फलस्तीनी घरों की रात में निगरानी और छापेमारी नहीं करेगी इजराइली सेना

इजराइल, फलस्तीनी घरों की रात के समय निगरानी बंद करेगा . सांकेतिक फोटो (pixabay)

फलस्तीनियों के घरों की देर रात की जाने वाली निगरानी को लेकर हो रही आलोचनाओं और मानवाधिकार संगठनों की पहल के बाद इजराइल की सेना 'निगरानी' बंद करने जा रही है. सेना का तर्क था कि यह उग्रवादी समूहों के बारे में जानकारी जुटाने के लिए यह कार्रवाई जरूरी थी. अब सेना वेस्‍ट बैंक में रात में की जाने वाली अपनी निगरानी और छापेमारी को बंद करेगी.

  • Share this:
    यरूशलम. इजराइल की सेना ने कहा है कि वह वेस्ट बैंक में फलस्तीनियों के घरों की देर रात की जाने वाली निगरानी को बंद करेगी जो घरों और वहां रहनेवाले लोगों के बारे में सूचना जुटाने पर केंद्रित थी.

    सेना विगत में अपनी इस कार्रवाई का यह कहकर बचाव करती रही है कि उग्रवादी समूहों के खिलाफ आवश्यक कदम के रूप में यह खुफिया जानकारी जुटाने के लिए जरूरी है. लेकिन मानवाधिकार समूह इसकी यह कहकर आलोचना करते रहे हैं कि कार्रवाई आम लोगों को डराने के लिए है.

    ये भी पढ़ें :  हर्षवर्धन का पलटवार, बोले- राहुल जी के ज्ञान के सामने आर्यभट्ट अरस्तु जैसे विद्वान भी नतमस्तक हो जाएं

    इजराइली सेना ने मंगलवार को कहा कि वह सिर्फ ‘‘अपवादजनक परिस्थितियों को छोड़कर’’ वेस्ट बैंक में रात में की जाने वाली फलस्तीनी घरों की अपनी निगरानी और छापेमारी को बंद करेगी.

    संयुक्त राष्ट्र में फिलिस्तीन और इजरायल की जंग पर भारत की प्रतिक्रिया 

    फिलिस्तीन (Palestine) और इजरायल (Israel) के बीच पिछले कई दिनों से जारी जंग पर भारत (India) ने संयुक्त राष्ट्र में अपनी प्रतिक्रिया दी है. भारत ने हिंसा की निंदा करते हुए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (United Nations Security Council) की बैठक में दोनों पक्षों में यथास्थिति में एकतरफा बदलाव न करने की अपील की है. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने कहा कि ग़ज़ा पट्टी में जिस तरह से रॉकेट से हमले किए गए उन हमलों की भारत कड़ी निंदा करता है. इसके साथ ही दोनों देशों से अपील करता है कि वह तत्‍काल तनाव कम करें और शांति की ओर अपने कदम बढ़ाएं.

    संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने रविवार को मध्य पूर्व में जारी हालात पर खुली बैठक की. इस दौरान संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने इजराइल और ग़ज़ा के बीच तनाव को 'बेहद गंभीर' करार दिया. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने कहा कि पिछले सप्ताह पूर्वी यरुशलम में शुरू हुई हिंसा के नियंत्रण से बाहर जाने का खतरा उत्पन्न हो गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.