सुलेमानी की मौत के बाद ईरान ने जनरल इस्माइल कानी को बनाया कुद्स फोर्स का नया कमांडर

कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद अयातुल्ला खामेनेई ने शपथ ली है कि वे इसका 'गंभीर बदला' लेंगे (फाइल फोटो, Twitter/@IranWireEnglish)
कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद अयातुल्ला खामेनेई ने शपथ ली है कि वे इसका 'गंभीर बदला' लेंगे (फाइल फोटो, Twitter/@IranWireEnglish)

शुक्रवार को बगदाद (Baghdad) में अमेरिकी हमले में की गई कमांडर कासिम सुलेमानी (Qasem Soleimani) की हत्या के बाद ईरान के सबसे बड़े नेता अयातुल्लाह खामेनेई (Ayatollah Ali Khamenei) ने शपथ ली है कि वो इसका 'गंभीर बदला' लेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 3, 2020, 7:28 PM IST
  • Share this:
तेहरान. इस्लामिक रिपब्लिक की कुद्स फोर्स (Quds Force of the Islamic Revolutionary Guard Corps) के कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी (Qasem Soleimani) की हत्या के बाद ईरान ने इस्माइल कानी (Esmail Qaani) को इस फोर्स का नया कमांडर नियुक्त किया. अयातुल्ला अली खामेनेई (Ayatollah Ali Khamenei) ने इसकी घोषणा अपनी वेबसाइट पर जारी किए गए एक वक्तव्य में दी. इस बयान में ईरान के सबसे बड़े नेता खामेनेई ने कानी को 1980-88 के ईरान-इराक युद्ध का सबसे प्रमुख कमांडर बताया है.

शुक्रवार को बगदाद (Baghdad) में की गई कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद अयातुल्ला खामेनेई (Ayatollah Ali Khamenei) ने शपथ ली है कि वो इसका 'गंभीर बदला' लेंगे.

इस हमले का असर कच्चे तेल की कीमतों पर भी हुआ
बता दें अमेरिका (America) ने ईरान (Iran) के मेजर जनरल कासिम सुलेमानी (Qassim Soleimani) को हवाई हमले में मार गिराया है. बगदाद एयरपोर्ट पर हुए अमेरिकी हवाई हमले में इराकी मिलिशिया कमांडर अबुर महादी अल-मुहानदिस की भी मौत हो गई है. अमेरिका ने शुक्रवार सुबह बगदाद एयरपोर्ट पर हवाई हमले को अंजाम दिया.
अमेरिकी हमले में ईरानी कमांडर जनरल कासिम सुलैमानी की मौत की खबरों के बाद शुक्रवार को कच्चे तेल की कीमतों में चार प्रतिशत से अधिक की तेजी दर्ज की गई.



सभी कच्चे तेल की कीमतों में आया 4% से ज्यादा का उछाल
इस हमले के बाद ईरान और उसके आस-पास के क्षेत्रों में संघर्ष की आशंका बढ़ गई है. अमेरिकी रक्षा विभाग पेंटागन (Pentagon) ने कहा कि ट्रंप ने सुलैमानी को मारने का आदेश दिया था.

हमले के बाद, ब्रेंट कच्चा तेल 4.4 प्रतिशत बढ़कर 69.16 डॉलर प्रति बैरल जबकि वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट कच्चा तेल 4.3 प्रतिशत उछलकर 63.84 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया था. निवेशकों को आशंका है कि इस संघर्ष का असर पश्चिमी एशिया में कच्चे तेल (Crude oil) की आपूर्ति पर पड़ सकता है.

उल्लेखनीय है कि इससे पहले सऊदी अरब की दो इकाइयों पर हमले के बाद सितंबर में कच्चे तेल की कीमतों में तेजी आई थी. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हमले के लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराया था.

(भाषा के इनपुट सहित)

यह भी पढ़ें: अब ईरान अपने जनरल की मौत का कैसे लेगा अमेरिका से बदला
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज