ट्रंप की रैली में महिलाओं का बना मजाक, पहले इल्हान अब कमला हैरिस हुईं शिकार

ट्रंप की रैली में जॉर्जिया के सीनेटर डेविड परडु ने कमला हैरिस के नाम का मजाक उड़ाया. (फाइल फोटो)
ट्रंप की रैली में जॉर्जिया के सीनेटर डेविड परडु ने कमला हैरिस के नाम का मजाक उड़ाया. (फाइल फोटो)

US ELECTION 2020: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) की चुनावी रैली में जार्जिया के सीनेटर ने कमला हैरिस (Kamla Harris) के नाम का मजाक (Mockery) उड़ाया. जॉर्जिया के सीनेटर डेविड परडु ने कहा कि 'कह-मह-लाह' और बाद में 'कमला-मला-मला.....मुझे नहीं पता....जो भी हो उनके इस अंदाज पर दर्शक हँस पड़े.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2020, 6:41 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) की चुनावी रैली में जार्जिया के सीनेटर ने कमला हैरिस (Kamla Harris) के नाम का मजाक (Mockery) उड़ाया. जॉर्जिया के सीनेटर डेविड परडु ने एक अश्वेत महिला और अमरीका की डेमोक्रेटिक पार्टी की उप-राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार और कमला हैरिस के नाम का मजाक उड़ाया. कमला की माँ भारतीय थीं उन्होंने अपनी बेटी का भी भारतीय नाम कमला रखा. शुक्रवार को मेकॉन में एक कार्यक्रम में जार्जिया के रिपब्लिकन सीनेटर डेविड परडु ने ट्रम्प के साथ चल रही इस चुनावी रैली में कमला के नाम का मजाक उड़ाया. उन्होंने उनके नाम का गलत उच्चारण करते हुए शुरू में कहा कि 'कह-मह-लाह' और बाद में 'कमला-मला-मला.....मुझे नहीं पता....जो भी हो उनके इस अंदाज पर दर्शक हँस पड़े. सीनेटर परडु ने आगे भी उनके नाम का मजाक बनाते हुए चुटकी ली. उन्होंने कहा कि उनका पहला नाम काह- माह-लाह या जैसा कि उन्होंने अपनी जीवनी में खुद बताया है कि उनका नाम विराम चिन्ह 'कोमा ला' जैसा कुछ है.

इल्हान उमर के साथ भी ट्रंप ने किया भद्दा मजाक

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने चुनावी अभियान में शुक्रवार को इल्हान उमर (Ilhan Umar) पर अपने ही भाई से शादी करने और अवैध रूप से अमेरिका में प्रवेश करने का झूठा आरोप लगाया. राष्ट्रपति ट्रम्प ने चुनावी रैली में मिनेसोटा कांग्रेस वुमन इल्हान उमर के खिलाफ नस्लभेदी हमला करते हुए उनपर अमेरिका से नफरत करने का भी आरोप लगाया. राष्ट्रपति ने रैली में न्याय विभाग से जांच की मांग करते हुए कहा कि इल्हान उमर ने अपने भाई से शादी की और अवैध रूप से अमेरिका आकर बस गईं.



नाम का मजाक नस्लवाद का एक रूप
उप राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार कमला हैरिस के राजनीतिक विरोधी लगातार उनके नाम का गलत उच्चरण करते रहे हैं. विशेषज्ञ इसका कारण उनका एक प्रमुख पार्टी टिकट पर पहली अश्वेत महिला होना बताते हैं. नाम का मजाक बनाना एक तरह से नस्लवाद ही है. अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उप-राष्ट्रपति माइक पेंस शीर्ष स्तर के रिपब्लिकन में से हैं जो कमला हैरिस के नाम का मजाक उड़ाते आये हैं. पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा सहित कुछ डेमोक्रेट ने भी इस तरह की चीजों को गलत बताया है.

कमला हैरिस की प्रवक्ता का बयान

कमला हैरिस की प्रवक्ता सबरीना सिंह ने एक ट्वीट में जार्जिया के सीनेटर डेविड परडु की टिप्पणी का जवाब दिया है. खैर यह टिप्पणी अविश्वसनीय रूप से नस्लवादी है. वोट देकर उन्हें सत्ता से उखाड़ फेंके. एक दूसरे ट्वीट में सबरीना सिंह ने उन दोनों को 3 साल से साथ काम करने का संदर्भ देते हुए उन्हें बेहतर समझ की आशा करते हुए लिखा कि 'वह (कमला हैरिस) 3 साल से अधिक समय से डेविड परडु की सहकर्मी है'

ये भी पढ़ें: न्यूजीलैंड के आम चुनाव में जेसिंडा अर्डर्न की पार्टी को हासिल हुई शानदार जीत

पाकिस्तानी सेना और ISI ने मुझे हटाकर इमरान खान की 'कठपुतली सरकार' बनवाई: नवाज़ शरीफ 

जॉर्जिया की डेमोक्रेटिक पार्टी ने मांग की कि सीनेटर डेविड परडु कमला हैरिस और जार्जियावासियों से माफ़ी मांगे. जॉर्जिया डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष, निकेमा विलियम्स ने एक बयान में कहा कि सीनेटर परडु ने जानबूझकर कमला हैरिस के खिलाफ अपमानजनक बयान दिया है. सीनेटर हैरिस के नाम का मजाक उड़ाने की नस्लवादी रणनीति सीधे राष्ट्रपति ट्रम्प की हैंडबुक से ली गई है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज