ईरान ने नातान्ज परमाणु इकाई में बिजली सप्लाई रुकने को बताया परमाणु आतंकवाद

नातान्ज का परमाणु ऊर्जा संयंत्र अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आइएईए) की निगरानी में है. (फोटो साभारः AP)

नातान्ज का परमाणु ऊर्जा संयंत्र अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आइएईए) की निगरानी में है. (फोटो साभारः AP)

कई इजराइली मीडिया घरानों ने भी यही आकलन किया था कि एक साइबर हमले की वजह से नातान्ज में अंधेरा छा गया और उस इकाई को क्षति पहुंची जहां संवेदनशील सेंट्रीफ्यूज स्थित हैं.

  • Share this:
दुबई. ईरान (Iran) के असैन्य परमाणु कार्यक्रम (Civil nuclear program) के प्रमुख ने देश के नातान्ज परमाणु इकाई में विद्युत आपूर्ति बाधित होने को परमाणु आतंकवाद बताया है. अली अकबर सालेही ने यह टिप्पणी रविवार रात ईरान के सरकारी टेलीविजन द्वारा ऑनलाइन प्रकाशित एक खबर में की. उन्होंने हालांकि इसके लिए किसी संदिग्ध का नाम नहीं लिया.

सालेही की टिप्पणी से पश्चिम एशिया में तनाव और बढ़ सकता है. कई इजराइली मीडिया घरानों ने भी यही आकलन किया था कि एक साइबर हमले की वजह से नातान्ज में अंधेरा छा गया और उस इकाई को क्षति पहुंची जहां संवेदनशील सेंट्रीफ्यूज स्थित हैं. हालांकि, खबरों में इस आकलन के लिए किसी स्रोत का उल्लेख नहीं किया गया. इजराइली मीडिया का देश की सैन्य एवं खुफिया एजेंसियों के साथ नजदीकी संबंध है.

जानिए नातान्ज परमाणु ऊर्जा संयंत्र के बारे में

बता दें कि नातान्ज का परमाणु ऊर्जा संयंत्र अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आइएईए) की निगरानी में है. सरकारी टीवी ने देश के परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम के प्रवक्ता बेहरूज कमालवंदी का हवाला देते हुए घटना की पुष्टि की है.


कमलावदी ने कहा कि सौभाग्य से इस घटना में ना तो किसी तरह की जनहानि हुई और ना हीं किसी तरह का प्रदूषण फैला है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज