Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    लाहौर गैंगरेप: पाकिस्तान कोर्ट ने मीडिया रिपोर्टिंग पर बैन लगाया, जानिए क्या है वजह?

    पाकिस्तान में पिछले दिनों एक पाकिस्तानी मूल की फ्रांसीसी महिला का गैंगरेप उसके बच्चों के सामने कर लिया गया था. इसके खिलाफ प्रदर्शन की तस्वीर. Photo: AP
    पाकिस्तान में पिछले दिनों एक पाकिस्तानी मूल की फ्रांसीसी महिला का गैंगरेप उसके बच्चों के सामने कर लिया गया था. इसके खिलाफ प्रदर्शन की तस्वीर. Photo: AP

    पाकिस्तान में लाहौर-सियालकोट हाईवे (Lahore Gangrape) पर पिछले दिनों एक पाकिस्तानी मूल की फ्रांसीसी महिला का गैंगरेप उसके बच्चों के सामने कर लिया गया था. कोर्ट ने इस घटना से जुड़ी खबरें दिखाने से मना कर दिया है.

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 4, 2020, 7:24 AM IST
    • Share this:
    लाहौर. पाकिस्तान में पिछले दिनों लाहौर के पास हाईवे पर हुई एक महिला के साथ गैंगरेप (Gang Rape in Lahore) की घटना के चलते वहां माहौल काफी गर्मा गया है. महिला सामाजिक कार्यकर्ता और सामाजिक संगठन आए दिन सड़कों (Women Protest) पर उतर आते हैं और सरकार के खिलाफ नारे लगाने लगते हैं. वे अदालत से न्याय जल्द से जल्द दिलाने की मांग कर रहे हैं. जाहिर सी बात है कि इन घटनाओं से जुड़ी रिपोर्टिंग से पुलिस और कोर्ट की भद पिट रही थी. वहीं, पुलिस ने यह आरोप लगाया कि मीडिया की बेवकूफी भरी रिपोर्टिंग (Ban On Media Reporting) के चलते संदिग्ध को पकड़ पाने पुलिस सक्षम नहीं हो पा रही है. यही वजह है कि पाकिस्तान की कोर्ट से पुलिस ने यह गुजारिश की थी कि मीडिया को बलात्कार की इस घटना की रिपोर्टिंग करने से रोका जाए. अदालत ने पुलिस की इस दरख्वास्त को मान लिया है और मीडिया को हाईवे पर हुई रेप की घटना को लेकर किसी भी तरह की रिपोर्ट दिखाने से मनाही कर दी है.

    पाकिस्तान मूल की फ्रांसीसी महिला के साथ हुआ था रेप

    पाकिस्तानी मूल की एक फ्रांसीसी महिला के साथ पिछले महीने लाहौर-सियालकोट मार्ग पर उसके बच्चों के सामने दो व्यक्तियों ने कथित रूप से सामूहिक बलात्कार किया था. इस घटना के बाद देशभर में जनता ने प्रदर्शन किए. पुलिस ने इस मामले में एक संदिग्ध को गिरफ्तार किया है लेकिन मुख्य आरेापी आबिद माल्ही अब भी फरार है. आतंकवाद निरोधक अदालत ने शुक्रवार को पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया नियमन प्राधिकरण को लाहौर पुलिस के अनुरोध पर इस कांड के बारे में किसी भी सामग्री के प्रसारण पर रोक लगाने का आदेश दिया.



    मीडिया की बेवकूफी के चलते मुख्य संदिग्ध नहीं हुआ गिरफ्तार: पुलिस
    पुलिस ने कहा है कि इस घटना से जुड़े मुख्य आरोपी को वह बेवकूफी भरे मीडिया कवरेज के कारण मुख्य संदिग्ध को गिरफ्तार नहीं कर पाई. यही वजह है कि शुक्रवार को अदालत के आदेश के बाद प्राधिकरण ने टीवी चैनलों को इस मामले से जुड़ी सामग्री प्रसारित नहीं करने का निर्देश दिया.

    हिंदू लड़की से हुआ बलात्कार, खुदकुशी की

    वहीं, एक दूसरे घटना में पाकिस्तान के सिंध प्रांत में 17 वर्षीय एक हिंदू लड़की ने आत्महत्या कर ली. इस लड़की को तीन लोग यौन शोषण के मामले में ब्लैकमेल कर रहे थे. पाकिस्तानी समाचारपत्र डॉन के अनुसार इस लड़की ने बुधवार को थारपरकार जिले के गांव डालन-जो-तार्र में एक गहरे कुएं में कूदकर अपनी ज़िंदगी ख़त्म कर ली.

    ये भी पढ़ें: डोनाल्ड ट्रंप के लिए 48 घंटे अहम, चीफ ऑफ स्टाफ ने कहा- 'हालत बेहद चिंताजनक' 

    अमेरिका ने चीन के Huawei कंपनी के 5जी नेटवर्क पर बैन के लिए इन देशों से किया समझौता 

    गाँव के लोगों ने उसके शरीर को कुएं से निकाला और अस्पताल लेकर गए लेकिन वहां उसे मृत घोषित कर दिया गया. लड़की के पिता और अन्य रिश्तेदारों ने संवाददाताओं को बताया कि वर्ष 2019 में जुलाई के मध्य में तीन आदमियों ने लड़की का बलात्कार किया था. फिलहाल आरोपी जमानत पर हैं.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज