लाइव टीवी

दुबई में इस भारतीय कारोबारी ने किया ऐसा काम, 13 कैदियों का परिवार दे रहा दुआएं

भाषा
Updated: October 16, 2019, 12:56 PM IST
दुबई में इस भारतीय कारोबारी ने किया ऐसा काम, 13 कैदियों का परिवार दे रहा दुआएं
दुबई में भारतीय कारोबारी ने जेल से रिहा 13 कैदियों के लिए टिकट खरीदे

भारतीय कारोबारी (Indian Businessman) ने बताया कि इन्हें मामूली अपराधों के लिए जेल में बंद किया गया था, उनकी कैद पूरी हो गई है और वे शीघ्र स्वदेश के लिए उड़ान भरेंगे.

  • Share this:
दुबई. दुबई (Dubai) में भारतीय मूल के एक कारोबारी (Businessman) ने यहां जेल (Jail) से रिहा हुए 13 विदेशी नागरिकों के स्वदेश लौटने के लिए उनके यात्रा टिकट खरीदे हैं. इनमें पाकिस्तान, बांग्लादेश, चीन और अफगानिस्तान के नागरिक शामिल हैं. रिहाई के बाद कैदियों का परिवार भारतीय कारोबारी को दुआएं दे रहा है.

खलीज टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, ‘पहल इंटरनेशनल ट्रांसपोर्ट’ के अध्यक्ष और पहल चैरिटेबिल ट्रस्ट (पीसीटी ह्यूमैनिटी) के संस्थापक जोगिंदर सिंह सलारिया ने सोमवार को जेल (Jail) से रिहा किए गए कैदियों की स्वदेश वापसी के लिए दुबई पुलिस (Police) के अधिकारियों के साथ मिलकर हवाई यात्रा टिकट खरीदे. रिहा हुए कैदियों में पाकिस्तान, बांग्लादेश, युगांडा, नाइजीरिया, इथियोपिया, चीन और अफगानिस्तान के नागरिक शामिल हैं.

13 रिहा कैदियों के लिए खरीदे टिकट
सलारिया ने बताया कि इन्हें मामूली अपराधों के लिए जेल में बंद किया गया था, उनकी कैद पूरी हो गई है और वे शीघ्र स्वदेश के लिए उड़ान भरेंगे. उन्होंने कहा,‘दुर्भाग्य से ये लोग हवाई यात्रा के लिए टिकट नहीं खरीद सकते थे. दुबई पुलिस पीसीटी ह्यूमैनिटी के साथ मिलकर अनेक धर्मार्थ कार्य करती है, जिनमें रक्तदान कार्यक्रम आदि शामिल हैं. अब हम विभिन्न देशों के 13 लोगों को यात्रा सहयोग मुहैया करा रहे हैं, ताकि वे अपने परिवारों के पास पहुंच सकें.’

मामूली अपराध में जेल में थे बंद
भारतीय कारोबारी ने कहा, ‘पुलिस अधिकारियों ने हमें कैदियों के नामों की सूची दी. इनमें से ज्यादातर लोग समय से अधिक ठहरने, नियोक्ता के साथ विवाद जैसे छोटे-मोटे अपराधों के लिए सजा काट चुके थे और उनकी मदद के लिए कोई नहीं था.’

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 16, 2019, 12:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...