इटली में नए साल पर आतिशबाजी के चलते सैंकड़ों पक्षियों की हुई मौत

इटली में नए साल पर हुई आतिशबाजी के चलते पक्षियों की मौत हो गई.

Birds Died Due to Fire Crackers: इटली (Italy) की राजधानी में नया साल आने की ख़ुशी में रात को हुई आतिशबाजी (Fire Crackers) के कारण सैंकड़ों पक्षी मारे (Birds Died) गए. पशु अधिकार समूहों ने शुक्रवार को इसे "नरसंहार" कहा है. रोम के मुख्य ट्रेन स्टेशन के फुटेज में दर्जनों पक्षी जमीन पर बेजान पड़े दिखाई दे रहे हैं.

  • Share this:
    रोम. मानव प्रकृति के साथ लगातार खिलवाड़ कर रहा है. वर्ष 2020 में कोरोना ने मानव इतिहास को पूरी तरह से तहस नहस कर दिया. इसके बावजूद इंसान ने कोई सबक नहीं लिया. वह अभी भी विनाशलीला में जुटा हुआ है. नए साल की पूर्व संध्या पर इसका उदाहरण देखने को मिला. इटली (Italy) की राजधानी में नया साल आने की ख़ुशी में रात को हुई आतिशबाजी (Fire Crackers) के कारण सैंकड़ों पक्षी मारे (Birds Died) गए. पशु अधिकार समूहों ने शुक्रवार को इसे "नरसंहार" कहा है.

    ट्रेन स्टेशन पर दर्जनों पक्षी बेजान पड़े मिले

    रोम के मुख्य ट्रेन स्टेशन के फुटेज में दर्जनों पक्षी जमीन पर बेजान पड़े दिखाई दे रहे हैं. इन पक्षियों की मौत का कारण साफ़ नहीं है लेकिन इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन फॉर द प्रोटेक्शन ऑफ एनिमल्स (OIPA) ने कहा कि ऐसा लगता है कि पटाखे चलाने के कारण आसपास पड़ोस के घने पेड़ों पर बने हजारों घोंसलों में रहने वाले पक्षियों की मृत्यु हुई है. ऐसा लगता है कि वे डर से मर गए हैं.



    इलेक्ट्रिक पावर लाइन से टकरा कर मारे जाने की आशंका

    यह माना जा रहा है कि वे डरकर एक साथ उड़ें हों और एक दूसरे से टकराकर किसी खिड़की से टकरा कर मर गए हों या किसी इलेक्ट्रिक पावर लाइन से टकराकर मरे हों. संगठन के एक प्रवक्ता लोर्डाना डिग्लियो ने कहा कि हमें यह भी नहीं भूलना चाहिए कि ये पक्षी दिल के दौरे से भी मर सकते हैं. उन्होंने कहा कि इस तरह की आतिशबाजी हर साल जंगली और घरेलू दोनों तरह के जानवरों के संकट और चोट का कारण बनती है.

    ये भी पढ़ें:  पाकिस्तान पीएम इमरान खान के ड्राइवर ने सऊदी अरब की अमीर महिला व्यापारी से रचाई शादी?


    सऊदी अरब की महिला अधिकार कार्यकर्ता को करीब छह साल जेल की सजा सुनाई गई

    रोम में निजी तौर पर आतिशबाजी करने पर लगे प्रतिबंध के बावजूद वहां आतिशबाजी होती है इसके साथ ही कोरोना वायरस के कारण रात 10 बजे कर्फ्यू लगने जैसे प्रतिबंधों की उपेक्षा कर आतिशबाजी करते रहे. इसका परिणाम परिंदों की मौत के रूप में सामने आया. ओआईपीए की इटैलियन शाखा ने जानवरों के लिए खतरे का हवाला देते हुए पटाखों के निजी इस्तेमाल के लिए बेचने खरीदने पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.