Home /News /world /

COVID-19 Vaccine: जॉनसन एंड जॉनसन की कोरोना वैक्सीन से लकवा मारने का खतरा! FDA ने चेताया

COVID-19 Vaccine: जॉनसन एंड जॉनसन की कोरोना वैक्सीन से लकवा मारने का खतरा! FDA ने चेताया

जॉनसन एंड जॉनसन के टीके को लेकर खून के थक्के जमने की खबरें भी सामने आ चुकी हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Shutterstock)

जॉनसन एंड जॉनसन के टीके को लेकर खून के थक्के जमने की खबरें भी सामने आ चुकी हैं. (प्रतीकात्मक तस्वीर: Shutterstock)

Coronavirus Vaccine Update: FDA के मुताबिक, जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन से गुलियन बेरी सिंड्रोम (Guillain–Barré syndrome) का खतरा बढ़ सकता है. यह तब होता है, जब इम्यून सिस्टम नर्व सेल्स को नुकसान पहुंचाता है, जिससे कभी-कभी लकवा भी हो जाता है.

अधिक पढ़ें ...
    वॉशिंगटन. अमेरिका में जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन को लेकर फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) ने चेतावनी जारी की है. संस्था ने कहा है कि इस वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) से दुर्लभ न्यूरोलॉजिकल स्थिति गुलियन बेरी सिंड्रोम (Guillain–Barré syndrome) का खतरा बढ़ सकता है. एफडीए की इस चेतावनी के बाद वैक्सीन को कफी बड़ा झटका लगा है. हालांकि, यह पहली बार नहीं है जब जॉनसन एंड जॉनसन के टीके पर सवाल उठे हैं. इससे पहले खून के थक्के जमने की खबरें भी सामने आ चुकी हैं.

    न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट में जानकारों के हवाले से बताया गया कि नियामकों ने पाया कि इस तरह की स्थिति विकसित होने की संभावना कम है. वहीं, अमेरिका की आम आबादी की तुलना में जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन प्राप्त करने वालों लोगों में इसकी संभावना तीन से पांच गुना ज्यादा दिखाई देती है. अधिकारियों को कंपनी का टीका लेने वाले लोगों में गुलियन बेरी सिंड्रोम के 100 संदिग्ध मामले मिले हैं.

    FDA ने जानकारी दी है कि इनमें से 95 फीसदी मामलों को गंभीर माना जा रहा है और इन्हें अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत है. अमेरिका में पूरी तरह वैक्सीन प्राप्त कर चुके करीब 1.28 करोड़ या लगभग 8 फीसदी आबादी को जॉनसन एंड जॉनसन का डोज मिला है. इसके विपरीत 14.6 करोड़ लोगों का पूरा टीकाकरण फाइजर या मॉडर्ना की वैक्सीन से हुआ है.

    यह भी पढ़ें: वैक्सीन की कमी के बीच बोला WHO, अमीर देश करें दान, न लगवाएं बूस्टर डोज

    क्या है Guillain–Barré syndrome
    FDA के मुताबिक, Guillain–Barré syndrome तब होता है, जब इम्यून सिस्टम नर्व सेल्स को नुकसान पहुंचाता है, जिससे मांसपेशियों में कमजोरी आती है और कभी-कभी लकवा भी हो जाता है. अमेरिका में प्रति 10 लाख लोगों में करीब 10 को यह परेशानी होती है. हालांकि, गंभीर लक्षणों का सामना कर रहे ज्यादातर लोग इस परेशानी से उबर जाते हैं.



    इससे पहले अप्रैल में एफडीए ने इस वैक्सीन को लेकर कम प्लेटलेट्स के साथ खून के थक्के जमने को लेकर चेतवानी जारी की थी. यह चेतावनी टीका लगाए जाने में 10 दिनों की रोक के बाद सामने आई थी, जिसके दौरान अधिकारियों में महिलाओं की ऐसे मामलों की जांच की थी.

    Tags: Covid-19 vaccine, Guillain–Barré syndrome, Johnson & Johnson

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर