Home /News /world /

चीनी एजेंट, भारत में ‘पद्मश्री’! ब्रिटेन की खुफिया एजेंसी MI5 का बड़ा खुलासा

चीनी एजेंट, भारत में ‘पद्मश्री’! ब्रिटेन की खुफिया एजेंसी MI5 का बड़ा खुलासा

ब्रिटिश सांसद बैरी गार्डिनर अब तक पद्मश्री लेने भारत नहीं आए हैं. फाइल फोटो

ब्रिटिश सांसद बैरी गार्डिनर अब तक पद्मश्री लेने भारत नहीं आए हैं. फाइल फोटो

MI5 BombShell : एमआई5 (MI5) ने ब्रिटेन की लेबर पार्टी के सांसद बैरी गार्डिनर (Labour Party MP- Barry Gardiner) को चीनी एजेंट (Chinese Agent) बताया है. बैरी गार्डिनर (Barry Gardiner) ने ब्रिटेन (Britain) में लोकतांत्रिक प्रक्रिया को बाधित करने के लिए चीन (China) से पैसे लिए थे. इस काम के लिए गार्डिनर के दफ्तर को लंबे समय तक चीन (China) की क्रिस्टीन चिंग कुई ली (Christine Ching Kui Lee) की कानूनी फर्म के जरिए धन भेजा जाता रहा.

अधिक पढ़ें ...

लंदन. ब्रिटेन (Britain) की खुफिया एजेंसी एमआई5 (MI5) ने बड़ा खुलासा किया है. यह खुलासा वैसे तो ब्रिटेन (Britain) के एक सांसद से जुड़ा हुआ है. लेकिन इससे भारत सरकार (Govt of India) की भी परेशानी बढ़ सकती है. एमआई5 (MI5) ने ब्रिटेन की लेबर पार्टी के सांसद बैरी गार्डिनर (Labour Party MP- Barry Gardiner) को चीनी एजेंट (Chinese Agent) बताया है. भारत के लिए इसमें खास बात ये है कि बैरी गार्डिनर (Barry Gardiner) को जनवरी-2020 में भारत सरकार पद्मश्री (Padma Shri) से सम्मानित करने की घोषणा कर चुकी है.

एमआई5 (MI5) के मुताबिक, बैरी गार्डिनर (Barry Gardiner) ने ब्रिटेन (Britain) में लोकतांत्रिक प्रक्रिया को बाधित करने के लिए चीन (China) से पैसे लिए थे. इस काम के लिए गार्डिनर के दफ्तर को लंबे समय तक चीन (China) की क्रिस्टीन चिंग कुई ली (Christine Ching Kui Lee) की कानूनी फर्म के जरिए धन भेजा जाता रहा. क्रिस्टीन की फर्म के दफ्तर लंदन (London) और बर्मिंघम में भी हैं. उनकी फर्म लंदन (London) स्थित चीनी दूतावास (Chinese Embassy) के लिए कानूनी सलाहकार के रूप में भी काम करती है. यही नहीं, बैरी गार्डिनर (Barry Gardiner) ने क्रिस्टीन के बेटे डेनियल विल्किस को अपने दफ्तर में नौकरी भी दी हुई थी. हालांकि एमआई5 (MI5) के खुलासे के बाद इसी गुरुवार को डेनियल ने वहां से इस्तीफा दे दिया.

चीनी जासूस है क्रिस्टीन…
एमआई5 (MI5) के मुताबिक क्रिस्टीन असल में चीन की जासूस (Chinese Spy) है. वह ब्रिटेन में चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी (Communist Party Of China) के यूनाइटेड फ्रंट वर्क डिपार्टमेंट (UFWD) के लिए काम करती है. यूएफडब्ल्यूडी (UFWD) के इशारे पर वह ब्रिटेन (Britain) में राजनीतिक दखलंदाजी और अस्थिरता पैदा करने के काम करती है. नीतियों-निर्णयों को चीन के हित में प्रभावित करने की कोशिश करती है. एमआई5 (MI5) की मानें तो बैरी गार्डिनर (Barry Gardiner) अकेले नहीं हैं, जिन्होंने चीन (China) से पैसे लिए. क्रिस्टीन ने अपनी कानूनी फर्म के जरिए दूसरी पार्टियों और उनके सांसदों को भी धनराशि मुहैया कराई है. खुफिया एजेंसी ने इस खुलासे के साथ ही सभी पार्टियों और सांसदों को चीनी दखलंदाजी के प्रति चेताया भी है.

…और भारतीयों के बीच दखल रखते हैं गार्डिनर
वहीं, दूसरी तरफ बैरी गार्डिनर (Barry Gardiner) ब्रिटेन के भारतीय समुदाय (Indian Diaspora in Britain) के बीच काफी दखल रखते हैं. भारतवंशी समुदाय के बीच लोकप्रिय भी हैं. वो जिस ब्रेंट नॉर्थ सीट (Brent North) से सांसद चुने गए हैं, वहां भी भारतवंशी समुदाय की आबादी काफी ज्यादा है. गार्डिनर ने अब तक भारतीयों के बीच जो काम किया और उससे जो लोकप्रियता अर्जित की, उसी आधार पर उन्हें पद्मश्री (Padma Shri) देने की अनुशंसा की गई थी.

क्या गार्डिनर ने चीन के लिए भारत को भी प्रभावित किया?
एमआई5 (MI5) के खुलासे के बाद ब्रिटेन के भारतवंशी समुदाय (Indian Diaspora in Britain) में चिंता की लहर दौड़ गई है. समुदाय के नेता हरेंद्र जोधा कहते हैं, ‘बैरी गार्डिनर (Barry Gardiner) को इस संबंध में सफाई देनी चाहिए. सभी तथ्य सामने रखने चाहिए. हम जानना चाहते हैं कि क्या उन्होंने चीन के हितों को साधने के लिए किसी तरह से भारत को भी प्रभावित किया है?’

इसी तरह एक अन्य भारतवंशी नेता बताते हैं, ‘गार्डिनर ने भारतवंशियों, खासकर गुजरातियों के लिए जो काम किया, उसी के लिए उन्हें पद्मश्री (Padma Shri) दिया गया. हालांकि वो कोरोना (Corona) की स्थिति को देखते हुए अब तक यह सम्मान लेने भारत नहीं गए हैं. मुझे लगता है इस खुलासे के बाद भारत और भारतवंशियों के साथ उनके रिश्ते पर प्रतिकूल असर पड़ेगा.’

Tags: Britain, China, Narendra modi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर