अपना शहर चुनें

States

इराक के अमेरिकी दूतावास पर रॉकेट हमले, ट्रंप प्रशासन ने इस संगठन को दोषी ठहराया

इराक स्थित अमेरिकी दूतावास पर तीन रॉकेट दागे गए. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
इराक स्थित अमेरिकी दूतावास पर तीन रॉकेट दागे गए. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Rocket Attack on American Embassy: इराक (Iraq) की राजधानी बगदाद में रविवार की शाम को ग्रीन जोन में स्थित अमेरिकी दूतावास (American Embassy) में कम से कम तीन रॉकेट हमले (Three Rocket Attack) किए गए. सरकार ने एक बयान में इस हमले के लिए एक आपराधिक समूह को दोषी ठहराते हुए कहा कि ये रॉकेट बगदाद के शिया बहुल पूर्वी हिस्से में अल रशीद कैम्प से दागे गए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 21, 2020, 2:28 PM IST
  • Share this:
बगदाद. इराक (Iraq) की राजधानी बगदाद में रविवार की शाम को ग्रीन जोन में स्थित अमेरिकी दूतावास (American Embassy) में कम से कम तीन रॉकेट हमले (Three Rocket Attack) किए गए. सरकार ने एक बयान में इस हमले के लिए एक आपराधिक समूह को दोषी ठहराते हुए कहा कि ये रॉकेट बगदाद के शिया बहुल पूर्वी हिस्से में अल रशीद कैम्प से दागे गए थे. फिलहाल अभी किसी भी ग्रुप ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है. यह रॉकेट एक आवासीय परिसर के अंदर गिरे जिससे वहां कई इमारतों और कारों को नुकसान पहुंचा. हालांकि किसी नागरिक को चोट पहुँचने या किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है. पिछले साल भी अमेरिकी दूतावास पर रॉकेट से कई बार हमले किये गए थे. गौरतलब है कि ग्रीन ज़ोन प्रमुख सरकारी कार्यालयों और पश्चिमी डिप्लोमेटिक मिशन का गढ़ है.

रॉकेट हमलों के लिए ईरान समर्थित सैन्य संगठन जिम्मेदार

ट्रंप प्रशासन को लगातार हो रहे रॉकेट हमलों ने निराश किया है और वह इन हमलों के लिए ईरान समर्थित एक सैन्य संगठनों को दोषी ठहरा रहा है. सितंबर 2020 में अमेरिका ने चेतावनी दी थी कि अगर इराकी सरकार इन रॉकेट हमलों को रोकने के लिए अगर निर्णायक कार्रवाई करने में विफल रही तो वह बगदाद में अपने दूतावास को बंद कर देगा. नवंबर 2020 में अमेरिका ने इराक से अपने सैनिकों को वापस लाने की घोषणा की तो ईरान के सहयोगी शिया संगठन ने सीजफायर संघर्ष विराम की घोषणा की ताकि अमेरिकी सैनिकों के वापस जाने की प्रक्रिया आसानी से पूरी हो सके.



धार्मिक नेताओं ने भी की इस हमले की निंदा
शिया नेता मुक़्तदा अल सद्र ने हमले की निंदा करते हुए कहा कि इन आतंकवादी संगठनों पर नागरिकों की जान खतरे में डालने का आरोप लगाया. अल सद्र ने सरकार से बगदाद में आपातकाल की स्थिति घोषित करने और नागरिकों और राजनयिक मिशनों की रक्षा करने का आह्वान किया है.



रॉकेट को बीच हवा में ही नष्ट कर दिया गया

अमेरिकी दूतावास की C-RAM रक्षा प्रणाली का इस्तेमाल कर रॉकेटों को बीच हवा में ही नष्ट कर दिया गया. तीन इराकी सुरक्षा अधिकारियों ने एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि इससे संपत्ति और खड़ी कारों को तो नुकसान हुआ लेकिन किसी व्यक्ति को चोट पहुँचने या मरने की अभी पुष्टि नहीं हुई है.

ये भी पढ़ें: जर्मनी और फिनलैंड ने IS लड़ाकों की पत्नियों और बच्चों की घर वापसी कराई

जापान ने बढ़ाया सैन्य बजट, चीन से मुकाबले के लिए फाइटर प्लेन बनाने की तैयारी

पिछले महीने, बगदाद के शिया बहुल पूर्व की ओर से सात रॉकेटों में से चार रॉकेट ग्रीन ज़ोन से टकराए थे. एक सरकारी बयान के अनुसार इस हमले में एक बच्चे की मौत हो गई थी और पांच नागरिक घायल हो गए थे. इस हमले की जिम्मेदारी अश्ब अल कहफ नाम के एक सैन्य संगठन ने ली थी. दहशत फैलाने वाले अन्य संगठनों ने इस घटना से किनारा कर लिया है और इस हादसे की जिम्मेदारी अन्य संगठनों पर डालने की कोशिश कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज