होम /न्यूज /दुनिया /स्पेस में संभव नहीं फिजिकल रिलेशन! फिर क्यों हो रही अंतरिक्ष यात्री के प्रेग्नेंट होने की बात

स्पेस में संभव नहीं फिजिकल रिलेशन! फिर क्यों हो रही अंतरिक्ष यात्री के प्रेग्नेंट होने की बात

नासा कथित तौर पर अंतरिक्ष में अनचाहे गर्भ को लेकर चिंतित है. (फोटो unsplash)

नासा कथित तौर पर अंतरिक्ष में अनचाहे गर्भ को लेकर चिंतित है. (फोटो unsplash)

Space Science: एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि नासा प्रमुख कथित तौर पर चिंतित हैं कि उनके अंतरिक्ष यात्रियों में से ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

नासा कथित तौर पर अंतरिक्ष में अनचाहे गर्भ को लेकर चिंतित है.
अंतरिक्ष यात्रियों में से एक को अंतरिक्ष में अनचाहे गर्भ का सामना करना पड़ेगा.
अंतरिक्ष में प्रेग्नेंट होने के अज्ञात परिणामों का डर ऐसा कुछ है जो पहले कभी नहीं हुआ है.

वॉशिंगटन. अंतरिक्ष में सेक्स एक रोचक विषय है लेकिन नासा इसे लेकर चिंतित है. एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि नासा प्रमुख कथित तौर पर चिंतित हैं कि उनके अंतरिक्ष यात्रियों में से एक को अंतरिक्ष में अनचाहे गर्भ का सामना करना पड़ेगा, क्योंकि वे ब्रह्मांड में मिशन पर अधिक समय बिताएंगे. ब्लू प्लेनेट के बाहर एक महिला के प्रेग्नेंट होने के अज्ञात परिणामों का डर ऐसा कुछ है जो पहले कभी नहीं हुआ है. जबकि 600 से अधिक पुरुषों और महिलाओं ने पृथ्वी के बाहर यात्राएं की हैं.

किन्से इंस्टीट्यूट के एक सेक्स शोधकर्ता सिमोन ड्यूब ने द डेली बीस्ट को बताया कि आधिकारिक तौर पर, अंतरिक्ष में कोई सेक्स नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि यह बदलने की संभावना है. कई कारणों से यह बदलना चाहिए जैसे कि हम ब्रह्मांड में लंबे समय तक विस्तार करने की योजना पर काम कर रहे हैं, तो ऐसे में इसे बदलना चाहिए.

अंतरिक्ष में गर्भाधान के लिए कोई ज्ञात बाधा नहीं
इस संभावना के साथ अंतरिक्ष में एक महिला के गर्भधारण की संभावना बढ़ रही है. विशेषज्ञ अब उन संभावित प्रभावों पर विचार कर रहे हैं जो एक गर्भवती महिला और उसके भ्रूण पर ब्रह्मांडीय वातावरण का प्रभाव डालेगा. बायलर कॉलेज ऑफ मेडिसिन सेंटर फॉर स्पेस मेडिसिन के सहायक प्रोफेसर डॉ. जेनिफर फोगार्टी ने द डेली बीस्ट को बताया कि इस तरह की घटना के होने से संभावित नकारात्मक प्रभाव पर “गंभीर चिंताएं” हैं. फिलहाल शारीरिक और जैविक रूप से अंतरिक्ष में गर्भाधान के लिए कोई ज्ञात बाधा नहीं है.

डॉ. फोगार्टी ने कहा कि चिंता का कारण संभावित प्रभाव है. विकिरण और सूक्ष्म गुरुत्वाकर्षण एक अजन्मे बच्चे को हानि पहुंचा सकता है. कुछ सबूतों के बावजूद यह समझना अभी भी कठिन है कि अंतरिक्ष मानव शरीर को कैसे प्रभावित कर सकता है. लेकिन हम जो जानते हैं वह यह है कि किसी भी नुकसान को सीमित करने के लिए ब्रह्मांड में नियमित रूप से विशिष्ट गतिविधियों की एक बड़ी मात्रा को बनाए रखने की आवश्यकता होती है.

गौरतलब है कि नासा का मानव अनुसंधान कार्यक्रम (एचआरपी) 50 से अधिक वर्षों से मानव शरीर पर अंतरिक्ष के प्रभाव का अध्ययन कर रहा है. इसमें इस विषय पर कुछ गंभीर कार्य हो रहा है. अंतरिक्ष में स्वास्थ्य जोखिमों को कम करने पर भी काम हो रहा है. लेकिन एक गर्भवती महिला के लिए यह कितना खतरनाक या आसान होगा यह समय ही बता सकता है.

Tags: Nasa, Pregnant, Space Science

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें