इजरायल चुनाव में किंगमेकर बनी इस्लामिक पार्टी, 'राम' नाम ने किया हैरान

इजरायल  के चुनाव में बेंजामिन नेतन्याहू को बहुमत हासिल करने के लिए 61 सीटों की जरूरत होगी.

इजरायल के चुनाव में बेंजामिन नेतन्याहू को बहुमत हासिल करने के लिए 61 सीटों की जरूरत होगी.

इजरायल (Israel) की संसद में कुल 120 सीटें हैं. नेतन्याहू की पार्टी लिकुड और उसके सहयोगी दलों को 59 सीटें मिलती हुई दिख रही हैं. इस चुनाव में बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) को बहुमत हासिल करने के लिए 61 सीटों की जरूरत होगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2021, 10:23 AM IST
  • Share this:
तेल अवीव. इजरायल के चुनाव (Israeli Elections) से पहले जिस बात की संभावना जताई गई थी वैसा ही परिणाम भी सामने आया. चुनाव (Elections) में कांटे की टक्‍कर के बीच राम नाम की एक इस्‍लामिक पार्टी (Islamic Party) किंगमेकर बनकर उभरी है. बता दें कि इजरायल की संसद में कुल 120 सीटें हैं. गुरुवार सुबह तक 90 प्रतिशत वोटों की गिनती हो चुकी है और नेतन्याहू की पार्टी लिकुड और उसके सहयोगी दलों को 59 सीटें मिलती हुई दिख रही हैं. इस चुनाव में बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) को बहुमत हासिल करने के लिए 61 सीटों की जरूरत होगी. बता दें कि यूनाइटेड अरब लिस्ट को हिब्रू में राम कहा जाता है.

इस बार के चुनाव में प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के गठबंधन और विरोध पार्टी के बीच कांटे की टक्‍कर देखने को मिल रही है. नेतन्‍याहू की पार्टी को जहां 59 सीट मिलती दिखाई दे रही है तो वहीं विरोध पार्टी को 56 सीटें मिलती दिख रहीं हैं. ऐसे में इजरायल की राम पार्टी पर दोनों बड़ी पार्टियों की नजर है. कहा जा रहा है कि चुनाव में राम पार्टी को कम से कम 5 सीटें मिल सकती हैं. ऐसे में अगर राम पार्टी नेतन्याहू की पार्टी लिकुड को समर्थन देती है तो प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू एक बार फिर सत्‍ता में वापसी कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें :- इजराइल चुनाव में नेतन्याहू ने ‘बड़ी जीत’ का किया दावा, बहुमत पर संशय बरकरार

प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की राह इतनी भी आसान नहीं

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज