ट्रंप की नसीहत पर इजरायल ने अमेरिका की दो महिला सांसदों की एंट्री पर लगाई रोक

अमेरिकी (America) सांसद राशिदा तलैब और इलहान उमर इजरायल (Israel) में फिलिस्तीन के नेतृत्व वाले आंदोलन का समर्थन करने जाने वाली हैं. दोनों महिला सांसद इजरायल के खिलाफ बॉयकॉट ऐक्टिविटीज को बढ़ावा देने का काम कर रही थीं.

News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 9:29 AM IST
ट्रंप की नसीहत पर इजरायल ने अमेरिका की दो महिला सांसदों की एंट्री पर लगाई रोक
अमेरिकी सांसद राशिदा तलैब और इलहान उमर के इजरायल में प्रवेश पर लगी रोक.
News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 9:29 AM IST
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की नसीहत पर अमल करते हुए इजरायल (Israel) ने अमेरिका (America) की दो महिला सांसदों के देश में प्रवेश करने पर रोक लगा दी है. इजरायल ने यह फैसला महिला सांसदों की उस यात्रा से पहले लिया है, जिसमें ये दोनों फिलिस्तीन के नेतृत्व वाले आंदोलन का समर्थन करने के लिए जाने वाली हैं. इस मामले पर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा था कि इन्हें एंट्री देना बड़ी कमजोरी होगा. दोनों महिलाएं डेमोक्रेट पार्टी की सांसद हैं, जबकि राष्ट्रपति ट्रंप रिपब्लिकन पार्टी से ताल्लुक रखते हैं.

इजरायल के इस कदम के बाद कई नेताओं ने महिला सांसदों के प्रवेश पर रोक लगाए जाने की निंदा की है. उन्होंने कहा कि मिशिगन की सांसद राशिदा तलैब और मिन्नेसोटा की इलहान उमर को बैन करना अप्रत्याशित कदम है.



इजरायल के गृह मंत्री अरेयेह डेरी ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि पीएम बेंजामिन नेतन्याहू और अन्य सीनियर अधिकारियों के बीच बातचीत के बाद ये कदम उठाया गया है. गृह मंत्री ने कहा कि दोनों महिला सांसद इजरायल के खिलाफ बॉयकॉट ऐक्टिविटीज को बढ़ावा देने का काम कर रही थीं, जिसे देखते हुए उनपर इस तरह का बैन लगाया गया है.
Loading...

America, Israel, Donald Trump, Benjamin Netanyahu
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू के साथ.


गौरतलब हे कि दोनों नव-निर्वाचित मुस्लिम महिला सांसद पहले भी इजरायल के फिलिस्तीन के प्रति रुख की आलोचना करती रही है. वेस्ट बैंक से ही तलैब की फैमिली यूएस में जाकर बसी थी. महिला सांसदों के फिलिस्तीन के नेतृत्व वाले आंदोलन का समर्थन करने की खबर लगने के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा था कि अगर इन दोनों सांसदों को इजरायल में प्रवेश की अनुमति दे गई तो यह इजरायल की बड़ी कमजोरी दिखाएगा. उन्होंने कहा कि वह इजरायल के सभी यहूदी लोगों से नफरत करते हैं. उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ भी नहीं किया जा सकता, जिससे उनके दिमाग को बदला जा सके.
First published: August 16, 2019, 8:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...