कराची विमान हादसा : जब परिवार ने दफना दिया किसी और का शव

कराची विमान हादसा : जब परिवार ने दफना दिया किसी और का शव
कराची विमान हादसा मामले में एक यात्री के परिवार ने उनकी जगह किसी और को दफनाया दिया.

शब्बीर अहमद के परिवार ने अवैज्ञानिक तरीके से शव की गलत पहचान की थी और किसी और का शव ले जाकर उसे दफना दिया. फैसल ईधी के मुताबिक जिस व्यक्ति को शब्बीर अहमद समझ कर दफनाया गया था, उसकी कब्र को खोदा जाएगा और दफनाए गए शव की दोबारा पहचान कराई जाएगी और फिर उस शव को दफनाया जाएगा.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
कराची. पाकिस्‍तान (Pakistan) के कराची (Karachi) में हुए विमान हादसा मामले में एक यात्री शब्बीर अहमद (Shabbir Ahmad) के परिवार के लोगों ने उनकी जगह किसी और को दफनाया दिया, लेकिन बाद में परिवार के नमूने ईधी सेंटर में मौजूद शव से मैच कर गए. 'जियो न्यूज' की खबर के हवाले से बताया गया है कि विमान हादसे के बाद नेशनल डिजास्‍टर एंड मैनेजमेंट अथॉरिटी (NDMA) की मेडिकल टीम ने ईधी (Edhi) शव गृह में डेंटल हिस्‍ट्री की मदद से एक शव की पहचान शब्बीर अहमद के तौर पर की. दरअसल, शव लेते समय एनडीएमए ने परिवार के डेंटल नमूने हासिल कर लिए थे. अब वही ईधी सेंटर में मौजूद एक शवा से मिल गए.

शव की डेंटल नमूनों से पहचान की गई
फैसल ईधी ने बताया कि यात्री शब्‍बीर अहमद के परिवार को सूचित किया गया तो पता चला कि वह किसी अन्‍य के शव को शब्‍बीर अहमद समझ कर दफना चुके हैं. दरअसल, शब्बीर अहमद के परिवार ने अवैज्ञानिक तरीके से शव की गलत पहचान की थी और किसी और का शव ले जाकर उसे दफना दिया. फैसल ईधी के मुताबिक जिस व्यक्ति को शब्बीर अहमद समझ कर दफनाया गया था, उसकी कब्र को खोदा जाएगा और दफनाए गए शव की दोबारा पहचान कराई जाएगी और फिर उस शव को दफनाया जाएगा.

गौरतलब है कि 22 मई को लाहौर से कराची आने वाली पीआईए की उड़ान लैंडिंग के दौरान आबादी पर गिर कर तबाह हो गई थी. इस दुर्घटना में चालक दल के आठ सदस्यों सहित 97 यात्रियों की मौत हो गई थी, जबकि दो यात्री बच गए थे.



ये भी पढ़ें - रिपोर्ट में सनसनीखेज खुलासा : कोरोना कर देगा आधे पाकिस्तान को बेरोजगार



                 वो देश जहां हजारों घोड़ों को गोली मारने की अनुमति दे दी गई, जानिए क्‍यों

 
First published: June 1, 2020, 6:18 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading