अलर्ट! जहां रुके हैं राफेल उसी अल धाफ्रा सैन्य ठिकाने के नजदीक ईरान ने दागी मिसाइलें

अलर्ट! जहां रुके हैं राफेल उसी अल धाफ्रा सैन्य ठिकाने के नजदीक ईरान ने दागी मिसाइलें
राफेल के नजदीक ईरान ने दागी मिसाइलें

ईरानी सेना ने अमेरिकी युद्द्पोत (US Aircraft Carrier) की एक डमी को मिसाइल से उड़ाया और फिर संयुक्त अरब अमीरात स्थित फ्रांस के अल धाफ्रा हवाई ठिकाने (Al Dhafra air base) के पास समुद्र में कई मिसाइलें दागीं. ये वही बेस हैं जहां आज भारत पहुंचने वाले 5 राफेल फाइटर जेट (Rafale fighter jet) भी खड़े थे.

  • Share this:
दुबई. अमेरिका (US) और ईरान (Iran) में जारी तनाव मंगलवार को तब और बढ़ गया जब पहले ईरानी सेना ने अमेरिकी युद्द्पोत (US Aircraft Carrier) की एक डमी को मिसाइल से उड़ाया और फिर संयुक्त अरब अमीरात स्थित फ्रांस के अल धाफ्रा हवाई ठिकाने (Al Dhafra air base) के पास समुद्र में कई मिसाइलें दागीं. ये वही बेस हैं जहां आज भारत पहुंचने वाले 5 राफेल फाइटर जेट (Rafale fighter jet) भी खड़े थे. इस ईरानी मिसाइल परीक्षण के बाद पूरे फ्रांसीसी बेस को हाई अलर्ट कर दिया गया और भारतीय पायलट भी पूरी रात अलर्ट पर रहे.

इससे कुछ ही देर पहले ईरान ने एक वीडियो जारी किया था जिसमें समुद्र में अमेरिकी युद्धपोत जैसी दिखने वाली एक डमी को मिसाइल से निशाना बनाया गया था. इस वीडियो को अमेरिकी सेनाओं ने ईरान की चेतावनी की तरह लिया है और फिलहाल मिडिल ईस्ट के सभी रीजनल बेस को हाई अलर्ट पर रहने को कहा है. अमेरिकी सेंट्रल कमांड ने ईरानी मिसाइल टेस्ट की पुष्टि की और बताया कि मंगलवार को ईरान ने स्ट्रेट ऑफ़ हरमुज के पास कई मिसाइलें दागी थीं. मिली जानकारी के मुताबिक दो दिन पहले एक ईरानी पैसेंजर प्लेन को अमेरिकी जेट विमानों ने इराक की एयरस्पेस में घेर लिया था, ईरान की ये प्रतिक्रिया उसी का नतीजा मानी जा रही है. ईरान ने ताकत के प्रदर्शन के लिए ही अमेरिकी और फ्रांसीसी सैन्य ठिकानों के इतना पास मिसाइल परीक्षण किया है.

India, Pakistan, China, Rafael, Ambala Airforce Station, Indian Air Force




राफेल जेट वाले अल धाफ्रा हवाई ठिकाने के पास मिसाइल परीक्षण
ख़बरों के मुताबिक अल धाफ्रा हवाई ठिकाने पर ही भारत के 5 राफेल जेट मौजूद थे और ईरान ने इसी के करीब 3 मिसाइलें दागीं. इसके आलावा ईरान ने कतर के अल उदेइद बेस के पास भी परीक्षण किये. ईरानी मिसाइल परीक्षण के बाद पूरे फ्रांसीसी एयरबेस को हाई अलर्ट पर रखा गया है और भारतीय पायलटों को सुरक्षित स्थान पर भेज दिया गया है. ये 5 राफेल जेट आज भारत पहुंचने वाले हैं और इन्हें अंबाला छावनी में तैनात किया जाएगा. इन्हें भारतीय वायुसेना में इसके 17वें स्क्वैड्रन के हिस्से के रूप में शामिल किया जाएगा, जिसे अंबाला एयर बेस पर 'गोल्डन एरो' के रूप में भी जाना जाता है.

वायुसेना के सूत्रों ने कहा, 'एयरफोर्स चीफ युद्धक विमानों को रिसीव करने के लिए आज अंबाला में होंगे जिन्हें 2016 में 60 हजार करोड़ रुपये के देश के सबसे बड़े रक्षा सौदे के हिस्से के रूप में शामिल किया जा रहा है.' उन्होंने बताया कि अभी पांचों राफेल विमान संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के अल दफ्रा एयरबेस पर खड़े हैं. ये व‍िमान बुधवार को सुबह 11 बजे भारत के लिए उड़ान भरने वाले हैं और ईरान के मिसाइल हमले के बावजूद भी इसमें फ़िलहाल देरी की आशंका नहीं जताई गई है. राफेल को उड़ाकर लाने वाले पायलट्स अपने ग्रुप कैप्टन हरकीरत सिंह की अगुवाई में अंबाला में ही एयर चीफ को बताएंगे कि उन्हें फ्रांस में किस प्रकार की ट्रेनिंग मिली है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading