US पुलिसिया हिंसा: अश्वेत जैकब ब्लेक के आधे शरीर ने काम करना बंद किया, स्टेट इमरजेंसी लागू

US पुलिसिया हिंसा: अश्वेत जैकब ब्लेक के आधे शरीर ने काम करना बंद किया, स्टेट इमरजेंसी लागू
अश्वेत जैकब ब्लेक के आधे शरीर ने काम करना बंद किया

Justice for Jacob Blake: अमेरिकी अश्वेत नागरिक जैकब ब्लेक (Jacob Blake) को पुलिस अधिकारियों द्वारा 7 गोलियां मारने का मुद्दा अब गरमाता नज़र आ रहा है. जैकब के आधे शरीर ने कम करना बंद कर दिया है जिसके बाद विस्कॉन्सिन (wisconsin protest) में हिंसा भड़क गयी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 26, 2020, 7:28 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका (US) में विस्कॉन्सिन (Wisconsin) में पुलिस हिंसा के शिकार हुए अश्वेत शख्स जैकब ब्लेक (Jacob Blake) के आधे शरीर ने काम करना बंद कर दिया है. जैकब को पुलिस ने उसके बच्चों के सामने ही पीछे से 7 गोलियां मारी थीं, जिसके बाद उसका अस्पताल में इलाज चल रहा है. जैकब के डॉक्टर ने मंगलवार को बताया की कमर से नीचे उसके आधे शरीर ने काम करना बंद कर दिया है और हो सकता है आगे की जिंदगी उसे ऐसे ही बितानी पड़े. उधर प्रदर्शन बढ़ते देख गवर्नर टोनी एवर्स ने स्टेट इमरजेंसी का ऐलान कर दिया है.

जैकब के वकील बेंजामिन क्रंप ने बताया कि उनके आधे शरीर को लकवा मार गया है और अब उनके परिवार वाले किसी 'चमत्कार' की उम्मीद कर रहे हैं. 29 वर्षीय जैकब की मंगलवार को सर्जरी की गयी थी जिसके बाद डॉक्टर्स ने साफ़ कर दिया की वे शायद अब कभी चल नहीं पाएंगे. वकील ने बताया की वीडियो में स्पष्ट है की जैकब के पास बन्दूक नहीं थी और न ही उसने पुलिसवालों के साथ मारपीट की कोशिश की थी. इसके उलट जब जैकब को गोली मारी गयी तो उसके 3, 5 और 8 साल के बच्चे वहीं मौजूद पूरी घटना को देख रहे थे. ब्लैक के पिता ने भी मंगलवार को मीडिया के सामने आकर कहा की ये पुलिस की कार्रवाई नहीं है, ये दिनदहाड़े मर्डर किया गया है. उन्होंने कहा की मेरे बेटे को 7 गोलियां मारी गयीं, वे लोग उसे जिंदा देखना ही नहीं चाहते थे. बता दें की जैकब को हाथ, किडनी, लिवर, रीढ़ की हड्डी में गोलियां लगी हैं और इसी के चलते वे अब कभी चल नहीं पाएंगे.


विस्कॉन्सिन में प्रदर्शन जारीविस्कॉन्सिन में लगातार तीसरे दिन हिंसक विरोध प्रदर्शन जारी है. प्रदर्शनकारियों ने कई कारों को आग के हवाले कर दिया, वहीं सरकारी बिल्डिंग्स में तोड़फोड़ भी की. प्रदर्शनकारियों पर काबू पाने के लिए राज्य के गवर्नर टोनी एवर्स ने स्टेट इमरजेंसी का ऐलान करते हुए नेशनल गार्ड को बुला लिया है. इससे पहले मई में मिनिएसोटा में अश्वेक जॉर्ज फ्लायड की हत्या के बाद भी पूरे अमेरिका में विरोध प्रदर्शन हुए थे. उस समय भी पुलिस के ऊपर बर्बरता के आरोप लगाए गए थे.





वीडियो में दिखी पूरी घटना

गोलीबारी की यह घटना रविवार शाम करीब पांच बजे हुई, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. इस वीडियो क्लिप को सड़क के दूसरी तरफ से बनाया गया है और इसमें एक अश्वेत जैकब ब्लेक फुटपाथ पर चलते हुए अपनी गाड़ी के सामने की तरफ आता है और ड्राइवर के तरफ वाला दरवाजा खोलता है तभी उसकी तरफ बंदूक ताने उसके पीछे आ रहा अधिकारी उस पर चिल्लाता है. जैसे ही व्यक्ति चालक की तरफ वाला दरवाजा खोलकर अंदर झुकता है, एक अधिकारी पीछे से उसकी शर्ट पकड़कर पीछे खींचता है और गाड़ी पर गोलियां चलाना शुरू कर देता है. इस दौरान पुलिसवाले मिलकर पीछे से उसे 7 गोलियां मारते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज