अपना शहर चुनें

States

ईरान में हिमस्खलन के चलते 10 लोग मरे, रेस्क्यू कर 14 लोगों की जान बचाई

ईरान में हिमस्खलन के चलते 10 लोगों की जान चली गई. फोटो:AP
ईरान में हिमस्खलन के चलते 10 लोगों की जान चली गई. फोटो:AP

Ten People Died Due to Avalanche in Iran: ईरान की राजधानी तेहरान (Tehran) के उत्तरी इलाके में भूस्खलन (Avalanche) और हिम-झंझावत (Blizzards) के चलते 10 लोगों के मारे (Ten Died) जाने की खबर आ रही है. इस घटना की पुष्टि ईरान के अधिकारियों ने कर दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 27, 2020, 12:23 PM IST
  • Share this:
तेहरान. ईरान की राजधानी तेहरान (Tehran) के उत्तरी इलाके में भूस्खलन (Avalanche) और हिम-झंझावत (Blizzards) के चलते 10 लोगों के मारे (Ten Died) जाने की खबर आ रही है. इस घटना की पुष्टि ईरान के अधिकारियों ने कर दी है. ईरान के अलबुर्ज पर्वत श्रृंखला पर्वतारोहियों और स्कीयर के बीच बहुत मशहूर है. हालांकि यहां कुछ दिनों से बहुत ही खतरनाक किस्म का मौसम हो रहा है. रेड क्रेसेंट नाम के संगठन ने 20 लोगों का दस्ता है जिसने रेस्क्यू ऑपरेशन चला कर 14 पर्वतारोहियों की जान बचा ली है. हालांकि अभी भी सात लोगों की खोज जारी है.

बर्फबारी के चलते रोकना पड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन

ईरान की राजधानी तेहरान के आसपास के इलाके में बर्फबारी बहुत ज्यादा हो रही है. शनिवार की रात को एक बार फिर से जोरशोर से बर्फबारी का दौर शुरू हो गया है और यह उम्मीद जताई गई है कि रविवार तक स्नोफॉल जारी होगी. बर्फबारी के चलते रेस्क्यू आॅपरेशन रोकना पड़ा है.



स्की रिसॉर्ट में 100 के करीब लोग फंस गए
हिमस्खलन के चलते 10 लोगों की मौत हो गई है. मरने वालों में एक राजनीतिक कार्यकर्ता, एक अकेडमिशियन, एक डॉक्टर और एक पर्वतारोही इंस्ट्रक्टर शामिल हैं. शुक्रवार को अचानक ​केबल कार की बिजली चली गई जिसके चलते 100 के करीब लोग स्की रिसॉर्ट में फंस गए.

ये भी पढ़ें: बांग्लादेश के इस परिवार के पुरुषों को NO FINGERPRINT के साथ जारी होता है आईडी कार्ड, जाने क्यों?

Guinness World Records: इवाओ सबसे लंबे समय तक फांसी का इंतजार करने वाला शख्स बना

डोनाल्ड ट्रंप चुनाव में हार का ले रहे हैं बदला, बेरोजगारों से जुड़े राहत बिल पर नहीं किया साइन

हिमस्खलन के संभावना की चेतावनी पहले ही दी गई थी और यह भी खबर मिली है कि पर्वतारोहियों जीपीएस सिस्टम पर भरोसा कर रहे थे, लेकिन उनमें गड़बड़ी आ जाने से सूचना मिलने में देरी हुई. इसके चलते कई लोग मारे गए और अभी भी सात लोग लापता हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज