• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • INDIAN ORIGIN CAUGHT IN PROPERTY DISPUTE IN NEW ZEALAND MAY HAVE TO PAY CRORES OF DAMAGES

न्यूजीलैंड में भारतवंशी शख्स को एक मीटर खिसकाने के लिए कहा गया अपना घर...

हर्जाने की राशि भारतीय मुद्रा में 1.5 करोड़ से ज्यादा की है. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Shutterstock )

दीपक लाल (Deepak Lal) ने पापाकुरा के पिनेकल होम्स (Pinnacle Homes) को अपना घर डिजाइन करने और तैयार करने का काम 2020 के मध्य में सौंपा था. जब कंपनी घर का निर्माण खत्म ही कर रही थी, तब डेवलपर ने उन्हें इस परेशानी के बारे में आगाह किया.

  • Share this:
    ऑकलैंड. न्यूजीलैंड (New Zealand) में रह रहे भारतवंशी दीपक लाल एक अजीब तरह के प्रॉपर्टी विवाद में फंस गए हैं. ऑकलैंड (Auckland) स्थित उनके घर पर पड़ोस की प्रॉपर्टी के मालिक ने सवाल उठा दिया है. आपत्ति जताने वाले प्रॉपर्टी मालिक ने लाल को हर्जाना देने या अपना घर एक मीटर पीछे हटाने के लिए कहा है. हर्जाने की राशि भारतीय मुद्रा में 1.5 करोड़ से ज्यादा की है.

    ऑकलैंड का एक प्रॉपर्टी डेवलपर C94 डेवलपमेंट, लाल के खिलाफ निर्माण में खामी के चलते मुकदमा दायर करने की तैयारी कर रहा है. रिपोर्ट्स बताती हैं कि लाल के घर की कानूनी जगह और असल निर्माण में एक मीटर का अंतर है. लाल ने पापाकुरा के पिनेकल होम्स को अपना घर डिजाइन करने और तैयार करने का काम 2020 के मध्य में सौंपा था. जब कंपनी घर का निर्माण खत्म ही कर रही थी, तब डेवलपर ने उन्हें इस परेशानी के बारे में आगाह किया. इसके बाद से ही निर्माण कार्य रुक गया था.

    अब डेवलपर का कहना है कि लाल या तो अपना घर हटाएं या हर्जाने का 3 लाख 15 हजार डॉलर दें. इधर, लाल के वकील ने पिनेकल होम्स और एचक्यू डिजाइन्स को सितंबर 2020 में नोटिस भेजा था. इसमें सर्वेयर का भी जिक्र किया गया था, जिसने निर्माण स्थल की जांच की थी. पिनेकल होम्स में प्रोजेक्ट मैनेजर जॉनी भट्टी कहते हैं कि उनकी कंपनी और सर्वेयर ने प्लान के हिसाब से काम किया है और अब इस मामले की जिम्मेदारी एचक्यू डिजाइन्स और काउंसिल की है.

    यह भी पढ़ें: इन तीन वजहों से महिलाओं के नाम घर खरीदना फायदेमंद होता है, जानिए विस्तार से

    उन्होंने घर को रीलोकेट करने की इच्छा भी जाहिर की है. हालांकि, उन्होंने बताया है कि इसमें 1 लाख 50 हजार डॉलर का खर्च आएगा. वहीं, एचक्यू डिजाइन्स के निखिल कुमार का कहना है कि उनके वकील लाल और पिनेकल होम्स के साथ बातकर मामले को सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं. जबकि, C94 डेवलपमेंट के ब्रूस वॉन्ग का कहना है कि पार्टियों को जल्द हल निकालना होगा, क्योंकि इससे उन्हें प्रॉपर्टी बेचने में दिक्कत आ रही है. साथ ही उन्होंने यह भी साफ कर दिया है, 'अगर मामला सुलझाया नहीं गया, तो दायित्व हर महीने बढ़ता रहेगा.'

    एक-दूसरे पर डाल रहे हैं जिम्मेदारी
    लाल का कहना है कि वे बस इस परेशानी से बाहर निकलना चाहते हैं. वे कहते हैं कि यह निर्माण एक बुरे सपने की तरह है और कई बार वे आधी रात में जागकर यही सोचते हैं कि इस मामले से कैसे निपटेंगे. उन्होंने कहा कि एचक्यू डिजाइन ने निर्माण के लिए अनुमति मांगी थी, जिसे ऑकलैंड काउंसिल ने मंजूर किया था, ऐसे में यह जिम्मेदारी उनकी ही बनती है. लाल ने कहा कि सभी लोग एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं.