कासिम सुलेमानी हजारों अमेरिकियों का हत्‍यारा, उसे कई साल पहले ही मार देना चाहिए था: ट्रंप

कासिम सुलेमानी हजारों अमेरिकियों का हत्‍यारा, उसे कई साल पहले ही मार देना चाहिए था: ट्रंप
8 दिसंबर, 2019 को बैटल क्रीक, मिशिगन की एक रैली में बोलते अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो, REUTERS)

डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने इस मसले पर अमेरिकी झंडे की एक तस्वीर ट्वीट (Tweet) की थी. उसके बाद इस मुद्दे पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए ट्रंप ने कहा, 'जनरल कासिम सुलेमानी (General Qasem Soleimani) ने एक लंबे समय में हजारों अमेरिकियों को मारा और घायल किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 3, 2020, 11:24 PM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने शुक्रवार को कहा है कि ईरानी मिलिट्री कमांडर कासिम सुलेमानी (Qasem Soleimani) जो अमेरिकी हमले (American Strike) में मारा गया है, उसे बहुत पहले ही मार दिया जाना था.

इस मुद्दे पर अपनी पहली प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने लिखा, यह ऑपरेशन शुक्रवार की सुबह बगदाद (Baghdad) के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (International Airport) पर शुरू किया गया था. ट्रंप ने यह भी ट्वीट किया कि सुलेमानी को 'बहुत साल पहले ही मार दिया जाना चाहिए था.'

सुलेमानी ने हजारों अमेरिकियों को मारा और घायल किया था: ट्रंप
ट्रंप ने इस मसले पर अमेरिकी झंडे की एक तस्वीर ट्वीट की थी. उसके बाद इस मुद्दे पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए ट्रंप ने कहा, 'जनरल कासिम सुलेमानी (General Qasem Soleimani) ने एक लंबे समय में हजारों अमेरिकियों को मारा और घायल किया था, और कई और को मारने की योजना बना रहा था... लेकिन दबोच लिया गया! वह प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तरह से लाखों लोगों की हत्या का जिम्मेदार था, जिसमें हाल ही में मारे गए बहुत से लोग भी शामिल हैं...'
ट्रंप ने ट्वीट किया, 'जो प्रदर्शनकारी ईरान में ही मारे गए हैं. हालांकि ईरान (Iran) कभी इस बात को पूरी तरह से स्वीकार नहीं करेगा, सुलेमानी से देश के अंदर ही नफरत और घृणा की जाती थी. वे इतने भी दुखी नहीं हैं, जितने कि नेता बाहरी दुनिया को दिखना की कोशिश कर रहे हैं.'



जिस समय मारा गया सुलेमानी छुट्टियां मना रहे थे ट्रंप
बता दें कि जिस दौरान सुलेमान को मारा गया, राष्ट्रपति ट्रंप फ्लोरिडा (Florida) में छुट्टियां मना रहे थे, उस दौरान उन्होंने एक अमेरिकी झंड़े (American Flag) की फोटो ट्वीट की थी.

घंटों बाद उन्होंने दोबारा ट्वीट किया, "ईरान (Iran) कभी युद्ध नहीं जीता, लेकिन कभी भी बातचीत में नहीं हारा!" परमाणु समझौते के खिलाफ ट्रंप के पूर्ववर्ती बराक ओबामा (Barack Obama) ने तेहरान के साथ बातचीत की थी, यह बात उस पर चुटकी लेते हुए कही गई.

विपक्षी दलों ने जताई घटना से तनाव बढ़ने की आशंका
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी (Republican Party) ने इस कार्रवाई की प्रशंसा की है वहीं विपक्षी दलों (Opposition Parties) ने इस बात की आशंका जतायी है कि इससे क्षेत्रीय तनाव पैदा हो सकता है.

वहीं अमेरिका (America) के पूर्व उपराष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) ने कहा, 'राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आग में घी डालने का काम किया है.'

यह भी पढ़ें: कासिम सुलेमानी की मौत का ऐसे जवाब देगा ईरान, भारत पर भी पड़ेगा असर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज