इजरायल ने फिलिस्‍तीन में गिराई 6 मंजिला इमारत, गजा के हमले में थाईलैंड के 2 मजदूरों की मौत

इजरायली सेना लगातार कर रही है एयरस्‍ट्राइक. (Pic- AP)

इजरायली सेना लगातार कर रही है एयरस्‍ट्राइक. (Pic- AP)

Israel Palestine: पिछले हफ्ते शुरू हुई जंग में अब तक इजरायली सेना के मुताबिक उसने सैकड़ों एयरस्‍ट्राइक करके हमास के चरमपंथियों को निशाना बनाया है.

  • Share this:

गजा सिटी. इजरायल (Israel) और हमास चरमपंथियों (Hamas) के बीच हमलों का सिलसिला लगातार जारी है. मंगलवार को गजा (Gaza) की ओर से किए गए हमले में दक्षिणी इजरायल के एक पैकेजिंग प्‍लांट में का करने वाले थाईलैंड के दो मजदूरों की मौत हो गई. यह हमला इजरायल की ओर से फिलिस्‍तीन पर किए गए हमले के कुछ घंटों के बाद हुआ. इजरायल ने फिलिस्‍तीन पर एयरस्‍ट्राइक करके 6 मंजिला इमारत गिरा दी. मंगलवार को इजरायल और हमास चरमपंथियों के बीच हमले दिनभर जारी रहे.

पिछले हफ्ते शुरू हुई जंग में अब तक इजरायली सेना के मुताबिक उसने सैकड़ों एयरस्‍ट्राइक करके हमास के चरमपंथियों को निशाना बनाया है. वहीं फिलिस्‍तीन की ओर से अब तक 3400 रॉकेट गजा के रिहायशी इलाकों से इजरायल पर दागे जा चुके हैं.

इजरायल की मैगन डेविड एडम बचाव सेवा ने कहा कि उसने दक्षिणी इजरायल में मंगलवार दोपहर बाद हमले के बाद सात अन्य घायलों को अस्पताल पहुंचाया. इस बीच इजरायल व उसके कब्जे वाले क्षेत्रों में फिलिस्तीनी लोग मंगलवार को हड़ताल पर चले गए. उन्होंने इजरायल की नीतियों के खिलाफ सामूहिक कार्रवाई के रूप में यह कदम उठाया है.

गजा में जंग रुकने के कोई आसार नजर नहीं आने और संघर्ष-विराम के प्रयास एक तरह से अवरुद्ध होने के बीच आम हड़ताल तथा संभावित प्रदर्शनों से संघर्ष और बढ़ सकता है. इजरायल ने मंगलवार को गाजा में चरमपंथियों पर कई हवाई हमले किए और छह मंजिला इमारत को गिरा दिया, वहीं चरमपंथियों ने इजरायल में बड़ी संख्या में रॉकेट दागे.
दोनों के बीच संघर्ष को एक सप्ताह से अधिक हो गया है और जंग रुकने के कोई संकेत नहीं दिख रहे. गजा सिटी तड़के हवाई हमलों से दहल गई. इस हमले में एक इमारत को गिरा दिया गया जिसमें इस्लामिक यूनिवर्सिटी से संबंधित पुस्तकालय और शिक्षण केंद्र हैं. इमारत के गिरने के बाद ऊपर से देखने पर वहां कंक्रीट के स्लैब और पत्थरों के मलबे का पहाड़ जैसा ढेर लग गया था. लोगों को मलबे में से सामान खोजते हुए देखा गया.

इजरायल ने कहा कि उसने इमारत के निवासियों को पहले ही चेतावनी दे दी थी और किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है. इजरायल ने कहा कि वह चरमपंथियों, उनकी सुरंगों और रॉकेट लांचरों पर निशाना साध रहा है.




इजरायल और गजा के हमास चरमपंथियों के बीच तब भारी संघर्ष शुरू हो गया जब हमास ने 10 मई को फिलिस्तीनी प्रदर्शनों के समर्थन में यरूशलम पर रॉकेट दागे थे. अल-अक्सा मस्जिद परिसर में सुरक्षा बलों की सख्ती तथा यहूदियों द्वारा दर्जनों फलस्तीनी परिवारों को वहां से निकाले जाने की कोशिशों के खिलाफ ये प्रदर्शन किए जा रहे थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज