लाइव टीवी

इंद्रा नूई को अमेरिका की नेशनल गैलरी में अपनी पोर्ट्रेट लगने पर नहीं हुआ था विश्‍वास

News18Hindi
Updated: November 18, 2019, 6:36 PM IST
इंद्रा नूई को अमेरिका की नेशनल गैलरी में अपनी पोर्ट्रेट लगने पर नहीं हुआ था विश्‍वास
इंद्रा नूई ने कहा कि मैं नेशनल पोर्ट्रेट गैलरी की बहुत आभारी हूं. ये मेरे लिए ऐसी उपलब्धि है, जिसका मैंने कभी सपना भी नहीं देखा था.

अमेरिका (US) के इतिहास, विकास और संस्कृति में योगदान के लिए पेप्सिको (PepsiCo) की पूर्व मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी (Former CEO) इंद्रा नूई (Indra Nooyi) को स्मिथसोनियन नेशनल पोर्ट्रेट गैलरी में शामिल करने के लिए चुना गया. 57 साल पुरानी अमेरिकी गैलरी में 23 हजार पोर्ट्रेट हैं. उनके अलावा अमेजन के फाउंडर-सीईओ जेफ बेजोस का पोर्ट्रेट भी गैलरी में शामिल किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 18, 2019, 6:36 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. भारतीय मूल की अमेरिकी नागरिक इंद्रा नूई (Indra Nooyi) को अमेरिका के वाशिंगटन में प्रतिष्ठित स्मिथसोनियन नेशनल पोर्ट्रेट गैलरी (Smithsonian National Portrait Gallery) में शामिल किया गया है. पेप्सिको (PepsiCo) की पूर्व कार्यकारी अध्‍यक्ष (Former CEO) नूई को उनकी व्‍यक्तिगत उपलब्धियों के साथ ही अमेरिका के इतिहास, विकास और संस्‍कृति में योगदान के लिए नेशनल गैलरी में स्‍थान दिया गया. नूई ने बताया कि जब मुझे चिट्ठी के जरिये इस बारे में जानकारी दी गई तो भरोसा ही नहीं हुआ. मुझे लगा कि कोई मजाक कर रहा है. उनके अलावा अमेजन (Amazon) के संस्‍थापक-सीईओ जेफ प्रिस्‍टन बेजोस (Jeffrey Preston Bezos) को भी गैलरी में जगह दी गई है.

'अमेरिका में महिलाओं को दोयम दर्जे का नागरिक नहीं समझा जाता'
नूई ने कहा, 'एक दक्षिण एशियाई (South Asian) प्रवासी को प्रतिष्ठित गैलरी में शामिल करने से साफ है कि यहां के लोग उन लोगों को देखना चाहते हैं, जो उन पर अच्‍छा असर डालते हैं.' उन्‍होंने गैलरी में शामिल किए जाने पर एक कार्यक्रम में कहा कि यहां के लोग अपने देश पर अच्‍छा असर डालने वाले लोगों की उपलब्धियों (Achievements) की प्रशंसा करने में गुरेज नहीं करते हैं. इससे साफ है कि यहां महिलाओं को दोयम दर्जे का नागरिक (Second Class Citizen) नहीं समझा जाता. साथ ही ये यह भी बताता है कि महिलाओं को भी खुद को दोयम दर्जे का नागरिक नहीं समझना चाहिए. उन्‍होंने कहा कि मैं नेशनल पोर्ट्रेट गैलरी की बहुत आभारी हूं. ये मेरे लिए ऐसी उपलब्धि है, जिसका मैंने कभी सपना भी नहीं देखा था.

'अमेरिका महिलाओं को मनमुताबिक आगे बढ़ने का मौका देता है'

इंद्रा नूई ने कहा कि आपके जन्‍म स्‍थान और विरासत (Inheritance) के अमेरिका में कोई मायने नहीं हैं. अगर आप मेहनत से अपने काम में सकारात्मक योगदान देते हैं तो अमेरिका (US) आपको मनमुताबिक आगे बढ़ने का मौका देता है. इसमें रंग (Color), संप्रदाय (sect) या जाति (caste) का फर्क नहीं पड़ता है. हम जैसे लोगों ने आगे बढ़कर महिलाओं के लिए नए रास्‍ते खोले हैं. उन्हें सभी की तरह समान, ताकतवर और योगदान देने वालों के तौर पर देखा जा रहा है.' 64 वर्षीय नूई और जेफ बेजोस को फ्रांसिस हेमिल्‍टन अर्नोल्ड (Frances Hamilton Arnold), लिन-मैनुअल मिरांडा (Lin-Manuel Miranda) के साथ गैलरी में शामिल किया गया है. कार्यक्रम में अमेरिका की पूर्व प्रथम महिला मिशेल ओबामा (Michelle Obama) और पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन (Hillary Clinton) ने भी शिरकत की.

इंद्रा नूई को जेफ बेजोस, लिन-मैनुअल मिरांडा और फ्रांसिस हेमिल्‍टन अर्नोल्ड के साथ गैलरी में शामिल किया गया है.


इतिहासकार चुनते हैं हस्‍ती, पोर्ट्रेट बनाने में लगता है एक साल
Loading...

नूई ने बताया कि पोर्ट्रेट में मेरे माता-पिता, पति-बच्चे, पेप्सिको की सालाना रिपोर्ट (Annual Report) और येल यूनिवर्सिटी (Yale University) के हैट की तस्वीर शामिल है. ये सभी मेरे जीवन के अहम हिस्से हैं. ज्यादातर पोर्ट्रेट में ऐसा नहीं होता. यह केवल एक तस्वीर नहीं है. यह एक कहानी बयां करती है. नूई का पोर्ट्रेट बनाने वाले कलाकार जॉन फ्राइडमैन (John Friedman) की तारीफ करते हुए कहा कि उन्‍होंने बहुत अच्छा काम किया है. चेन्नई में जन्मी नूई ने 2 अक्टूबर, 2018 को पेप्सीको में 24 साल काम करने के बाद इस्तीफा दिया था. वह 12 साल पेप्सिको में सीईओ रहीं. बता दें कि इतिहासकार (Historian) गैलरी के बोर्ड मेंबर के साथ पोर्ट्रेट के लिए लोगों का चयन करते हैं. चयनिक व्‍यक्ति का पोर्टेट तैयार करने में एक साल लगता है.

ये भी पढ़ें:

राजपक्षे परिवार की वापसी भारत और श्रीलंकाई तमिलों के लिए चिंता का सबब

CJI एसए बोबडे की पहली चुनौती होगी सुप्रीम कोर्ट की साख फिर मजबूत करना

चीन ने उइगर मुस्लिमों को हिरासत में क्‍यों लिया? लीक फाइल से हुआ खुलासा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 6:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...