बगदाद : IS के हमले में 6 ईरानी सुरक्षाकर्मियों सहित तीन नागरिकों की मौत

फोटो सौ. (Reuters)
फोटो सौ. (Reuters)

इराक में शनिवार को हुए इस्लामिक स्टेट (IS) के हमले में छह इराकी सुरक्षाकर्मियों और तीन नागरिकों की मौत (Death) हो गई. हमले में हमलावरों के बीच से किसी के हताहत होने की फिलहाल कोई खबर नहीं थी, लेकिन जिदान एजेंसी को बताया कि मारे गए लोगों के बीच, मुख्य रूप से शिया बल के जवान सुन्नी आदिवासी थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 22, 2020, 6:39 PM IST
  • Share this:
बगदाद. इराक में इस्लामिक स्टेट (IS) द्वारा दोबारा हमले की खबर सामने आई है. पुलिस और एक स्थानीय अधिकारी ने कहा कि इस्लामिक स्टेट ग्रुप द्वारा शनिवार को किए गए एक हमले में छह इराकी सुरक्षाकर्मियों और तीन नागरिकों की मौत (Death) हो गई. एक पुलिसिया सूत्र ने बताया कि सड़क के किनारे पड़े विस्फोटक से एक कार की टक्कर हो गई और इसके बाद राजधानी से लगभग 200 किलोमीटर (120 मील) की दूर स्थित घटनास्थल पर पहुंचे पुलिसकर्मियों और अर्धसैनिक बलों की बचाव टीम जिहादियों ने गोलियां बसरा दीं. समाचार एजेंसी एएफपी को तिकरित शहर से 50 किलोमीटर दूर जोया के मेयर मोहम्मद जिदान ने बताया कि इस हमले में तीन नागरिकों सहित, हशेद अल-शाबी के चार सदस्यों और दो पुलिसकर्मियों की मौत हो गई.

हमले में हमलावरों के बीच से किसी के हताहत होने की फिलहाल कोई खबर नहीं थी, लेकिन जिदान एजेंसी को बताया कि मारे गए लोगों के बीच, मुख्य रूप से शिया बल के जवान सुन्नी आदिवासी थे. लेकिन मेयर और पुलिस का कहना है कि हमला इस्लामिक स्टेट (IS) के जिहादियों का काम था, हालांकि उनकी तरफ से अभी ऐसे किसी भी हमले की जिम्मेदारी नहीं ली गई है. इससे पहले राजधानी के बाहरी इलाके में बगदाद हवाई अड्डे के पास अल-राडवानिया में एक लुकआउट पोस्ट पर आईएस के हमले में 8 नवंबर को ग्यारह लोग मारे गए थे. आईएस 2014 में इराक के एक तिहाई हिस्से में फैल गया था, यह उत्तर और पश्चिम के प्रमुख शहरों को कब्जे में करके राजधानी के उपनगरों तक पहुंच गया था. इसके बाद अमेरिका के नेतृत्व वाले सैन्य गठबंधन द्वारा समर्थित तीन साल की भयंकर लड़ाई के बाद, इराक ने 2017 के अंत में आईएस को हरा दिया.

सेनाओं का योगदान
इस साल इस सैन्य गठबंधन ने अपने सैनिकों को काफी नीचे खींच लिया है. इस बीच आईएस के स्लीपर सेल्स ने सुरक्षा बलों और राज्य के बुनियादी ढांचे पर, विशेष रूप से रेगिस्तानी इलाकों में, जहां सेना थोड़ी कम है, उन जगहों पर हिट-एंड-रन हमलों को लगातार जारी रखा है. हालांकि राजधानी के करीब ऐसे हमले कम हुए हैं. अभी सबसे नया हमला तब हुआ जब संयुक्त राज्य अमेरिका ने यह घोषणा की कि वह 2,500 सैनिकों की तैनाती को कम करेगा और 500 सैनिक वापस ले लेगा. कोरोनोवायरस महामारी की चपेट में आने के बाद सैन्य गठबंधन में अधिकांश अन्य देशों की सेनाओं ने योगदान दिया है.
ये भी पढ़ें: काबुल में एक के बाद एक जोरदार धमाके, 5 की मौत 21 लोग घायल



सेनाओं के साथ साझेदारी
हालांकि, इराकी सरकार ने स्पष्ट रूप से संकेत दिया है कि वह संयुक्त राज्य अमेरिका और गठबंधन सेनाओं के साथ अपनी साझेदारी को बनाए रखना चाहती है. यूएस मिडिल ईस्ट कमांडर ने गुरुवार को कहा कि वह आईएसआईएस के खिलाफ लड़ाई खत्म करना जारी रखना चाहते हैं. जनरल केनेथ मैकेंजी ने अनुमान लगाया कि आईएस के पास अभी भी इराक-सीरिया क्षेत्र में 10,000 समर्थकों का एक संगठन है और यह एक गंभीर खतरा बना हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज