G-20 शिखर सम्मेलन: रूस से S-400 सौदे पर मोदी-ट्रंप में नहीं हुई कोई बात

G-20 शिखर सम्मेलन: रूस से S-400 सौदे पर मोदी-ट्रंप में नहीं हुई कोई बात
जी-20 सम्मेलन के इतर मोदी-ट्रंप के बीच द्विपक्षीय संबंध, ईरान, रक्षा और 5जी नेटवर्क को लेकर बात हुई.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने G-20 शिखर सम्मेलन के इतर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की. इस दौरान दोनों के बीच आपसी संबंध, ईरान, रक्षा और 5जी नेटवर्क को लेकर बात हुई.

  • Share this:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने G-20 शिखर सम्मेलन के इतर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की. इस दौरान दोनों के बीच आपसी संबंध, ईरान, रक्षा और 5जी नेटवर्क को लेकर बात हुई. लेकिन, दोनों के बीच भारत के रूस से एस-400 मिसाइल रक्षा प्रणाली सौदे को लेकर कोई बात नहीं हुई. बता दें कि भारत ने शिखर सम्मेलन से पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि रूस से पुराने संबंधों को खत्म नहीं किया जा सकता है. साथ ही एस-400 भारत की रक्षा जरूरत के लिहाज से अहम है.

ऊर्जा सुरक्षा और ईरान को लेकर भारत की चिंताओं पर हुई बात

पीएम मोदी ने ट्रंप के साथ बैठक के दौरान ऊर्जा सुरक्षा और ईरान को लेकर भारत की चिंताओं पर बात की. मोदी-ट्रंप की यह बैठक ऐसे समय हुई है, जब ईरान और अमेरिका के बीच तनाव लगातार बढ1ता जा रहा है. पिछले सप्ताह अमेरिका ने आरोप लगाया था कि ईरान ने अमेरिका के एक ड्रोन को मार गिराया था. प्रधानमंत्री मोदी ने जापान रवाना होने से पहले कहा था कि ट्रंप के साथ बैठक में ईरान उन चार प्रमुख मुद्दों में शामिल है, जिस पर वह चर्चा करेंगे.



खाड़ी क्षेत्र में अस्थिरता कई मोर्चों पर भारत को करती है प्रभावित 
विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया कि दोनों की मुलाकात के दौरान खाड़ी क्षेत्र में स्थिरता सुनिश्चित करने पर मुख्य रूप से ध्यान दिया गया. उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में अस्थिरता हमें ऊर्जा जरूरतों के साथ ही कई मोर्चों पर प्रभावित करती है. 80 लाख भारतीय खाड़ी क्षेत्र में रहते हैं. गोखले के मुताबिक, सहमति बनी कि दोनों देशों के अधिकारी क्षेत्र में शांति व स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए संपर्क में रहेंगे.

मोदी-ट्रंप व्यापार से जुड़े विवादों को सुलझाने के लिए जल्द करेंगे बैठक

विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया कि दोनों नेताओं के बीच एस-400 समेत किसी भी रक्षा सौदे को लेकर बातचीत नहीं हुई. दोनों नेता व्यापार संबंधित विवादों को सुलझाने के लिए जल्द एक बैठक करेंगे. हाल में भारत दौरे पर पहुंचे अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भी एस-400 मिसाइल रक्षा प्रणाली को लेकर कहा था कि भारत को इस रक्षा खरीद के विकल्प की तलाश करनी चाहिए. भारत ने अमेरिकी विदेश मंत्री के बयान पर सधी प्रतिक्रिया दी थी.

ये भी पढ़ें:

मुझे याद है जब आप पहली बार PM बने थे तब... ट्रंप ने मोदी के लिए कहीं ये 5 बातें

ट्रंप ने बदले तेवर, कई बार किया 'पॉजिटिव' शब्द का इस्तेमाल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज