अपना शहर चुनें

States

अमेरिका में भारतीय को मिली 20 साल की सजा, कॉल सेंटर के जरिये दे रहा था धोखा

अमेरिका में एक भारतीय को धोखाधड़ी के लिए 20 साल की जेल हुई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
अमेरिका में एक भारतीय को धोखाधड़ी के लिए 20 साल की जेल हुई है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Indian Got Jailed For 20 Years: अमेरिका की एक अदालत (American Court) ने सोमवार को हितेश मधुभाई पटेल (Hitesh Madhubhai Patel) नाम के एक भारतीय नागरिक को 20 साल की जेल की सजा (Twenty Years jail) सुनाई है. पटेल को अमेरिकी नागरिकों को धोखा देने वाले एक कॉल सेंटर को चलाने के लिए 20 साल की जेल मिली है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 1, 2020, 6:29 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका की एक अदालत (American Court) ने सोमवार को हितेश मधुभाई पटेल (Hitesh Madhubhai Patel) नाम के एक भारतीय नागरिक को 20 साल की जेल की सजा (Twenty Years jail) सुनाई है. पटेल को अमेरिकी नागरिकों को धोखा देने वाले एक कॉल सेंटर को चलाने के लिए 20 साल की जेल मिली है. पटेल को 2013 और 2016 के बीच भारत स्थित कॉल सेंटरों के संचालन और फंडिंग में उसकी भूमिका के लिए और अमरीकी लोगों को लाखों डॉलर की धोखाधड़ी के लिए यह सजा सुनाई गई है. अहमदाबाद के हितेश मधुभाई पटेल को अमेरिका के टैक्सास के डिस्ट्रिक्ट जज डेविड हिटनर ने सजा सुनाई.

पटेल पर लगे ये आरोप

पटेल पर मनी ट्रांसफर की धोखाधड़ी की साजिश करने, किसी और की पहचान के इस्तेमाल करने की धोखाधड़ी, एक्सेस डिवाइस फ्रॉड, मनी लॉन्ड्रिंग और एक फेडरल अधिकारी की पहचान का इस्तेमाल करने के आरोप लगे हैं. पटेल को अपने अपराधों के शिकार हुए कुछ लोगों को मुआवजा देने का भी आदेश दिया गया है.



ऐसी की धोखाधड़ी
पटेल और उसके साथ जुड़े अन्य षड्यंत्रकारियों ने अहमदाबाद के एक कॉल सेंटर के कर्मचारियों के माध्यम से आईआरएस और यूएस नागरिकता और आव्रजन सेवा (USCIS) के अधिकारियों का रूप धरकर कई घोटाले किये. इन्होने बहुत से अमरिकी नागरिकों को डर दिखाकर उनसे धन वसूला.

भारत के कई कॉल सेंटरों में चला रहा था धोखाधड़ी की योजना

पटेल ने भारत के कई कॉल सेंटरों के संचालन और फंडिंग को स्वीकार किया. इन कॉल सेंटरों सहित कइयों में धोखाधड़ी की योजनाएँ चल रही थीं, जिसमें HGLOBAL भी शामिल है. पटेल इन धोखाधड़ी में अपने सह-अभियुक्तों के साथ ईमेल और व्हाट्सएप मैसेजिंग के जरिए अक्सर क्रेडिट कार्ड नंबर, टेलीफोन स्कैम स्क्रिप्ट और कॉल सेंटर ऑपरेशंस निर्देशों का आदान-प्रदान किया करता था. सिंगापुर के अधिकारियों ने सितंबर 2018 में संयुक्त राज्य अमेरिका के अनुरोध पर पटेल को भारत से उड़ान भर कर सिंगापुर आने के बाद गिरफ्तार कर उसे अमेरिका प्रत्यर्पित कर दिया था. इस प्रत्यर्पण के बाद अप्रैल 2019 में सिंगापुर से प्रत्यर्पित किए जाने के बाद पटेल पर अमेरिका में मुकदमा चलाया गया था.

ये भी पढ़ें: थाईलैंड के मछुआरे के हाथ लगी व्हेल की उल्टी, रातोंरात बना करोड़पति

फ्रांस में मुस्लिमों पर नए चार्टर वैल्यू को स्वीकार करने के लिए बनाया जा रहा है दबाव

इस मामले में पटेल और 60 अन्य लोगों संस्थाओं पर सामान्य षड्यंत्र, वायर धोखाधड़ी की साजिश और मनी लॉन्ड्रिंग की साजिश रचने का आरोप लगाया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज