अपना शहर चुनें

States

पाकिस्तान का दावा - वह आतंकवाद पर बातचीत को तैयार, भारत नहीं कर रहा सहयोग

पाकिस्तान बार-बार वार्ता की मांग कर रहा है. इस पर भारत का कहना है कि बातचीत और आतंकवाद एकसाथ संभव नहीं है.
पाकिस्तान बार-बार वार्ता की मांग कर रहा है. इस पर भारत का कहना है कि बातचीत और आतंकवाद एकसाथ संभव नहीं है.

भारत बार-बार पाकिस्तान की ओर से द्विपक्षीय वार्ता की मांग पर कहता रहा है कि आतंकवाद और बातचीत एकसाथ नहीं चल सकती है.

  • Share this:
भारत में हुए कई आतंकी हमलों की साजिश रचने वाले आतंकियों को पनाह देने वाला पाकिस्तान दावा कर रहा है कि वह नई दिल्ली के साथ आतंकवाद पर बातचीत को तैयार है. लेकिन, भारत ही अड़ियल रवैया अपनाते हुए इस दिशा में सहयोग को तैयार नहीं है. बता दें कि भारत बार-बार पाकिस्तान की ओर से द्विपक्षीय वार्ता की मांग पर कहता रहा है कि आतंकवाद और बातचीत एकसाथ नहीं चल सकती है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान की नीति के मुताबिक इस्लामाबाद भारत के साथ रचनात्मक बातचीत करना चाहता है. आतंकवाद पाकिस्तान के लिए भी सबसे बड़ी चिंता का कारण है. लिहाजा, इमरान सरकार नई दिल्ली के साथ आतंकवाद से जुड़े हर मुद्दे और पहलू पर चर्चा को तैयार है. लेकिन, इमरान सरकार के लिए भारत का मौजूदा रुख सबसे बड़ी चिंंता का कारण बन गया है.

इमरान ने पीएम नरेंद्र मोदी को लिखी थी चिट्ठी 



फैसल ने बताया, इमरान खान ने 14 सितंबर, 2018 को अपने भारत के पीएम नरेंद्र मोदी को इस संबंध में चिट्ठी लिखी थी. इसमें उन्होंने लिखा था कि हम जम्मू-कश्मीर समेत दोनों देशों के हितों से जुड़े सभी मुद्दों को शांतिपूर्ण बातचीत के जरिये हल करना चाहते हैं. वहीं, भारत आतंकवाद के मुद्दे पर सहयोग को तैयार नहीं है.
21-22 मई को होनी है एससीओ की बैठक 

फैसल का यह बयान 21-22 मई को किर्गिस्तान में होने वाली शंघाई सहयोग संगठन (SCO) की बैठक से ठीक पहले आया है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पाकिस्तान के उनके समकक्ष मोहम्मद कुरैशी बैठक में शामिल होंगे. 14 फरवरी को पुलवामा हमले के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव का माहौल बना हुआ है.

ये भी पढ़ें:

बर्बादी की कगार पर पाकिस्तान, कभी भी ध्वस्त हो सकता है सारा सिस्टम

खस्ताहाल हुई करेंसी, तो इमरान खान ने पाकिस्तानियों पर लगाई ये पाबंदी!

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज