सीरिया के बाद अफ्रीका पहुंचे ISIS आतंकी, महिलाओं को बना रहे सेक्स स्लेव

कॉन्सेप्ट इमेज.
कॉन्सेप्ट इमेज.

आईएसआईएस (ISIS) के आतंकवादियों (Terrorist) ने मोजाम्बिक में अबतक 1500 से ज्यादा लोगों की हत्याएं की है. उनकी इसी कारस्तानी के कारण 2017 से लेकर अब तक इस देश में लगभग एक लाख लोग विस्थापित भी हो चुके हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 4, 2020, 9:41 PM IST
  • Share this:
मैपुटो. सीरिया (Syria) से मारकर भगाए जाने के बाद वैश्विक आतंकी संगठन आईएसआईएस (ISIS) के लड़ाके अब अफ्रीका पहुंच गए हैं. उन्होंने अफ्रीकी देश मोजाम्बिक के एक शहर को अपनी नई राजधानी घोषित किया है. वे यहां अपनी आय बढ़ाने के लिए कच्चे तेल के भंडारों पर कब्जा जमा रहे हैं. आईएसआईएस के इस देश में आने के बाद महिलाओं के अपहरण की वारदातों में भी अप्रत्याशित बढ़ोत्तरी देखी गई है. कहा जा रहा है कि आईएस के लड़ाके महिलाओं का अपहरण कर उन्हें सेक्स स्लेव बना रहे हैं. सीरिया में भी इन आतंकियों ने यदीजी समुदाय की कई महिलाओं को सेक्स स्लेव बनाया हुआ था.

आईएसआईएस के आतंकवादियों ने मोजाम्बिक में अबतक 1500 से ज्यादा लोगों की हत्याएं की है. उनकी इसी कारस्तानी के कारण 2017 से लेकर अबतक इस देश में लगभग एक लाख लोग विस्थापित भी हो चुके हैं. इसी साल अगस्त में आतंकवादियों ने काबो डेलगाडो प्रांत के मोसिम्बोआ दा प्राइआ के बंदरगाह शहर पर कब्जा कर लिया था. इन आतंकियों ने स्थानीय लोगों से कहा है कि यह शहर उनकी अगली राजधानी बनेगी.

ये भी पढ़ें: CoronaVirus: किन चार कारणों से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप हैं हाई रिस्क पर ?



गोला-बारूद की तस्करी
यह क्षेत्र कच्चे तेल से समृद्ध है. यहां घने जंगलों की मौजूदगी के कारण आतंकियों के लिए हथियारों और गोला-बारूद की तस्करी करना आसान है. इस क्षेत्र में सेना की मौजूगदी अब लगभग न के बराबर है. जिन जगहों पर सेना मौजूद है उसे भी आतंकी संगठन खदेड़ने में लगा हुआ है. स्थानीय लोग इन आतंकी समूह को माचाबोस या अल शबाब के नाम से जानते हैं. लेकिन, आईएसआईएस से संबद्ध समूह खुद को अल-सुन्नह वा जमाअ कहता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज