Home /News /world /

ब्रिटेन में सर्दी-खांसी के 50% मामले कोरोना के केस- स्टडी में दावा

ब्रिटेन में सर्दी-खांसी के 50% मामले कोरोना के केस- स्टडी में दावा

ब्रिटेन में हर दिन 1 लाख 44 हजार लोग इन लक्षणों के साथ बीमार हो रहे हैं.

ब्रिटेन में हर दिन 1 लाख 44 हजार लोग इन लक्षणों के साथ बीमार हो रहे हैं.

Coronavirus New Study: स्टडी टीम के लीड वैज्ञानिक टिम स्पेक्टर का कहना है कि यूके के अधिकतर लोगों को ओमिक्रॉन के लक्षण सर्दी-खांसी जैसे लगते हैं. इसकी शुरुआत जुकाम से होती है, जिसके बाद गले में खराश और सिर दर्द की शिकायत होती है. इसलिए ऐसे लक्षण आने पर तुरंत कोरोना का टेस्ट करना जरूरी है.

अधिक पढ़ें ...

    लंदन. यूनाइटेड किंगडम (UK) की जो कोविड स्टडी टीम कोरोना महामारी (Coronavirus Pandemic) को नजदीक से ट्रैक कर रही है. एक हालिया रिसर्च में टीम के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि ब्रिटेन में सर्दी-खांसी के 50% मामले असल में कोरोना के केस होंगे. उनके मुताबिक, यूके में पिछले हफ्ते कोरोना का ‘विस्फोट’ हुआ है, जिसकी वजह नया वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron Variant) है.

    ब्रिटेन में हर दिन 1 लाख 44 हजार लोग इन लक्षणों के साथ बीमार हो रहे हैं. यहां कोरोना के मामले हर दो से तीन दिन में दोगुने हो रहे हैं. स्टडी टीम के लीड वैज्ञानिक टिम स्पेक्टर का कहना है कि यूके के अधिकतर लोगों को ओमिक्रॉन के लक्षण सर्दी-खांसी जैसे लगते हैं.

    इस जानवर की वजह से पैदा हो सकता है कोरोना का नया वेरिएंट, पढ़ें ये स्टडी

    इसकी शुरुआत जुकाम से होती है, जिसके बाद गले में खराश और सिर दर्द की शिकायत होती है. इसलिए ऐसे लक्षण आने पर तुरंत कोरोना का टेस्ट करना जरूरी है.

    स्पर्म की क्वालिटी पर असर डालता है कोरोना वायरस, पढ़ें ये नई स्टडी

    इसके अलावा, ओमिक्रॉन पर अब तक मिली जानकारी के अनुसार, यह वेरिएंट ज्यादा खतरनाक नहीं है. ज्यादातर मामलों में इसके लक्षण माइल्ड या न के बराबर होते हैं. हालांकि, कुछ लोगों को ये बेहद गंभीर रूप से बीमार कर सकता है. (एजेंसी इनपुट)

    Tags: Coronavirus, Covid vaccine, Delta Variant

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर