VIDEO: इमरान खान के खिलाफ विपक्ष ने भरी हुंकार, 11 दलों के साथ सड़कों पर उमड़ा जनसैलाब

फोटो सौ. (ANI)
फोटो सौ. (ANI)

पाकिस्तान में पीएम इमरान खान (PM Imran Khan) और उनकी पार्टी के खिलाफ विपक्ष ने दूसरी बड़ी रैली (Rally) की. इससे पहले शुक्रवार को 11 विपक्षी पार्टियों ने महारैली के जरिये इमरान को स्पष्ट संदेश दे दिया कि अब उन्हें जाना होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2020, 11:33 PM IST
  • Share this:
कराची. पाकिस्तान (Pakistan) के विपक्षी दलों ने रविवार को प्रधानमंत्री इमरान खान (PM Imran Khan) के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ रैली की. 16 अक्टूबर को गुजरांवाला में आयोजित एक के बाद यह दूसरी रैली है. दरअसल, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) को सत्ता से उखाड़ फेंकने के लिए विपक्ष एकजुट हो गया है. इससे पहले शुक्रवार को 11 विपक्षी पार्टियों ने महारैली के जरिये इमरान को स्पष्ट संदेश दे दिया कि अब उन्हें जाना होगा. विपक्षी दलों के पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (PDM) के बैनर तले गुजरांवाला के जिन्ना स्टेडियम में भारी संख्या में लोग इमरान सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते नजर आये.

पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने लंदन से इस महारैली को संबोधित किया था. उन्होंने इमरान खान पर हमला बोलते हुए कहा कि इमरान के कार्यकाल में पाकिस्तान आर्थिक बदहाली की स्थिति में पहुंच गया है. 1.5 करोड़ लोग बेरोजगार हुए हैं. अब वक्त आ गया है कि ऐसी सरकार को उखाड़ फेंका जाए. विपक्ष की इस महारैली के लिए गुजरांवाला में जुटी भीड़ देखकर इमरान खान को निश्चित तौर पर पसीना आ गया होगा. इमरान के साथ ही यह सेना प्रमुख जनरल बाजवा के लिए भी खतरे की घंटी है, क्योंकि विपक्षी पार्टियां पाकिस्तान की बर्बादी के लिए सेना को ही दोषी मानती हैं. जानकारों का मानना है कि महारैली से इमरान के तख्ता पलट की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है और संभवतः जनवरी तक कोई बड़ा बदलाव हो सकता है.
ये भी पढ़ें: FATF की ग्रे लिस्ट में ही रहेगा पाकिस्तान! 6 प्रमुख आदेशों को पूरा करने में हुआ फेलइमरान खान के खिलाफ महागठंबधन का नेतृत्व मौलाना फजलुर्रहमान कर रहे हैं. पिछले साल भी फजलुर्रहमान ने इमरान के खिलाफ मोर्चा निकाला था. इमरान को सत्ता में आए दो साल पूरे हो चुके हैं, लेकिन वे कुछ खास करने में नाकाम रहे हैं.

उनके कार्यकाल में पाकिस्तान कंगाल हो गया है. दूसरे देशों से कर्ज मांग कर पाकिस्तान अपना खर्च चला रहा है. महंगाई भी आसमान पर जा पहुंची है. इतना ही नहीं, आतंकवाद को लेकर पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बार-बार बदनामी भी हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज