जानिए किन देशों ने कोरोना वायरस के खौफ में लगाया ट्रैवल बैन

जानिए किन देशों ने कोरोना वायरस के खौफ में लगाया ट्रैवल बैन
कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए कई देशों ने अपने यहां यात्रा पर प्रतिबंध लगाए हैं.

अमेरिका (America) ने अपने यहां 26 यूरोपियन देशों पर ट्रैवल बैन लगाया है. इन 26 देशों के नागरिक फिलहाल अमेरिका नहीं जा सकते.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 13, 2020, 11:41 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन: पूरी दुनिया में कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण तेजी से फैल रहा है. इसके संक्रमण को रोकने के लिए कई देशों ने अब ट्रैवल बैन (travel ban) लगा दिया है. इन देशों ने अपने यहां आने वाले विदेशी नागरिकों के वीजा रद्द कर दिए हैं. अब इन देशों में दूसरे देश के नागरिक नहीं जा सकते हैं.

अमेरिका ने अपने यहां 26 यूरोपियन देशों पर ट्रैवल बैन लगाया है. इन 26 देशों के नागरिक फिलहाल अमेरिका नहीं जा सकते. अमेरिका ने जिन देशों पर ट्रैवल बैन लगाया है उनमें आस्ट्रिया, बेल्जियम, चेक रिपब्लिक, डेनमार्क, एस्टोनिया, फिनलैंड, फ्रांस, जर्मनी, ग्रीस, हंगरी, आईसलैंड, इटली, लातिविया, लिथुआनिया, लग्जमबर्ग, माल्टा, नीदरलैंड, नॉर्वे, पोलैंड, पुर्तगाल, स्लोवाकिया, स्पेन, स्वीडेन और स्विटजरलैंड जैसे देश शामिल हैं.

अमेरिका ने यूके और आयरलैंड पर बैन नहीं लगाया है. हालांकि इन दोनों देशों में भी नोवल कोरोना वायरस का संक्रमण मिला है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ऐलान किया है कि अमेरिका आने वाले अमेरिकी नागरिकों को भी कड़ी स्क्रीनिंग से गुजरना होगा.



ऑस्ट्रेलिया ने भी लगाया ट्रैवल बैन



इसी तरह से ऑस्ट्रेलिया ने भी अपने यहां ट्रैवल बैन लगाया है. जिन लोगों ने पिछले 14 दिनों के दौरान चीन की यात्रा की है, उनके ऑस्ट्रेलिया आने पर बैन लगा दिया गया है. हालांकि इस बैन से एयरलाइन के क्रू मेंबर्स, ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों और न्यूजीलैंड के नागरिकों को छूट दी गई है.

इसी तरह से जिन लोगों ने इस महीने ईरान, साउथ कोरिया और इटली की यात्रा की है, उनके अगले 14 दिनों तक ऑस्ट्रेलिया आने पर रोक लगाई गई है. 14 दिन के बाद इस पर फैसला लिया जाएगा. इसी तरह से चीन ने भी कुछ सख्त कदम उठाए हैं. चीन अपनी राजधानी में आने वाले सभी विदेशी नागरिकों को 14 दिनों के लिए क्वारांटाइन (अलग-थलग) रखेगा. विदेशी नागरिकों को चीन के कुछ होटलों में ही रुकने की अनुमति है. वहां उनके संक्रमण की जांच होगी. बिना संक्रमण की जांच किए वो होटल से बाहर नहीं निकल सकते.

इन देशों ने अपने यहां लगा रखे हैं यात्रा पर सीमित प्रतिबंध
चेक रिपब्लिक ने अगले 30 दिनों के लिए इमरजेंसी घोषित कर रखी है. कोरोना वायरस के संक्रमण वाले देशों के नागरिकों को अपने यहां आने पर बैन लगा दिया है. चेक रिपब्लिक ने आंशिक तौर पर अपने बॉर्डर बंद कर दिए हैं. यहां के नागरिकों के संक्रमण वाले देशों में जाने पर भी बैन लगाया गया है.

ग्रीस ने भी अपने यहां कुछ प्रतिबंध लगा रखे हैं. उन्होंने अपनी सीमा पर सुरक्षा व्यवस्था और संक्रमण की जांच तेज कर दी है.

हॉन्गकॉन्ग ने भी ट्रैवल बैन लगाया हुआ है. ऐसे लोग जिन्होंने पिछले 14 दिनों के दौरान चीन के हुबेई या साउथ कोरिया की यात्रा की है, उनके हॉन्गकॉन्ग प्रवेश पर पाबंदी है. हुबेई से पासपोर्ट पाने वाली चीनी नागरिकों को भी बैन किया गया है.

भारत में भी ट्रैवल पर कुछ प्रतिबंध लगाए गए हैं. भारत सरकार ने अपने सभी टूरिस्ट वीजा रद्द कर दिए हैं. विदेश से आने वाले सभी नागरिकों को 14 दिनों के लिए क्वारांटाइन रखा जाएगा. चीन, फ्रांस, जर्मनी, ईरान, इटली, साउथ कोरिया और स्पेन से आने वाले भारतीय नागरिकों को भी 14 दिनों के लिए क्वारांटाइन रखा जाएगा.

इसी तरह के प्रतिबंध इंडोनेशिया, इटली, जापान, मकाऊ, मलेशिया, नॉर्वे, रूस, श्रीलंका, साउथ कोरिया, थाईलैंड और तुर्की जैसे देशों ने लगा रखे हैं.

ये भी पढ़ें:

ऐसे पकड़ा गया चीन में कोरोना वायरस का पहला मरीज, डॉक्टर रह गए थे हैरान

एस्प्रीन की आधी गोली से होगा लीवर कैंसर का रिस्क आधा- रिसर्च का दावा

कोरोना वायरस के खौफ में इस टाउन को लोग कहने लगे 'भुतहा' शहर, नहीं नजर आता एक भी आदमी

जहां से फैला कोरोना वायरस, अब वहीं हुए संक्रमण के सबसे कम मामले

क्या ट्रंप के दोबारा राष्ट्रपति चुने जाने में सबसे बड़ा रोड़ा है कोरोना वायरस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading