अब आई एक ही डोज वाली कोरोना वैक्‍सीन, 66 फीसदी प्रभावी होने का दावा

इस कोरोना वैक्‍सीन को जॉनसन एंड जॉनसन ने बनाया है. (File pic ANI)

इस कोरोना वैक्‍सीन को जॉनसन एंड जॉनसन ने बनाया है. (File pic ANI)

Coronavirus Vaccine: एफडीए के वैज्ञानिकों ने इस बात की पुष्टि की है कि यह टीका कोविड-19 के मध्यम से गंभीर स्तर के संक्रमण को रोकने के लिए करीब 66 प्रतिशत प्रभाव क्षमता रखता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 25, 2021, 12:28 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. भारत समेत दुनियाभर में कहर बरपा रहे कोरोना वायरस (Coronavirus) से बचाव के लिए कई वैक्‍सीन (Corona Vaccine) बनाई जा चुकी हैं. लेकिन इनमें अधिकांश को दो बार की डोज के लिए तैयार किया गया है. इनमें भारत की कोविशील्‍ड (Covishield) और कोवैक्‍सीन (Covaxin) भी शामिल हैं. लेकिन अब ऐसी भी वैक्‍सीन आ गई है, जो सिर्फ एक डोज में ही काम कर देगी. यह वैक्‍सीन तैयार की है जॉनसन एंड जॉनसन (Johnson and Johnson) ने. कंपनी का दावा है कि एक डोज ही कोरोना वायरस से बचाव के लिए पर्याप्‍त है. खाद्य एवं औषधि प्रशासन (FDA) के स्वतंत्र सलाहकार शुक्रवार को चर्चा करने वाले हैं, जिसके आधार पर इसके उपयोग की कुछ दिनों के अंदर अनुमति दी जा सकती है.

एफडीए के वैज्ञानिकों ने इस बात की पुष्टि की है कि यह टीका कोविड-19 के मध्यम से गंभीर स्तर के संक्रमण को रोकने के लिए करीब 66 प्रतिशत प्रभाव क्षमता रखता है. एफडीए ने कहा कि जॉनसन एंड जॉनसन के इस टीके की दो के बजाय सिर्फ एक खुराक देने की जरूरत होगी और यह उपयोग के लिए सुरक्षित है.

एफडीए अमेरिका के लिए तीसरे टीके की अनुमति देने से बस एक कदम दूर है. शुक्रवार को एजेंसी के स्वतंत्र सलाहकार इस बारे में चर्चा करेंगे कि क्या इस टीके की अनुमति देने के लिए पर्याप्त रूप से ठोस साक्ष्य उपलब्ध हैं. उस सलाह के आधार पर एफडीए द्वारा कुछ दिनों के अंदर एक अंतिम फैसला करने की उम्मीद है.

अमेरिका में अब तक करीब 4.45 करोड़ लोगों को फाइजर या मोडेरना द्वारा निर्मित टीके की कम से कम एक खुराक लगी है. वहीं, दो करोड़ लोगों को दूसरी खुराक मिल चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज