होम /न्यूज /दुनिया /

लिखित समझौतों की अनदेखी कर रहा चीन, इसी से सीमा पर हालात बिगड़े- क्वाड में बोले विदेश मंत्री जयशंकर

लिखित समझौतों की अनदेखी कर रहा चीन, इसी से सीमा पर हालात बिगड़े- क्वाड में बोले विदेश मंत्री जयशंकर

ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री मारिस पायने और विदेश मंत्री एस. जयशंकर (फोटो-ट्विटर)

ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री मारिस पायने और विदेश मंत्री एस. जयशंकर (फोटो-ट्विटर)

S Jaishankar on Quad Summit: क्वाड मीट के बाद ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री मारिस पायने (Marise Payne) के साथ एक प्रेस कांफ्रेंस में विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा कि चीन लिखित समझौतों का सम्मान नहीं कर रहा है. इसके कारण सीमा पर हालात बिगड़े हैं. विदेश मंत्री एस. जयशंकर (S Jaishankar) क्वाड (Quad) विदेश मंत्रियों की चौथी बैठक के लिए ऑस्ट्रेलिया में हैं.

अधिक पढ़ें ...

मेलबर्न. विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने शनिवार को कहा कि क्वाड (Quad) ने पड़ोसी देशों की घटनाओं पर एक ब्रीफिंग के दौरान भारत-चीन संबंधों पर भी चर्चा की. ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री मारिस पायने के साथ एक संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए एस. जयशंकर ने कहा कि बहुत सारे देश भारत-चीन संबंधों में रुचि लेते हैं. खासकर अगर ये देश हिंद-प्रशांत इलाके के हैं तो ये पूरी तरह से जायज है. जयशंकर ने कहा कि क्वाड में भारत-चीन संबंधों पर चर्चा की गई. ये इस बातचीत का हिस्सा थी कि हमारे अपने पड़ोस में क्या हो रहा है. इस बारे में एक-दूसरे को जानकारी दी गई. यह एक ऐसा मुद्दा है, जिसमें बहुत से देश रुचि लेते हैं. खासकर अगर वे हिंद-प्रशांत इलाके से हैं.

जयशंकर ने कहा कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (Line of Actual Control-LAC) पर टकराव के मौजूदा हालात सीमा पर सेनाओं को जमा नहीं करने के लिखित समझौतों की चीन की अवहेलना के कारण पैदा हुए हैं. जयशंकर ने कहा कि जब एक बड़ा देश लिखित प्रतिबद्धताओं की अवहेलना करता है, तो मुझे लगता है कि यह पूरे अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के लिए चिंता का एक जायज विषय है. भारतीय विदेश मंत्री ने जोर देकर कहा कि क्वाड नियमों पर आधारित अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था, अंतर्राष्ट्रीय समुद्रों में नेविगेशन की आजादी, सभी राज्यों की क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता का सम्मान करते हुए सभी के लिए कनेक्टिविटी, विकास और सुरक्षा को बढ़ावा देने की दिशा में काम करना जारी रखेगा.

भारत के विदेश मंत्री ने लगभग दो साल के लंबे समय के बाद अंतर्राष्ट्रीय टूरिस्टों के लिए ऑस्ट्रेलिया की सीमाओं को फिर से खोलने के फैसले का स्वागत किया. जयशंकर ने कहा कि सीमा प्रतिबंधों में ढील देने से छात्रों, अस्थायी वीजा धारकों, अलग रह रहे परिवारों को मदद मिलेगी, जो भारत में फिर से ऑस्ट्रेलिया लौटने का इंतजार कर रहे हैं. व्यापार और निवेश में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच गहरे संबंधों का उल्लेख करते हुए ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री पायने ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई मंत्री डैन तेहान (Dan Tehan) व्यापक आर्थिक सहयोग समझौते (Comprehensive Economic Cooperation Agreement-CECA) के लिए एक दौर की बातचीत के बाद भारत से लौट रहे हैं. उन्होंने भरोसा जताया कि सीईसीए दोनों देशों के लिए व्यापार और निवेश के नए अवसरों को खोलेगा.

Tags: Australia, China, India, Quad, S Jaishankar

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर