लाइव टीवी

Fact Check: इंडोनेशिया नहीं मलेशिया के डॉक्टर की है ये फोटो, कोरोना के चलते बच्चों से हैं दूर, नहीं हुई है मौत

News18Hindi
Updated: March 25, 2020, 5:33 PM IST
Fact Check: इंडोनेशिया नहीं मलेशिया के डॉक्टर की है ये फोटो, कोरोना के चलते बच्चों से हैं दूर, नहीं हुई है मौत
इंडोनेशिया के डॉक्टर के नाम पर शेयर की जा रही ये तस्वीर झूठी है.

फैक्टचेक के मुताबिक ये तस्वीर इंडोनेशिया नहीं बल्कि मलेशिया एक डॉक्टर की है जो कि आजकल कोरोना के मरीजों का इलाज कर रहे हैं. ये तस्वीर डॉक्टर के एक कजिन भाई अहमद अफेंदी जैलानुदीन ने 21 मार्च को अपने फेसबुक अकाउंट पर शेयर की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2020, 5:33 PM IST
  • Share this:
क्वालालंपुर. कोरोना वायरस (Coronavirus) दुनिया 196 देशों तक पहुंच गया है और 4 लाख 20 हज़ार से ज्यादा लोग इस संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. हालांकि कोरोना का फायदा उठाकर सोशल मीडिया (Social Media) पर कई झूठी तस्वीरें और जानकारियां साझा की जा रहीं हैं. ताजा मामले में कथित तौर पर इंडोनेशिया के एक डॉक्टर की फोटो वायरल हुई है जो कि फेक (Fake News) है.

क्या है मामला
बीते दो दिनों से सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वायरल हो रही जिसे इंडोनेशिया की बताया जा रहा है. फोटो में एक शख्स घर के गेट के बाहर खड़ा है जबकि दो बच्चे घर के अन्दर से खड़े होकर उसे देख रहे हैं. इस डॉक्टर का नाम हादियो अली (Dr Hadio Ali ) बताया जा रहा है और ये भी दावा किया जा रहा है कि कोरोना से उनकी मौत हो गयी है, ये तस्वीर उनके आखिरी बार अपने बच्चों से मिलने की है. इस तस्वीर को ट्विटर और फेसबुक पर हज़ारों लोगों ने शेयर किया है, हालांकि ये तस्वीर और कहानी झूठी है.








क्या है सच?
बूम लाइव के फैक्टचेक के मुताबिक ये तस्वीर इंडोनेशिया नहीं बल्कि मलेशिया एक डॉक्टर की है जो कि आजकल कोरोना के मरीजों का इलाज कर रहे हैं. ये तस्वीर डॉक्टर के एक कजिन भाई अहमद अफेंदी जैलानुदीन ने 21 मार्च को अपने फेसबुक अकाउंट पर शेयर की थी. इस पोस्ट में अहमद ने बताया था कि उनका चचेरा भाई कोरोना के मरीजों का इलाज कर रहा है और इसी के चलते घर में घुसने और बच्चों के पास आने से भी परहेज कर रहा है.





इसमें अहमद सभी को बता रहा है कि कैसे उनका भाई जान पर खेलकर लोगों को बचा रहा है और अपने बच्चों से भी दूर है. साथ ही वो लोगों से घरों में रहने और डॉक्टर्स की बातें मानने की गुजारिश भी कर रहा है. बूम लाइव ने अहमद से फोन पर बात कर इस तस्वीर के बारे में पूछा तो भी उसने यही जवाब दिया कि ये डॉक्टर उसका कजिन भाई है. मलेशिया की वेबसाइट टेम्पो ने भी इस तस्वीर के इंडोनेशिया से न होने की खबर प्रकाशित की है.

 

ये भी पढ़ें:-

धर्मस्थलों के पास अकूत संपत्ति, क्या कोरोना से लड़ाई में सरकार लेगी उनसे धन

ग्राफिक्स से समझिए कि कैसे शरीर में घुसकर इंसान को बीमार बनाता है कोरोना वायरस!

देश के 30 राज्यों में लॉकडाउन, जानिए जनता को इस दौरान क्या करने की आजादी?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 5:16 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर