उत्तर कोरियाई तानाशाह की बहन को सताया डर, नहीं आ रही लोगों के सामने

उत्तर कोरियाई तानाशाह की बहन को सताया डर, नहीं आ रही लोगों के सामने
फाइल फोटो.

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन (Kim Jong-Un) की बहन किम यो जोंग (Kim Yo-Jong) को जबसे नंबर-2 बताया गया है. तभी से वह लोगों के सामने आने से बच रही हैं. इसके पीछे किम जोंग उन का गुस्सा बताया जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 31, 2020, 4:06 PM IST
  • Share this:
प्योंगयांग. उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन (Kim Jong-Un) की बहन किम यो-जोंग (Kim Yo-jong) पिछले कुछ समय से गायब सी हो गई हैं. वह पिछले कई दिनों से लोगों के सामने नहीं आ रही हैं. इसे देखकर यही कयास लगाए जा रहे हैं कि जब से उन्हें किम जोंग-उन के बाद दूसरे नंबर पर बताया जा रहा है, तभी से वह लोगों के सामने नहीं आ रही हैं. जानकारी के अनुसार उन्हें डर लग रहा है कि कहीं उनके भाई इससे नाराज ना हो जाएं. अंतिम बार किम की बहन को जनता के सामने 27 जुलाई को देखा गया था. बता दें, हाल ही में उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के कोमा में होने की खबरों के बीच विशेषज्ञों ने कहा था कि उनकी बहन किम यो जोंग अपने भाई की तरह ही सख्ती के साथ उत्तर कोरिया पर शासन कर सकती हैं.

किम की बिगड़ती सेहत के बारे में रिपोर्ट्स सामने आने के बाद से वैश्विक विशेषज्ञ उत्तर कोरिया के भविष्य और दुनिया के लिए शासन बदलने के बारे में चर्चा कर रहे थे. दक्षिण कोरियाई खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट में बताया गया है कि किम ने अपनी बहन को सत्ता सौंप दी है. इस खबर पर कई ने चिंता जाहिर भी जाहिर की थी. अमेरिकी सेना के कर्नल डेविड मैक्सवेल ने न्यूयॉर्क पोस्ट को बताया, "परिवार की प्रतिष्ठा और इतिहास को देखते हुए, वह लोहे की मुट्ठी (सख्ती से) से शासन करगी." टफ्ट्स यूनिवर्सिटी के फ्लेचर स्कूल ऑफ लॉ एंड डिप्लोमेसी की प्रोफेसर सुंग-यूं ली ने बताया, हालांकि किम जो योंग महिलावादी प्रतीत होती है, "शासन की प्रकृति की मांग वह निर्दयी है, खासकर पहले कुछ वर्षों में." हर्मिट किंगडम को पहले से ही कठिन उपायों को लागू करने के लिए जाना जाता है और उल्लंघन करने वालों के साथ कठोर व्यवहार किया जाता है. कोरियाई हेराल्ड ने दक्षिण कोरिया के दिवंगत राष्ट्रपति किम डे-जंग के पूर्व सहयोगी के हवाले से कहा, "मैंने उन्हें (किम जोंग-उन) कोमा में होने का आकलन किया था, लेकिन उनका जीवन समाप्त नहीं हुआ है."

ये भी पढ़ें: हैरत! दुनिया का एक रहस्यमयी पिरामिड, जहां ताली बजाने पर सुनाई देती है चिड़ियों की चहचहाहट



किम जोंग की मौत की अफवाह
सियोल की जासूसी एजेंसी ने कानूनविदों को एक बंद कमरे में हुई बैठक में सत्तारूढ़ प्रणाली के बारे में बताया कि किम ने स्थापित किया था, जिसके बारे में वह अपने सबसे भरोसेमंद सहयोगियों के साथ प्राधिकरण और जिम्मेदारी साझा करेंगे. दक्षिण कोरियाई दैनिक ने इसकी जानकारी दी. द कोरियन हेराल्ड के अनुसार, नेशनल इंटेलिजेंस एजेंसी ने हालांकि कहा कि नई प्रणाली किसी भी गंभीर स्वास्थ्य मुद्दे से जुड़ी नहीं है. इस बीच, एक कोरियाई वेबसाइट शिनमोन्गो ने रिपोर्ट को बेतुका बताया और उस समय की याद दिलाई जब 23 अप्रैल को किम की मौत की अफवाह फैलने के बाद चांग को बहुत शर्मिंदा होना पड़ा था. रिपोर्ट्स के बाद, केली ने उत्तर कोरिया के किम जोंग-उन पर अस्पष्ट बयानों के बारे में कहा कि कुछ बड़े बदलाव लाए जा रहे हैं. उत्तर कोरिया की अंतिम आधिकारिक रिपोर्ट्स में कहा गया था कि किम जोंग उन ने देश की अर्थव्यवस्था के लिए सख्त चेतावनी जारी की है कि उन्होंने अपनी बहन को कुछ शक्ति सौंपी है, जिसमें अमेरिका के साथ संबंधों की जिम्मेदारी भी शामिल है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज