोनुस्को में फिलहाल 2,613 भारतीय सैनिक तैनात हैं.

ये भी पढ़ें-
9 साल तक IED के धमाकों से बचाने वाले डॉग की मौत, सैनिकों ने सलामी देकर किया विदा

पाकिस्तान की बुजदिलाना हरकत, पुंछ में स्कूलों और मस्जिदों पर की गोलाबारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 14, 2019, 8:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...