US: चुनावी सभा में महिला ने कहा- डोनाल्ड ट्रंप पर भरोसे के चलते मेरे पिता की जान गई

US: चुनावी सभा में महिला ने कहा- डोनाल्ड ट्रंप पर भरोसे के चलते मेरे पिता की जान गई
क्रिस्टिन उरक्विजा ने कहा उनके पिता की जान ट्रंप पर भरोसा करने के चलते गई

अमेरिका में क्रिस्टीन उरक्विजा ने डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) पर अपने पिता की मौत का आरोप डोनाल्ड ट्रंप पर लगाया और कहा कि मेरा पिता डोनाल्ड ट्रंप पर भरोसा करते थे, उन्हें जान देकर इसकी कीमत चुकानी पड़ी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 18, 2020, 4:07 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव (US Presidential Election) के प्रचार अभियान के दौरान डेमोक्रेटिक पार्टी (Democratic Party) ने अपने वर्चुअल कन्वेंशन के दौरान भावुक वक्ताओं की फौज को बोलने का मौका दिया. डेमोक्रेटिक पार्टी ने रणनीति के तहत यह काम कर रही है ताकि डोनाल्ड ट्रंप की जगह जो बाइडेन (Joe Biden) के राष्ट्रपति बनने की राह सुगम हो सके. इस मौके पर अमेरिका की प्रथम महिला रह चुकीं मिशेल ओबामा और न्यूयॉर्क के गर्वनर एंड्रयू कुओमो पर अपने वक्तव्य में डोनाल्ड ट्रंप पर गंभीर आरोप लगाए. मिशेल और कुओमो के राज्यों में कोरोना वायरस का प्रकोप बहुत ज्यादा रहा है. इन वक्ताओं ने ट्रंप पर कई तरह के आरोप लगाए.

'मेरे पिता 65 साल के थे और पूरी तरह स्वस्थ थे'

इन वक्ताओं में से एक क्रिस्टिन उरक्विजा (Kristin Urquiza) भी वर्चुअल मीटिंग में मौजूद थीं. क्रिस्टिन के पिता की मौत कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते हुई. उन्होंने अपने पिता की मौत का आरोप देश के असफल नेतृत्व पर लगाया. क्रिस्टिन ने कहा कि मेरे पिताजी 65 साल के थे और पूरी तरह से स्वस्थ थे. मेरे पिता मृत्यु तक डोनाल्ड ट्रम्प पर बहुत भरोसा करते थे और इसकी कीमत उन्हें जान देकर चुकानी पड़ी.



जुलाई में पहली बार सुर्खियों में इस वजह से आई थी क्रिस्टिन
सैन फ्रांसिस्कों में रहने वाली क्रिस्टिन पहली बार बीते जुलाई में सुर्खियों में आई. उन्होंने तब अपने पिता मार्क एंथोनी की मौत को लेकर डोनाल्ड ट्रंप पर आरोप लगाया और कहा कि मेरे पिता की मौत राजनेताओं की लापरवाही की वजह से हुई. उन्होंने यह लिखा था कि देश के राजनेता ने वायरस को हल्के में लिया. उन्होंने कहा कि मेरे पिता ने मरते वक्त आखिरी सांस लेते हुए मुझसे कहा ​था डोनाल्ड ट्रंप को पसंद करना मुझे धोखे के अहसास से भर गया. को पसंद करने के चलते मुझे धोखा मिला है. यही वजह है कि मैं जो बाइडेन को वोट करूंगी और ऐसा मैं अपने पिता की वजह से करूंगी.

ये भी पढ़ें: बहरीन में बुर्के वाली महिला ने तोड़ी भगवान गणेश की मूर्तियां, देंखे Video

अमेरिका की चुनावी सभाओं में पढ़े जा रहे हैं वेद और महाभारत के श्लोक

संयुक्त राज्य अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव होने के लिए 78 दिन हैं और डेमोक्रेट्स ने सोमवार को अवसर का इस्तेमाल कर कोरोना वायरस महामारी, नस्लीय न्याय और बिखरती अर्थव्यवस्था पर ट्रम्प पर हमला किया. पूर्व प्रतिद्वंद्वी बर्नी सैंडर्स और प्रमुख रिपब्लिकन जॉन कासिच भी इस कार्यक्रम में सेना के लिए एकता के प्रदर्शन में शामिल हुए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज