होम /न्यूज /दुनिया /काबुल से 823 अफगान शरणार्थियों के साथ रवाना होकर अमेरिका के सी-17 विमान ने बनाया रिकॉर्ड

काबुल से 823 अफगान शरणार्थियों के साथ रवाना होकर अमेरिका के सी-17 विमान ने बनाया रिकॉर्ड

15 अगस्त को काबुल से उड़ान भरने वाले अमेरिका के सी-17 विमान में कुल 823 यात्री थे.

15 अगस्त को काबुल से उड़ान भरने वाले अमेरिका के सी-17 विमान में कुल 823 यात्री थे.

Kabul Airport US C17 Plane: विमान में सवार होने वाले लोगों की संख्या पहले की गई गिनती से कहीं अधिक 823 रही. यह इस विमान ...अधिक पढ़ें

  • ए पी
  • Last Updated :

    वॉशिंगटन. अमेरिका की वायु सेना ने बताया कि अफगानिस्तान के शरणार्थियों से खचाखच भरे जिस मालवाहक (कार्गो) विमान की तस्वीर व्यापक रूप से सोशल मीडिया पर चर्चित रही उसमें सवार होने वाले लोगों की संख्या पहले की गयी गिनती से कहीं अधिक 823 रही. यह इस विमान में यात्रियों की संख्या के लिहाज से एक रिकॉर्ड है.

    एयर मोबिलिटी कमांड ने शुक्रवार को एक संक्षिप्त बयान में कहा कि सी-17 विमान गत रविवार को जब अफगानिस्तान की राजधानी काबुल से रवाना हुआ था तो उसमें सवार लोगों की संख्या शुरू में 640 जोड़ी गई, लेकिन तब लोगों की गोदी में बैठे बच्चों की संख्या अनजाने में नहीं गिनी जा सकी थी.

    तालिबान का खौफ, कोई भेष बदलकर तो कई मूक बधिर बन कर पहुंच रहा एयरपोर्ट, भारत लौटे शख्स ने बताई असलियत

    बयान में कहा गया कि 823 यात्रियों की यह संख्या सी-17 विमान के लिए रिकॉर्ड है. काबुल पर तालिबान के कब्जा करने के बाद विमान ने उड़ान भरी थी, जब हजारों अफगान तथा विदेशी लोग किसी तरह विमानों से उड़ान भरने की चाह में हवाई अड्डे पर पहुंच रहे थे.

    अफगानिस्तान में पहला तालिबानी फतवा जारी, लड़के-लड़कियां नहीं पढ़ेंगे एक साथ

    इस बीच, पाकिस्तान के घनी आबादी वाले शहर कराची के बाहरी इलाकों में एक झुग्गी बस्ती है जहां हाल के दिनों में उत्तरी कुंदुज प्रांत में तालिबान शासन से भागकर आ रहे अफगान परिवारों की आमद बढ़ गई है. कराची के बाहर राजमार्ग से कुछ दूर उत्तरी सीमावर्ती इलाके में स्थित, कंक्रीट और मिट्टी के घरों से बनी अफगान बस्ती (झुग्गी बस्ती), जहां तिरपाल तंबू लगाकर रहने वाले परिवार भी हैं, वहां अफगानिस्तान पर और काबुल पर तालिबान के कब्जे के बाद से अधिक विस्थापित अफगान परिवारों का प्रवाह देखा जा रहा है.

    करीब 2,00,000 अफगान झुग्गी बस्ती में रहते हैं, जबकि दक्षिणी शहर कराची भी कुछ 5,00,000 अफगान शरणार्थियों का घर है, जो ज्यादातर शहर में मजदूरों के रूप में काम करते हैं या पश्तून बहुल इलाकों में अपनी छोटी दुकानें और व्यवसाय चलाते हैं. इनमें से कई अफगान संपन्न भी हैं और कराची के समृद्ध इलाकों में कपड़ा, निर्माण और फर्नीचर व्यवसाय चलाते हैं और वहां किराए के घरों और अपार्टमेंट में भी रहते हैं.

    Tags: Afghanistan, Kabul, Kabul Airport, Taliban, United States

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें