कश्मीरी अलगाववादी नेता के बेटे ने कहा- पाकिस्तान हमारे युवाओं को युद्ध में बना रहा मोहरा

फोटो सौ. (ANI)
फोटो सौ. (ANI)

यूएनएचआरसी (UNHRC) की 45वीं बैठक में यूरोपियन फाउंडेशन फॉर साउथ एशियन स्टडीज के डॉयरेक्टर जुनैद कुरैशी ने पाकिस्तानी सेना (Pakistan Army) के कश्मीर एजेंडे को दुनिया के सामने रखा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2020, 10:32 PM IST
  • Share this:
जिनेवा. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की जिनेवा (Geneva) में चल रही बैठक के दौरान अलगाववादी नेता हाशिम कुरैशी के बेटे जुनैद कुरैशी ने पाकिस्तान (Pakistan) को जमकर खरीखोटी सुनाई. यूएनएचआरसी की 45वीं बैठक में यूरोपियन फाउंडेशन फॉर साउथ एशियन स्टडीज के डॉयरेक्टर जुनैद ने पाकिस्तानी सेना के नापाक कश्मीर एजेंडे को दुनिया के सामने रखा. जुनैद ने कहा कि 1980 के पहले से पाकिस्तानी सैन्य प्रतिष्ठान ने जम्मू-कश्मीर के युवाओं को हिजबुल मुजाहिदीन, लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे विभिन्न आतंकवादी संगठनों में भर्ती कर रही है. उन्होंने पाकिस्तान पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि पाकिस्तान में हमारे साथी कश्मीरियों को मारने का आदेश दिया, हमारे युवाओं को अपने छद्म युद्ध में मोहरे के रूप में इस्तेमाल किया.

वहीं, पीओके (PoK) कार्यकर्ता मोहम्मद सज्जाद राजा संयुक्त राष्ट्र में कहा कि हम पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के लोग संयुक्त राष्ट्र से अनुरोध करते हैं कि पाकिस्तान को हमारे साथ जानवरों जैसा व्यवहार करने से रोकें. आजाद कश्मीर चुनाव अधिनियम (2020) ने हमारे राजनीतिक, नागरिक और संवैधानिक अधिकारों को छीन लिया है. हम अपने ही घर में गद्दार माने जाते हैं.


ये भी पढ़ें: UN बैठक के दौरान POK कार्यकर्ता बोले- हम पाकिस्तान में होने की सजा भुगत रहे हैं



रो पड़े सज्जाद राजा
इससे पहले मुहम्मद सज्जाद राजा उदबोधन देते समय रो पड़े. बोलते-बोलते उनका गला रूंध गया. अपनी पीड़ा सुनाते हुए उनका गला भर आया. राजा ने कहा कि कथित आज़ाद कश्मीर में राजनीतिक व्यव्स्था का विरोध करने वालों के गले पर पाकिस्तानी बूट है. बाद में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि हम पाकिस्तान में होने की सजा भुगत रहे हैं. पाकिस्तान वहां पर चुनाव कराने की नौ​टंकी कर रहा है जिसे 10 प्रतिशत मुसलमानों का समर्थन भी नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज