• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • ट्रंप के साथ हुई डील भूले किम जोंग उन, कहा- उत्तर कोरिया लाएगा नए परमाणु हथियार

ट्रंप के साथ हुई डील भूले किम जोंग उन, कहा- उत्तर कोरिया लाएगा नए परमाणु हथियार

उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग उन

उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग उन

किम जोंग उन (Kim Jong un) ने नए साल में अपनी पार्टी के शीर्ष नेताओं के साथ बैठक की. इसमें फैसला लिया गया कि प्योंगयांग अपने परमाणु और अंतर महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षणों पर लगी रोक हटा रहा है.

  • Share this:
    प्योंगयांग. नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन (Kim Jong un) ने ऐलान किया है कि उनकी एजेंसियां नए तरह के हथियार पर काम करेंगी. पिछले साल अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के साथ मुलाकात के वक्त नॉर्थ कोरिया अपने परमाणु कार्यक्रमों (nuclear missile tests) पर रोक लगाने की बात कही थी, लेकिन साल बदलते ही उन्होंने अपनी नीति को भी बदल दिया. किम जोंग का कहना है कि उत्तर कोरिया अब न्यूक्लियर हथियारों पर नए सिरे से काम करेगा.

    न्यूज़ एजेंसी PTI के मुताबिक, किम जोंग उन ने नए साल में अपनी पार्टी के शीर्ष नेताओं के साथ बैठक की. इसमें फैसला लिया गया कि प्योंगयांग अपने परमाणु और अंतर महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षणों पर लगी रोक हटा रहा है. उत्तर कोरिया की सरकारी समाचार एजेंसी KCNA ने किम के हवाले से कहा, ‘हमारे लिए अब एकतरफा प्रतिबद्धता को निभाते रहने का कोई आधार नहीं है.’

    किम ने सत्तारूढ़ पार्टी के अधिकारियों से कहा, ‘दुनिया एक नया सामरिक हथियार देखेगी जो निकट भविष्य में उत्तर कोरिया के पास होगा.'

    उत्‍तर कोरियाई नेता के इस नई धमकी पर अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मीडिया को बताया, 'किम के साथ एक डील हुई थी, जिसमें परमाणु निरस्‍त्रीकरण की बात हुई थी. मुझे लगता है कि वह अपनी बातों के मायने को समझते हैं.' बता दें कि ट्रंप नये साल के जश्‍न और समारोह‍ के लिए फ्लोरिडा में हैं.

    KIM JONG
    किम और ट्रंप के बीच जून 2018 और बीते साल फरवरी की शुरुआत में वियतनाम में मुलाकात हुई थी.


    हालांकि, डोनाल्ड ट्रंप ने ये भी कहा कि अगर नॉर्थ कोरिया अपनी नई रणनीति पर आगे बढ़ता है, तो हम वही करेंगे जो हमें करना होगा.

    बता दें कि परमाणु निरस्‍त्रीकरण को लेकर किम और ट्रंप के बीच जून 2018 और बीते साल फरवरी की शुरुआत में वियतनाम में मुलाकात हुई थी. साल 2018 की मुलाकात के दौरान दोनों नेताओं ने अचानक उत्‍तर व दक्षिण कोरिया को अलग करने वाले असैन्यकृत क्षेत्र (DMZ) में कंक्रीट सीमा पार कर प्रवेश किया था.

    इसके बाद 2019 के अंत में उत्‍तर कोरिया ने कई छोटे छोटे हथियारों का परीक्षण किया है. इन परीक्षणों को अमेरिका पर दबाव बनाने के प्रयासों के तौर पर देखा गया. (एजेंसी इनपुट)

    बहुत बुरा होगा, बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी... नए साल पर ईरान को डोनाल्ड ट्रंप की धमकी

    बांग्लादेश सरकार का आदेश, भारत से सटे 1 KM के दायरे में मोबाइल नेटवर्क बंद

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज