ईरान ने तोड़ा परमाणु समझौता, यूरेनियम संवर्धन सीमा पार की, अमेरिका की धमकी,नहीं बनाने देंगे एटम बम

विदेशी अखबारों में वाशिंगटन डीसी की सड़कों पर सैलाब की खबर हेडलाइंस बनी तो ईरान के परमाणु समझौते को तोड़ने की खबर भी सुर्खियां बनी

News18Hindi
Updated: July 9, 2019, 1:26 PM IST
ईरान ने तोड़ा परमाणु समझौता, यूरेनियम संवर्धन सीमा पार की, अमेरिका की धमकी,नहीं बनाने देंगे एटम बम
विदेशी अखबारों में वाशिंगटन डीसी की सड़कों पर सैलाब की खबर हेडलाइंस बनी तो ईरान के परमाणु समझौते को तोड़ने की खबर भी सुर्खियां बनी
News18Hindi
Updated: July 9, 2019, 1:26 PM IST
अरब देशों के चर्चित मीडिया हाउस अल जज़ीरा ने ईरान के यूरेनियम संवर्धन की तय सीमा पार करने को सुर्खियां बनाया और लिखा कि ईरान ने साल 2015 में हुआ न्यूक्लियर समझौता तोड़ दिया. अल जज़ीरा लिखता है कि ईरान ने विश्व शक्तियों को आगाह किया कि साल 2015 में हुई ऐतिहासिक न्यूक्लियर डील से बेहतर कोई दूसरा समझौता नहीं हो सकता है. वहीं अमेरिका ने कहा कि वो ईरान को कभी परमाणु बम बनाने नहीं देंगे.

ईरान 2015 में हुए परमाणु समझौते के तहत यूरेनियम संवर्धन के तय किए गए कैप को तोड़ दिया और इसका यूरेनियम संवर्धन 4.5 प्रतिशत के पार पहुंच गया. संयुक्त राष्ट्र की परमाणु निगरानी संस्था अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी यानी IAEA ने इसकी पुष्टि की है. ईरान ने ये यह सीमा तब तोड़ी जब उसने विश्व शक्तियों को समझौते को बचाए रखने के लिए 60 दिन का समय दिया था जिसकी मियाद 7 जुलाई को खत्म हो गई थी. ईरान ने कहा है कि समझौते को बचाए रखने के लिए वो भविष्य में अब कोई अंतिम समयसीमा की पेशकश नहीं करेगा.



उधर तनाव कम करने के लिए फ्रांस ने पहल की है और वो ईरान में अपना प्रतिनिधि भेजेगा. फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कहा कि वह ईरान और पश्चिमी सहयोगियों के बीच 15 जुलाई तक फिर से बातचीत शुरू कराने की कोशिश कर रहे हैं. वहीं ईरान के साथ परमाणु समझौते में शामिल रहे चीन और रूस ने ईरान के कदम के लिए अमेरिका को जिम्मेदार ठहराया है.



ब्रिटेन के अखबार द गार्जियन ने ब्रिटिश प्रधानमंत्री और अमेरिका में मौजूद ब्रितानी राजदूत पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के हमलों को हेडलाइंस बनाया. द गार्जियन लिखता है कि ब्रिटिश राजदूत के साथ डोनाल्ड ट्रंप कोई वास्ता नहीं रखेंगे. साथ ही द गार्जियन लिखता है कि ट्रंप ने ट्वीट कर थेरेसा मे पर ब्रेक्सिट डील में गड़बड़ी करने का आरोप लगाया.

द गार्जियन के मुताबिक ट्रंप ने थेरेसा मे पर तीखा हमला करते हुए कहा कि अमेरिका अब ब्रिटिश राजदूत से कोई वास्ता नही रहेगा. ट्रंप का ये बयान ब्रिटिश राजदूत सर किम डेरोच के उस ई-मेल के लीक होने के बाद आया जिसमें राष्ट्रपति ट्रंप को अयोग्य और अकुशल बताया गया था.

यूएस और यूके रिश्तों के बिगड़ते तस्वीर तब और साफ हो गई जब ट्रंप ने ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे पर ब्रेक्सिट डील में गड़बड़ी करने के आरोप लगाए जबकि इससे एक सप्ताह पहले ही अपनी ब्रिटेन यात्रा के दौरान ट्रंप ने थेरेसा मे के प्रयासों को शानदार बताया था. ट्रंप ने कहा कि ये 'अच्छी ख़बर' है कि ब्रिटेन को जल्द नया प्रधानमंत्री मिल जाएगा. ब्रिटेन की संसद में ब्रेक्सिट डील को पारित न करवा पाने के बाद थेरेसा मे ने प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था.
Loading...

बाढ़ में से बेहाल हुई अमेरिका की राजधानी, वाशिंगटन की सड़कों पर सैलाब

अमेरिकी अखबारों में वाशिंगटन की बाढ़ की तस्वीरें छाई हुई हैं. अमेरिका की राजधानी वाशिंगटन में भारी बारिश की वजह से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है. वाशिंगटन की सड़कों में बाढ़ से हालात इस कदर बदतर हो गए कि लोगों को चलती कारों से उतरकर कारों की छत पर खड़े हो कर जान बचानी पड़ी.



वाश‍िंगटन डीसी में सोमवार सुबह से भारी बार‍िश हो रही है जिसकी वजह से ट्रेनें भी लेट चल रही हैं. वहीं व्हाइट हाउस के बेसमेंट में भी बाढ़ का पानी घुसने की खबर है. इस बेसमेंट में मीडिया कर्मियों के बैठने की व्यवस्था की जाती है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...