लाइव टीवी

मिसाइल हमले से इराक नाराज़, ईरानी PM ने कहा- पीछे हटने का सवाल नहीं

News18Hindi
Updated: January 8, 2020, 9:12 PM IST
मिसाइल हमले से इराक नाराज़, ईरानी PM ने कहा- पीछे हटने का सवाल नहीं
इराकी राष्ट्रपति बरहम सालेह ने ईरान के मिसाइल हमले की निंदा की है.

इराक (Iraq) में यूनाइटेड नेशन्स मिशन (United Nations Mission) ने कहा कि इराक किसी का भी हर्जाना भरने के लिए नहीं है ऐसे में ईरान (Iran) और अमेरिका (America) के बीच चल रही तनातनी का अंजाम इराक नहीं भुगतेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2020, 9:12 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. इराक (Iraq) स्थित अमेरिकी सैनिक ठिकानों पर ईरानी सेना (Iran Army) के हमले के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बना हुआ है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) कुछ ही देर में देश को संबोधित करने वाले हैं. उधर इराकी राष्ट्रपति बरहम सालेह ने ईरान के मिसाइल हमले की निंदा की है. सालेह ने कहा कि इराक की धरती पर मौजूद अमेरिकी और अन्य विदेशी सेनाओं पर किया गया ईरानी हमला 'खतरनाक' है.

राष्ट्रपति सालेह की तरफ से जारी बयान में कहा गया है- हम इराक की धरती पर ईरानी मिसाइल हमले की निंदा करते हैं, ये इराकी इलाके की संप्रभुता का उल्लंघन है, हम दोनों ही पक्षों के इराक को युद्धक्षेत्र में परिवर्तित करने की भी निंदा करते हैं.

इराक ने कहा- हम नहीं भुगतेंगे परिणाम
वहीं इराक में यूनाइटेड नेशन्स मिशन ने कहा कि इराक किसी का भी हर्जाना भरने के लिए नहीं है ऐसे में ईरान और अमेरिका के बीच चल रही तनातनी का अंजाम इराक नहीं भुगतेगा. यूएन मिशन ने एक बयान में कहा कि हाल ही में हुई एयरस्ट्राइक्स इराक की संप्रभुता को तोड़ती हैं, उन्होंने कहा हम तत्काल इस पर रोक लगाने और संवाद की बहाली की मांग करते हैं. इराक बाहरी दुश्मनी के परिणाम नहीं भुगतेगा.

खाड़ी इलाकों में नजर बनाए है भारत
वहीं भारत की नौसेना इस पूरे मामले पर नज़र बनाए हुए है. भारतीय नौसेना खाड़ी क्षेत्र में हालातों पर नजर रखे हुए है और नौसेना के अधिकारियों का कहना है कि भारत के समुद्री के जरिए होने वाले व्यापार की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उपस्थिति बनाए हुए है.

ब्रिटेन ने की ईरान की निंदावहीं ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने इराक में अमेरिका के नेतृत्व वाली गठबंधन सेना के वायुसेना अड्डों पर ईरान के बैलिस्टिक मिसाइल के इस्तेमाल की बुधवार को निंदा की और पश्चिम एशिया में ‘‘तुरंत युद्धविराम’’ का आह्वान किया.

ब्रिटेन के हाउस ऑफ कॉमंस को संबोधित करते हुए उन्होंने ईरान को आगे ‘‘ऐसे बेवकूफाना और खतरनाक’’ हमलों से बचने की चेतावनी दी. उन्होंने इस बात की पुष्टि की कि गैर-जरूरी ब्रिटिश कर्मियों को क्षेत्र से हटा लिया गया है.

ब्रिटेन ने बताया बेवकूफाना हरकत
क्रिसमस की छुट्टी से वापस लौटने के बाद अपने पहले प्रधानमंत्री प्रश्न (पीएमक्यू) सत्र के दौरान जॉनसन ने कहा, ‘‘गठबंधन सेना की मौजूदगी वाले इराकी सैन्य अड्डों पर हमले की हम लोग जाहिर तौर पर निंदा करते हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ईरान को ऐसे बेवकूफाना और खतरनाक हमलों को नहीं दोहराना चाहिए बल्कि इसके बजाय निश्चित रूप से उसे तुरंत युद्धविराम करना चाहिए.’’

ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड ने कहा कि रात के हमले जनरल कासिम सुलेमानी की मौत का बदला हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड के निर्देश पर शुक्रवार को बगदाद हवाईअड्डे के बाहर मिसाइल हमले में उनकी मौत हो गई थी.

ये भी पढ़ें-
खामनेई ने हमले को बताया US के लिए 'तमाचा', ईरानी सेना बोली- और बड़ा हमला करेंगे

ईरान बोला-हमले में 80 अमेरिकियों की मौत, 100 ठिकानों पर हमारी नजर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 8, 2020, 9:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर