• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • बाइडेन ने तालिबान को चेताया- 'हमारा काम रोका या हमला किया तो मिलेगा करारा जवाब'

बाइडेन ने तालिबान को चेताया- 'हमारा काम रोका या हमला किया तो मिलेगा करारा जवाब'

मेरिकी राष्ट्रपति ने बीते कुछ दिनों में ब्रिटेन, जर्मनी और फ्रांस के अपने समकक्षों से चर्चा की है. (फोटो: AP)

मेरिकी राष्ट्रपति ने बीते कुछ दिनों में ब्रिटेन, जर्मनी और फ्रांस के अपने समकक्षों से चर्चा की है. (फोटो: AP)

Afghanistan Crisis: अमेरिकी सैनिकों को अफगानिस्तान की वापसी को लेकर जो बाइडेन (Joe Biden) ने बताया कि अमेरिका ने अल कायदा को खत्म कर वहां अपना 'मिशन' पूरा कर लिया है.

  • Share this:

    वॉशिंगटन. अमेरिका राष्ट्रपति जो बाइडेन ने तालिबान (Taliban) को खुले शब्दों में चेतावनी दे दी है. उन्होंने कहा है कि अमेरिकी बलों पर हमले या काबुल एयरपोर्ट (Kabul Airport) पर लोगों को निकालने की प्रक्रिया में खलल डाला, तो इसका ‘जोरदार’ जवाब मिलेगा. साथ ही बाइडेन ने यह भी साफ किया है कि उनका प्रशासन आतंकवाद विरोधी मिशन पर ध्यान लगाए हुए हैं. इस काम में उनके साथ क्षेत्र में मौजूद उनके सहयोगी भी हैं. अमेरिका लगातार अफगानी नागरिकों को देश में एंट्री देने की प्रक्रिया तेज कर दी है.

    व्हाइट हाउस न्यूज कॉन्फ्रेंस के दौरान बाइडेन ने कहा, ‘हमने तालिबान को यह साफ कर दिया है कि कोई भी हमला, हमारे बलों पर कोई हमला या एयरपोर्ट पर जारी हमारे ऑपरेशन में परेशानी आने पर तत्काल और जोरदार जवाब दी जाएगी.’ उन्होंने जानकारी दी कि विदेश मंत्री एंथनी ब्लिंकन ने शुक्रवार को नाटो सहयोगियों के साथ मुलाकात की. इस दौरान अफगानिस्तान को लेकर अहम चर्चा की गई.

    उन्होंने बताया कि ब्लिंकन ने अमेरिका या उसके सहयोगियों के खिलाफ आतंकी हमलों के लिए अफगानिस्तान का इस्तेमाल आतंकियों का बेस के रूप में होने से रोकने की रणनीतियों पर चर्चा की गई. इस काम के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति ने बीते कुछ दिनों में ब्रिटेन, जर्मनी और फ्रांस के अपने समकक्षों से चर्चा की है. इस दौरान उन्होंने फिर जी-7 बैठक आयोजित किए जाने की बात कही है.

    यह भी पढ़ें: IS ने तालिबान को बताया नकली जिहादी, कहा- अफगानिस्तान पर कब्जा अमेरिकी साजिश

    उन्होंने कहा कि हम सभी इस बात पर सहमत हुए कि हमें अगले हफ्ते विश्व के अग्रणी लोकतंत्रों के समूह जी7 की एक बैठक बुलानी चाहिए और हम बुलाएंगे. अमेरिकी सैनिकों को अफगानिस्तान की वापसी को लेकर उन्होंने बताया कि अमेरिका ने अल कायदा को खत्म कर वहां अपना ‘मिशन’ पूरा कर लिया है. उन्होंने कहा, ‘जब अल कायदा चला गया है, तो इस मौके पर अफगानिस्तान में हमारी क्या दिलचस्पी होगी हम ओसामा बिन लादेन को पकड़ने के साथ-साथ अफगानिस्तान में अल-कायदा से छुटकारा पाने के लिए गए थे. और हमने यह किया.’

    बीते साल फरवरी से ही अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी शुरू हो गई थी. इसके बाद से ही देश में करीब दो दशकों के बाद दोबारा तालिबान ने कवायद तेज कर दी थी. अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी 31 अगस्त 2021 तक पूरी होनी है. वहीं, सत्ता में लौटा तालिबान अब नेतृत्व की घोषणा करने की तैयारी कर रहा है. हालांकि, अभी तक तालिबान के शासन में अफगानिस्तान के प्रमुख के नाम का ऐलान नहीं हुआ है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज