लाइव टीवी

आतंक के सौदागर अबु बकर अल-बगदादी के मारे जाने की इनसाइड स्टोरी


Updated: October 29, 2019, 10:15 AM IST
आतंक के सौदागर अबु बकर अल-बगदादी के मारे जाने की इनसाइड स्टोरी
अमेरिकी सैनिकों के हमले के बाद जमींदोज हुआ मकान

रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक बगदादी के ही एक साथी ने अमेरिका को उस तक पहुंचाया. जानिए कैसे फरवरी 2018 से बगदादी के मारे जाने (Operation Baghdadi ) की उलटी गिनती शुरू हो गई थी.

  • Last Updated: October 29, 2019, 10:15 AM IST
  • Share this:
बगदाद. आतंकी संगठन (Terrorist Organisation) इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया (ISIS) सरगना अबु बकर अल-बगदादी (Abu Bakr Al-Baghdadi) सुरक्षा एजेंसियों (US Forces) के लिए सिरदर्द बना हुआ था. उस तक पहुंचने का रास्ता खोजने के लिए अमेरिका समेत दुनिया भर की एजेंसियों ने दिन रात एक कर दिया था. दुनिया के इस मोस्ट वॉन्टेड अपराधी को मारना इतना आसान नहीं था. रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, आखिरकार बगदादी के ही एक साथी ने अमेरिका को उस तक पहुंचाया. जानिए कैसे फरवरी 2018 से बगदादी के मारे जाने (Operation Baghdadi ) की उलटी गिनती शुरू हो गई थी.

फरवरी 2018 में तुर्की सेना (Turkish Forces) इस्लामिक स्टेट (Islamic State) के एक प्रमुख ओहदेदार इस्माइल अल-एथावी (Al-Ethawi) को गिरफ्तार करने में सफल हुए. उन्होंने इसे इराकियों के हवाले कर दिया. इराकी अधिकारियों ने रॉयटर्स को जो बताया उसके मुताबिक इस शख्स से बगदादी को ट्रैक करने में मदद मिली. खास कर बगदादी कहां जाता है, किनसे मिलता है, कैसे जाता है, कब-कब आता-जाता है. इस तरह की छोटी से छोटी जानकारी बगदादी को मार गिराने में बेहद अहम रहीं.

कौन था अल-एथावी
एथावी ने सीरिया में ऐसे पांच लोगों के बारे में इराकियों को बताया, जिनसे बगदादी अक्सर मिलता. हालांकि मुलाकात की जगह हर बार बदलती रहती थी. एथावी जैसे आतंकियों का सुरक्षा एजेंट्स के हाथ चढ़ना एक बड़ी सफलता थी. इराकी इंटेलिजेन्स अधिकारियों के मुताबिक एथावी इस्लामिक स्टेट की टॉप पांच ऑपरेटिव्स में से था. इस्लामिक साइंसेस में डॉक्टरेट एथावी ने 2006 में अल-कायदा से जुड़ा. अमेरिका ने उसे 2008 में गिरफ्तार किया, जिसके बाद एथावी को चार साल की सजा भी हुई. इस्लामिक स्टेट में शामिल होने के बाद बगदादी ने उसे धार्मिक प्रवचन देने और इस्लामिक स्टेट के लिए कमांडर चुनने की जिम्मेदारी सौंपी. 2017 में आईएस की धराशायी होने के बाद एथावी अपनी सीरियाई पत्नी के साथ इराक से सीरिया भाग गया.

बगदादी, अमेरिका, विश्व समाचार, दुनिया, आईएसआईएस, आतंकवाद, आतंकवादी,baghdadi,america,world news,world, isis, terrorism, terrorist कैसे मरा बगदादी
लाल घेरे में जो घर दिख रहा है इसी घर में वह रहता था.


इस साल की शुरुआत में अमेरिका, तुर्की और इराक के एक जॉइण्ट ऑपरेशन के दौरान इस्लामिक स्टेट के पांच और टॉप आतंकियों को पकड़ने में सफलता मिली. इनमें से एक सीरियाई जबकि बाकि चार इराकी मूल के थे. पकड़े गए आतंकियों ने बगदादी के साथ अपनी मुलाकात की जगह और समय के बारे में इराकी एजेंसिंयों को महत्वपूर्ण जानकारियां दीं. इसके बाद अमेरिकी खूफिया एजेंसी सीआईए ने इदलिब में अपना नेटवर्क और मजबूत किया. यही वो जगह थी जहां बगदादी अपने परिवार और तीन साथियों के साथ एक गांव से दूसरे गांव मूव कर रहा था.

सीरिया के इस शहर में जासूसों को इदलिब में सर पर चौकड़ी साफा पहने हुए एक शख्स दिखाई दिया. फोटो के आधार पर जब इसकी पहचान हुई तो यह बगदादी का खास एथावी निकला. पीछा करने पर जासूसों को बगदादी के ठिकाने का पता चल गया. बस यहीं से बगदादी को घेरने की कारवाई शुरू कर दी गई. सीआईए ने ड्रोन और सैटेलाइट की मदद से बगदादी के ठिकाने पर नजर रखनी शुरू कर दी. यह सिलसिला पिछले पांच महीने से चल रहा था.
Loading...

मारे जाने से दो दिन पहले बगदादी अपने परिवार के साथ एक मिनी बस में सवार होकर नजदीकी गांव तक गया था. यह उसकी जिन्दा रहते अंतिम यात्रा थी. इस यात्रा में बगदादी के होने की पुष्टि हो गई थी.

ये भी पढें: IS सरगना बगदादी की पत्‍नी ने ही उसे मौत के मुंह में भेजा, दी थी बड़ी जानकारी

सद्दाम के सिपाही, आतंक के 'प्रोफेसर' करदश को मिली ISIS की कमान! 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 29, 2019, 9:52 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...