UN महासभा में इमरान का भाषण शुरू होते ही भारतीय प्रतिनिधि ने किया वॉकआउट

फोटो सौ. (फेसबुक- इमरान खान)
फोटो सौ. (फेसबुक- इमरान खान)

संयुक्त राष्ट्र महासभा हॉल में जैसे ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (PM Imran Khan) ने भाषण देना शुरू किया, वैसे ही भारतीय प्रतिनिधि (Indian Delegate) वहां से उठ कर बाहर चले गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2020, 11:28 PM IST
  • Share this:
संयुक्त राष्ट्र. संयुक्त राष्ट्र महासभा में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (PM Imran Khan) को आज भारतीय प्रतिनिधि (Indian Delegate) के द्वारा विरोध का सामना करना पड़ा. दरअसल पीएम इमरान खान ने महासभा में अपने भाषण की शुरूआत भारत के खिलाफ बोलने से ही किया जिसके बाद भारतीय प्रतिनिधि  महासभा के हॉल से वॉक आउट कर गए.

पाकिस्तान की तरफ से भारत के खिलाफ बयान और कश्मीर मुद्दा उठाने के मुद्दे पर भारतीय प्रतिनिधि मंडल ने इमरान खान के भाषण का बहिष्कार किया. कोरोना काल में इस बार संयुक्त राष्ट्र महासभा का आयोजन वर्चुअली हो रहा है. अपने भाषण की शुरुआत करते ही इमरान खान ने जमकर झूठ बोले. उन्होंने कहा, ''आरएसएस गांधी और नेहरू के सेक्युलर मूल्यों को पीछे छोड़ भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाने की कोशिश में लगा हुआ है.''


यूएन में भारत के स्थाई प्रतिनिधि ने इमरान खान के बयान पर कहा कि 75वीं संयुक्त राष्ट्र महासभा में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का बयान कूटनीतिक तौर पर निम्नस्तर का था. उन्होंने कहा कि इमरान खान के बयान में झूठे इल्जाम लगाना, व्यक्तिगत हमले करना, अपने यहां के अल्पसंख्यकों का हाल न देखकर भारत पर टिप्पणी करना शामिल था. राइट टू रिप्लाई में जवाब दिया जाएगा.



ये भी पढ़ें: UN बैठक के दौरान POK कार्यकर्ता बोले- हम पाकिस्तान में होने की सजा भुगत रहे हैं

पीएम मोदी करेंगे संबोधित
बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 26 सितंबर, 2020 को संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र में आम सभा को संबोधित करेंगे. मौजूदा कार्यक्रम के मुताबिक उन्हें 26 सितंबर (शनिवार) को पहले वक्ता के रूप में रखा गया है. बैठक न्यूयॉर्क के समय सुबह 9 बजे यानी भारतीय समयानुसार शाम करीब 6.30 बजे (टीबीसी) होगी. 75वें संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) सत्र का विषय "भविष्य जो हम चाहते हैं, संयुक्त राष्ट्र जिसकी हमें ज़रूरत है: बहुपक्षवाद के लिए हमारी सामूहिक प्रतिबद्धता की पुष्टि करते हुए, COVID-19 का सामना करने में प्रभावी बहुपक्षीय कार्रवाई." चूंकि इस वर्ष संयुक्त राष्ट्र महासभा को कोरोना वायरस महामारी की पृष्ठभूमि में आयोजित किया जा रहा है, इसलिए यह लगभग पूरी तरह वर्चुअल ही हो रही है. इसलिए न्यूयॉर्क के संयुक्त राष्ट्र महासभा हॉल में प्रधानमंत्री का संबोधन एक पूर्व रिकॉर्डेड वीडियो सन्देश के तौर पर प्रसारित किया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज