Home /News /world /

ओमिक्रॉन वेरिएंट के हर म्यूटेशन पर असरदार है ये दवा, पढ़ें ब्रिटिश स्टडी

ओमिक्रॉन वेरिएंट के हर म्यूटेशन पर असरदार है ये दवा, पढ़ें ब्रिटिश स्टडी

सोट्रोविमैब दवा के डोज से अस्पताल में भर्ती की दर को कुछ कम किया जा सकता है.

सोट्रोविमैब दवा के डोज से अस्पताल में भर्ती की दर को कुछ कम किया जा सकता है.

जीएसके (GlaxoSmithKline)और वीर बायोटेक्नोलॉजी द्वारा विकसित सोट्रोविमैब (Sotrovimab) एक खुराक वाली एंटीबॉडी है और यह दवा कोरोना वायरस के बाहरी आवरण पर स्पाइक प्रोटीन से जुड़कर काम करती है. इससे यह वायरस को मानव कोशिका में प्रवेश करने से रोक देती है. जेवुडी के रूप में मार्केटिंग की जाने वाली दवा को कोविड-19 के लक्षणों की शुरुआत के पांच दिनों के भीतर दिए जाने की सिफारिश की गई है.

अधिक पढ़ें ...

    लंदन. कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) से दुनिया में हड़कंप मचा है. ये वेरिएंट हर दिन म्यूटेट हो रहा है. जिससे चिंता बढ़ गई है. इस बीच एक राहतभरी खबर भी है. ओमिक्रॉन वेरिएंट को लेकर ब्रिटेन के साइंटिस्ट ने बड़ा दावा किया है. साइंटिस्ट का कहना है कि सोट्रोविमैब (Sotrovimab) दवा ओमिक्रॉन के हर म्यूटेशन पर कारगर है. इस दवाई को ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन (GlaxoSmithKline) ने यूएस पार्टनर वीर (VIR) बायोटेक्नोलॉजी के साथ मिलकर विकसित किया है. अब इसी दवा को ओमिक्रॉन के खिलाफ असरदार बताया जा रहा है.

    ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन ने एक बयान में दावा किया कि ये एक मोनोक्लोनल एंटीबॉडी है. ये इंसान की नेचुरल एंटीबॉडी पर आधारित बताई गई है. इसलिए इसकी कारगरता दूसरी दवाओं से ज्यादा है. हालांकि, अभी तक इस दवा के बारे में किसी मेडिकल जर्नल ने कुछ नहीं प्रकाशित किया है.

    हांगकांग में हवा से भी फैल रहा ओमिक्रॉन वेरिएंट, पढ़ें ये स्टडी

    वैसे कंपनी इतना कह रही है कि सोट्रोविमैब दवा के डोज से अस्पताल में भर्ती होने की दर को कुछ कम किया जा सकता है. बताया जा रहा है कि इस दवा से अस्पताल में भर्ती होने की दर कम से कम 79 फीसदी कम की जा सकती है. इस दवा की वजह से वायरस ह्यूमन सेल में नहीं जा पाता.

    ये अध्ययन प्रीप्रिंट सर्वर बायोरेक्सिव पर पोस्ट किया गया है. हालांकि, अध्ययन में प्रारंभिक प्रयोगशाला परीक्षणों के आधार पर डेटा साझा किया गया है और अभी तक इसकी पूर्ण समीक्षा नहीं की गई है. कंपनी के अनुसार, अध्ययन ने प्रदर्शित किया कि सोट्रोविमैब नए ओमिक्रॉन सार्स-सीओवी-2 वेरिएंट (बी.1.1.529) के प्रमुख म्यूटेंट के खिलाफ सक्रियता या गतिविधि को बरकरार रखता है. कंपनियां अब 2021 के अंत तक एक अपडेट प्रदान करने के इरादे से सभी ओमिक्रॉन म्यूटेशन के संयोजन के खिलाफ सोट्रोविमैब की निष्क्रिय गतिविधि की पुष्टि करने के लिए इन विट्रो स्यूडो-वायरस टेस्टिंग पूरा कर रही हैं.

    बन रहा है ऐसा च्यूइंग गम, चबाते ही मुंह में खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस

    जीएसके और वीर बायोटेक्नोलॉजी द्वारा विकसित सोट्रोविमैब (Sotrovimab)एक खुराक वाली एंटीबॉडी है और यह दवा कोरोना वायरस के बाहरी आवरण पर स्पाइक प्रोटीन से जुड़कर काम करती है. इससे यह वायरस को मानव कोशिका में प्रवेश करने से रोक देती है. जेवुडी के रूप में मार्केटिंग की जाने वाली दवा को कोविड-19 के लक्षणों की शुरुआत के पांच दिनों के भीतर दिए जाने की सिफारिश की गई है.

    ब्रिटेन में 24 घंटे में ओमिक्रॉन वेरिएंट के 90 नए केस, कम्‍युनिटी स्‍प्रेड शुरू

    इसने दिखाया है कि यह उन लोगों के लिए प्रभावी है, जिन्हें ऑक्सीजन सप्लीमेंट की आवश्यकता नहीं है और जिन्हें गंभीर कोविड संक्रमण के बढ़ने का खतरा है. सोट्रोविमैब को यूके मेडिसिन्स एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी (एमएचआरए) द्वारा रोगसूचक वयस्कों और किशोरों (12 वर्ष और अधिक आयु) के तीव्र कोविड-19 संक्रमण के उपचार के लिए एक सशर्त मार्केटिंग प्राधिकरण भी दिया गया है. सशर्त मार्केटिंग प्राधिकरण में इंग्लैंड, स्कॉटलैंड और वेल्स शामिल हैं. (एजेंसी इनपुट)

    Tags: Coronavirus cases, Coronavirus Crisis, Covid vaccine, Omicron

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर