जापान ने चीनी बॉम्बर प्लेन को खदेड़ा, पिछले दिनों पनडुब्बी को भी था भगाया

 प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

जापानी एयरस्पेस (Japanese Airspace) में घुसे चीन के एक बम बरसाने वाले जहाज (Chinese Bomber Air Plane) को जापान की वायुसेना खदेड़ दिया. इससे पहले भी जापानी नौसेना ने एक चीनी पनडुब्बी (Chinese Submarines) को खदेड़ने में कामयाबी हासिल की थी.

  • Share this:
टोक्यो. चीन एक साथ भारत के साथ कई देशों को आंखें दिखाने में लगा हुआ. पिछले दिनों गलवान घाटी (Galwan Valley) में सीमा विवाद को लेकर चीनी सेना ने और भारतीय सैनिकों के साथ संघर्ष को अंजाम दिया. चीन ने इसके बाद जापान से भी पंगा ​लेने की कोशिश की. जापान ने चीन को बढ़िया सबक सिखाया है. जापानी एयरस्पेस (Japanese Airspace) में घुसे चीन के एक बम बरसाने वाले जहाज (Chinese Bomber Air Plane) को जापान की वायुसेना खदेड़ दिया. इससे पहले भी जापानी नौसेना ने एक चीनी पनडुब्बी (Chinese Submarines) को खदेड़ने में कामयाबी हासिल की थी. दरअसल, चीन और जापान में पूर्वी चीन सागर में स्थित द्वीपों को लेकर आपस में दशकों से विवाद चल रहा है. चीन और जापान इन निर्जन द्वीपों पर अपना दावा करते हैं। जिन्हें जापान में सेनकाकु और चीन में डियाओस के नाम से जाना जाता है। इन द्वीपों का प्रशासन 1972 से जापान के हाथों में है।

चीन विस्तारवादी नीतियों को अंजाम देने में लगा हुआ है

चीन वर्तमान समय में साम्राज्यवादी मानसिकता के साथ अलग-अलग देशों के साथ कहीं दोस्ती करने की कोशिश कर रहा है और जहां उसकी दाल नहीं गल रही है, वहां वह लड़ने-भिड़ने को तैयार हो गया है. इस क्रम में चीन अब पूर्वी चीन सागर में जापान के साथ द्वीपों को लेकर उलझने को बेकरार है. हालां​कि चीन की इस ओछी हरकत को जापान हरसंभव जवाब देने को तैयार है. जापान ने चेतावनी देते हुए कहा है कि पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र में चीन की हर हरकत का जोरदार तरीके से जवाब दिया जाएगा.



ये भी पढ़ें: पाकिस्तान में 262 पायलटों पर गिरी गाज, इन देशों की एयरलाइंस ने भी नौकरी से निकाला
यही है चीन का वर्ल्ड मॉडल! जिम्बॉबे में चीनी खदान मालिक ने मजदूरों को गोलियों से भूना

जापानी रक्षा मंत्रालय ने एक आधिकारिक बयान जारी कर कहा है कि पूर्वी चीन सागर में जापानी द्वीप ओकिनावा और मियाको के बीच चीनी एच-6के स्ट्रेटजिक बॉम्बर का पता लगा जिसके बाद जापानी एफ-16 फाइटर जेट्स ने उड़ान भरकर चीन के इस एयरक्राफ्ट को अपनी सीमा से बाहर बहुत दूर तक खदेड़ दिया. चीनी एच-6के बॉम्बर प्लेन को लंबी दूरी के लक्ष्य को निशाना बनाने के लिए डिजाइन किया गया है. यह विमान परमाणु हमला करने में भी सक्षम है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज