अमेरिका में जज की मौत के बाद जो बाइडेन की फंडिंग बढ़ी, 24 घंटे में मिले $90 मिलियन

अमेरिका सुप्रीम कोर्ट के जज रुथ बैडर जिन्सबर्ग की मौत के बाद डेमोक्रेटिक की फंडिंग बढ़ी है.
अमेरिका सुप्रीम कोर्ट के जज रुथ बैडर जिन्सबर्ग की मौत के बाद डेमोक्रेटिक की फंडिंग बढ़ी है.

अमेरिका के सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस रूथ बेडर जिन्सबर्ग (Justice Rooth Beder Jinsberg) की शुक्रवार को मौत के बाद डेमोक्रेटिक (Democratic) मदद देने वालों ने दान देने के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 21, 2020, 1:59 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका के सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस रूथ बेडर जिन्सबर्ग (Justice Rooth Beder Jinsberg) की शुक्रवार को मौत के बाद डेमोक्रेटिक (Democratic) मदद देने वालों ने दान देने के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए. इन दान देने वालों ने सिर्फ 24 घंटों में डेमोक्रेटिक उम्मीदवारों और प्रोग्रेसिव ग्रुप्स को $90 मिलियन (Ninty Million Dollar) से ज्यादा की फंडिंग की है. नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में नामांकन की लड़ाई के लिए डेमोक्रेट्स और रिपब्लिकन ने कमर कसी हुई है. ऐसे में ऑनलाइन फंड उगाहने वाले संगठन एक्टब्लू ने कहा कि गिन्सबर्ग की मौत की खबर आने के 28 घंटों के अंदर जमीनी स्तर के दानकर्ताओं ने डेमोक्रेटिक उम्मीदवारों को $91.4 मिलियन की राशि दान दी.

एक्टब्लू को एक दिन और एक घंटे में मिलने वाली राशि का रिकॉर्ड टूटा

गैर-लाभकारी कार्यकारी निदेशक एरिन हिल ने कहा कि एक्टब्लू को एक दिन में मिलने वाली राशि और एक घंटे में प्राप्त होने वाली राशि का ऑल टाइम रिकॉर्ड टूट गया है. अकेले शनिवार को डोनर्स ने $ 70.6 मिलियन और शुक्रवार रात को एक घंटे में $6.3 मिलियन डॉलर की राशि दान दी. एक्टब्लू के निदेशक एरिन हिल ने बताया एक दिन में मिलने वाली राशि का पिछला रिकॉर्ड $ 41.6 मिलियन और एक घंटे में मिलने वाली राशि का पिछ्ला रिकार्ड $4.3 मिलियन को तोड़ दिया.



राष्ट्रपति चुनाव में बचे हैं अब सिर्फ छह सप्ताह
3 नवंबर के राष्ट्रपति चुनाव से सिर्फ छह सप्ताह पहले हुई जज गिन्सबर्ग की मौत ने डेमोक्रेटिक मतदाताओं और रिपब्लिकन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के मुख्य समर्थकों दोनों में जोश भर दिया है. यदि ट्रम्प उदार गिन्सबर्ग की जगह किसी रूढ़िवादी को उनकी जगह स्थापित कर पाते हैं तो उनके इस कदम से अदालत पर 6-3 रूढ़िवादी बहुमत का दबाव बनेगा.

ये भी पढ़ें: राजशाही के खिलाफ जनता का हल्ला बोल, कहा- थाईलैंड जनता का है, राजा का नहीं

ट्रंप प्रशासन के यमन के फंड में कटौती से बच्चों की मौत में होने लगी बढ़ोतरी

डेमोक्रेटिक दानकर्ताओं द्वारा प्राप्त धन राशि का अधिकांश हिस्सा सीनेट में दखल बढ़ाने की चुनावी दौड़ में डाला जाएगा क्योंकि पार्टी नवंबर में चैंबर का नियंत्रण वापस लेना चाहती है और ट्रम्प के नई जस्टिस को इंस्टाल करने के कदम का विरोध करने के लिए कमजोर रिपब्लिकन पद धारियों पर दबाव बनाना चाहती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज