लाइव टीवी

ईरान ने माना अमेरिका के साथ तनाव कम करना ही एकमात्र समाधान

भाषा
Updated: January 13, 2020, 1:35 PM IST
ईरान ने माना अमेरिका के साथ तनाव कम करना ही एकमात्र समाधान
ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी और कतर के अमीर के बीच हुई बैठक के बाद दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए कि क्षेत्रीय संकट खत्म करने के लिए तनाव कम करना ही एकमात्र समाधान है.

  • Share this:
तेहरान. ईरान (Iran) ने अमेरिका (America) के साथ जारी तनाव को कम करने का संकेत दिया है. गौरतलब है कि पिछले 10 दिनों में दोनों ओर से मिसाइलें दागी गईं और इस दौरान ईरान ने यूक्रेन का एक यात्री विमान दुर्घटनावश गिरा दिया था. इस घटना में 176 यात्री मारे गए थे, जिसके विरोध में ईरान की राजधानी में रविवार को एक जुलूस निकाला गया जिसने हिंसक रूप ले लिया और पुलिस ने इस दौरान वहां मौजूद ब्रिटिश राजदूत को भी अस्थायी तौर पर गिरफ्तार कर लिया था.

इन सबके बीच अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार को ट्वीट किया, ये ईरान के नेताओं के लिए है. अपने यहां के प्रदर्शनकारियों की जान मत लो. अमेरिका के रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने हालांकि कहा कि ट्रंप ईरान के साथ बिना किसी शर्त के नए सिरे से बातचीत करने के इच्छुक हैं. हालांकि तेहरान ने वाशिंगटन द्वारा उस पर लगाए प्रतिबंध हटाने तक बातचीत से लगातार इनकार किया है.



तेहरान ने कहा कि वाशिंगटन द्वारा तीन जनवरी को उसके शीर्ष जनवरी कासिम सुलेमानी की हत्या करने के बावजूद वह उसके साथ तनाव कम करने के पक्ष में है. ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी और कतर के अमीर के बीच हुई बैठक के बाद दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए कि क्षेत्रीय संकट खत्म करने के लिए तनाव कम करना ही एकमात्र समाधान है.अमेरिका का क्षेत्र में सबसे बड़ा सैन्य अड्डा कतर में स्थित है और साथ ही उसके ईरान के साथ भी अच्छे संबंध हैं, जिसके साथ वह दुनिया का सबसे बड़ा गैस क्षेत्र साझा करता है. क़तर के अमीर शेख तमीम बिन हमद अल थानी ने कहा, हम सहमत हुए हैं. कि इस संकट का एकमात्र समाधान सभी पक्षों द्वारा तनाव कम करना और संवाद कायम करना है.

वहीं रूहानी ने कहा, पूरे क्षेत्र की सुरक्षा के लिए हमने और विचार-विमर्श करने और सहयोग स्थापित करने का निर्णय लिया है.

ये भी पढ़ें : ट्रंप ने ईरान को चेताया- अपने प्रदर्शनकारियों को मत मारो, अमेरिका देख रहा है

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 13, 2020, 1:35 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर