लाइव टीवी

ट्रंप प्रशासन क्‍यों लगा रहा है गर्भवती महिलाओं के लिए अमेरिकी वीजा पर पाबंदी?

News18Hindi
Updated: January 24, 2020, 7:28 PM IST
ट्रंप प्रशासन क्‍यों लगा रहा है गर्भवती महिलाओं के लिए अमेरिकी वीजा पर पाबंदी?
डोनाल्‍ड ट्रंप के राष्‍ट्रपति बनने के बाद से अमेरिका ने वीजा नियमों में कई बार बदलाव किया है.

विदेश मंत्रालय के नए नियमों के मसौदे के मुताबिक, गर्भवती महिला (Pregnant Women) को वीजा (US VISA) हासिल करने के लिए काउंसिलर ऑफिसर को समझाना होगा कि अमेरिका आने का उनके पास दूसरा वाजिब कारण है. डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trump) के राष्‍ट्रपति बनने के बाद से अमेरिका बर्थ टूरिज्‍म (Birth Tourism) के चलन को रोकने के लिए लगातार कदम उठा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 24, 2020, 7:28 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trump) ने आव्रजन के खिलाफ लड़ाई में नया मोर्चा खोल दिया है. अमेरिका अब वीजा (US VISA) को लेकर कुछ नई पाबंदियां लगाने की योजना बना रहा है. ट्रंप प्रशासन ने फैसला लिया है कि बच्‍चों को जन्‍म देने के लिए अमेरिका आने वाली गर्भवती महिलाओं (Pregnant Women) को वीजा देने पर पाबंदी लगाई जाएगी. ट्रंप प्रशासन के दो अधिकारियों ने बताया कि विदेश मंत्रालय की ओर से जारी किए जा रहे नए वीजा नियम शुक्रवार से प्रभावी हो जाएंगे. व्‍हाइट हाउस (White House) की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि गर्भवती महिलाएं बच्‍चों को जन्‍म देने के लिए अमेरिका आती हैं ताकि उनके बच्‍चों को यहां की नागरिकता मिल सके.

बर्थ टूरिज्‍म के लिए जारी नहीं होगा बी-1 और बी-2 वीजा
व्‍हाइट हाउस की प्रवक्‍ता स्‍टेफनी ग्रिशम ने कहा कि अमेरिकी नागरिकता (US Citizenship) की अहमियत की रक्षा करना जरूरी है. अब एलियंस (गर्भवती महिलाएं) को 'बर्थ टूरिज्‍म' (Birth Tourism) के लिए अस्‍थायी बी-1 और बी-2 वीजा जारी नहीं किया जाएगा. स्‍टेफनी ने कहा कि अमेरिकी लोगों की सुरक्षा के साथ ही राष्‍ट्रीय सुरक्षा (National Security) को ध्‍यान में रखते हुए बर्थ टूरिज्‍म पर रोक लगाने के लिए वीजा नियमों में नई पाबंदियां लगाई जा रही हैं. बर्थ टूरिज्‍म इंडस्‍ट्री से देश के अस्‍पतालों पर अतिरिक्‍त बोझ पड़ रहा है. नए नियम से गर्भवती महिलाओं के लिए टूरिस्‍ट वीजा पर यात्रा करना कठिन होगा.

गर्भवती महिलाओं को वीजा के लिए बतानी होगी दूसरी वजह

नए वीजा नियमों के एक मसौदे के मुताबिक, गर्भवती महिलाओं को अमेरिकी वीजा हासिल करने के लिए काउंसिलर ऑफिसर (Councilor Officer) को समझाना होगा कि अमेरिका आने का उनके पास दूसरा वाजिब कारण है. प्रशासन आव्रजन (Immigration) के सभी प्रारूपों पर पाबंदी लगा रहा है, लेकिन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने खासतौर पर जन्मजात नागरिकता (Birthright Citizenship) के मुद्दे पर कड़ा रुख अपनाया है. इसके तहत गैर अमेरिकी (Non-Americans) नागरिकों के बच्चों को अमेरिका में जन्म लेने के साथ मिलने वाली नागरिकता के अधिकार को खत्म करना है.

कंपनियां 80,000 डॉलर में दिलाती हैं होटल-मेडिकल सुविधा
'बर्थ टूरिज्म' अमेरिका समेत कई देशों में तेजी से बढ़ रहा है. अमेरिकी कंपनियां इसके लिए विज्ञापन भी देती हैं. विज्ञापनों के मुताबिक, ये कंपनियां होटल के कमरे और चिकित्सा सुविधा (Medical Facilities) के लिए 80,000 डॉलर तक वसूलती हैं. रूस (Russia) और चीन (China) जैसे देशों से कई महिलाएं अपने बच्चे को जन्म देने के लिए अमेरिका आती हैं. डोनाल्‍ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद से ही अमेरिका इस तरह के चलन के खिलाफ कदम उठा रहा है.

ये भी पढ़ें:

4 बार शादी से चूके थे रतन टाटा, अब शेयर की है जवानी की 'हिट' तस्वीर

बरेली: गर्ल्स हॉस्टल के कमरे में आग, MBBS पास इंटर्न छात्रा जिंदा जली, मौत

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 24, 2020, 11:10 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर