लाइव टीवी

भारतीय शिक्षिका चीन में हुई कोरोना वायरस से संक्रमित, किसी विदेशी के साथ पहला मामला

News18Hindi
Updated: January 19, 2020, 7:45 PM IST
भारतीय शिक्षिका चीन में हुई कोरोना वायरस से संक्रमित, किसी विदेशी के साथ पहला मामला
चीन का बड़ा हिस्सा इस समय कोरोना विषाणु की चपेट में है (सांकेतिक फोटो)

शेनजेन (Shenzhen) के एक अंतरराष्ट्रीय स्कूल (International School) में शिक्षिका प्रीति माहेश्वरी को पिछले शुक्रवार को गंभीर रूप से बीमार होने के बाद स्थानीय अस्पताल (Local Hospital) में भर्ती कराया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 19, 2020, 7:45 PM IST
  • Share this:
बीजिंग. चीन (China) के वुहान (Wuhan) और शेनजेन शहरों में फैल रहे निमोनिया (Pneumonia) के नये किस्म के विषाणु की चपेट में 45 वर्षीय भारतीय स्कूल शिक्षिका (School Teacher) आ गई है. वह पहली विदेशी है जो रहस्यमय एसएआरएस (SARS) जैसे कोरोनावायरस से संक्रमित हुई है.

शेनजेन (Shenzhen) के एक अंतरराष्ट्रीय स्कूल (International School) में शिक्षिका प्रीति माहेश्वरी को पिछले शुक्रवार को गंभीर रूप से बीमार होने के बाद स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

2002-03 में चीन-हांगकांग में इससे करीब 650 लोगों की मौत हो गई थी
उनके पति अशुमन खोवाल ने शेनजेन से पीटीआई-भाषा को बताया कि डॉक्टरों ने सोमवार को पुष्टि की कि वह इस विषाणु (Virus) से ग्रस्त हैं और उनका इलाज किया जा रहा है.

इस वायरस के फैलने के बाद से चीन (China) में चिंता का माहौल है क्योंकि इसका संबंध एसएआरएस (सिवीयर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम) से बताया जा रहा है जिससे 2002-03 में चीन और हांगकांग में करीब 650 लोगों की मौत हो गई थी.

डॉक्टरों ने कहा, 'बीमारी से उबरने में लगेगा लंबा समय'
दिल्ली के कारोबारी, खोवाल ने बताया कि माहेश्वरी का सघन निगरानी कक्ष (ICU) में इलाज चल रहा है और वह फिलहाल जीवन रक्षक प्रणाली पर हैं.खोवाल को हर दिन मरीज से मिलने के लिए कुछ घंटों की इजाजत दी जाती है. उन्होंने कहा कि वह बेहोश हैं और डॉक्टरों (Doctors) ने कहा कि उन्हें इससे उबरने में लंबा वक्त लग जाएगा. वुहान से मिल रही खबरों के अनुसार 17 नये मामले सामने आए हैं जिसके बाद कुल मामले 62 हो गए हैं. कुछ हफ्तों पहले वुहान से ही इस विषाणु के सामने आने का पता चला था.

वुहान में पढ़ाई कर रहे हैं 500 भारतीय मेडिकल छात्र
सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने रविवार को खबर दी कि कुल 19 लोगों का इलाज हो गया है और उन्हें अस्पताल (Hospital) से छुट्टी दे दी गई है जबकि अन्य को अलग वार्ड में रखा गया है और उनका इलाज किया जा रहा है.

हांगकांग के साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट ने खबर दी कि शेनजेन में फिलहाल दो लोगों को थर्ड पीपल्स अस्पताल के अलग कमरे में रखा गया है. भारत ने चीन के वुहान में निमोनिया (Pneumonia) के नये प्रकार के प्रकोप के चलते दूसरी मौत होने के बाद शुक्रवार को चीन जाने वाले अपने नागरिकों के लिए एक परामर्श जारी किया था. वुहान में करीब 500 भारतीय मेडिकल छात्र पढ़ाई कर रहे हैं.

जापान-थाईलैंड में भी सामने आया है एक-एक मामला
भारत की ओर से जारी यात्रा परामर्श में कहा गया, “चीन में नये कोरोना वायरस (Corona virus) के संक्रमण का पता चला है. 11 जनवरी, 2020 तक 41 मामलों के सामने आने की पुष्टि हुई है.” जापान और थाईलैंड में यात्रा संबंधी एक-एक मामला सामने आया है.

वुहान शहर के विश्वविद्यालयों के मेडिकल कॉलेजों में 500 से ज्यादा भारतीय छात्र पढ़ाई कर रहे हैं. लेकिन उनमें से ज्यादातर चीनी नववर्ष (Chinese New Year) के लिए छुट्टियां पड़ने पर अपने घरों के लिए रवाना हो गए मालूम होते हैं. यात्रा परामर्श में कहा गया कि इसके लक्षणों में मुख्य तौर पर बुखार आना है और कुछ मरीज सांस लेने में तकलीफ की शिकायत करते हैं.

यह विषाणु (Virus) किस माध्यम से फैल रहा है, यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है. हालांकि, अब तक बेहद मामूली साक्ष्य मिले हैं कि यह मनुष्य से मनुष्य में फैल रहा है.

यह भी पढ़ें: चीन में फैला जानलेवा वायरस, भारत ने यात्रियों को जारी की एडवाइजरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 19, 2020, 7:45 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर