फिर दहला लेबनान, हिजबुल्लाह आतंकी के गढ़ इन-काना में हुआ जोरदार धमाका

लेबनान के इन—काना गांव में धमाका के बाद सुरक्षाकर्मियों ने घटनास्थल से कुछ दूरी पर सड़क ब्लॉक कर दिया.
लेबनान के इन—काना गांव में धमाका के बाद सुरक्षाकर्मियों ने घटनास्थल से कुछ दूरी पर सड़क ब्लॉक कर दिया.

लेबनान (Lebanon) के एक गांव में भीषण धमाका हुआ. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, देश के दक्षिणी इलाके में मंगलवार को एक भीषण विस्फोट की घटना सामने आई है. यह धमाका हिजबुल्लाह आतंकवादियों (Hijbullah Terrorist) के गढ़ माने जाने वाले गांव में हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 8:46 PM IST
  • Share this:
बेरुत. लेबनान (Lebanon) अभी पिछले विस्फोट (Blast) के जख्मों को भर भी नहीं पाया था कि आज देश के एक गांव में भीषण धमाका हुआ. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, देश के दक्षिणी इलाके में मंगलवार को एक भीषण विस्फोट की घटना सामने आई है. यह धमाका हिजबुल्लाह आतंकवादियों (Hijbullah Terrorist) के गढ़ माने जाने वाले गांव में हुआ है. एक वीडियो में यह दिखाई दे रहा है कि एक इलाके में गहरा काला धुंआ उड़ता हुआ नजर आ रहा है. यह घटना लेबनान की राजधानी बेरुत से 50 किमी दक्षिण में हुआ है. इस विस्फोट के कारणों का पता लगाया जा रहा है. बता दें कि बीते 4 अगस्त को बेरुत पोर्ट पर हुए विस्फोट में करीब 200 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई और 6500 के करीब लोग घायल हो गए थे. इस विस्फोट में लाखों लोग बेघर हो गए थे.

इन-काना गांव में हुआ धमाका

लेबनान के पोर्ट सिटी सिडोन के दक्षिण में स्थित गांव इन-काना में जोरदार धमाका हुआ है. सुरक्षा एजेंसी का कहना है कि कि घटना में अभी तक किसी के भी हताहत होने की खबर नहीं है. दक्षिणी लेबनान हिज़्बुल्लाह का एक राजनीतिक गढ़ है. शिया आतंकवादी समूह हिजबुल्लाह के एक अधिकारी ने विस्फोट की पुष्टि की है, लेकिन आगे विवरण देने से इनकार कर दिया.



हिजबुल्ला आतंकी संगठन पर है शक
हिजबुल्ला के एक अन्य अधिकारी ने विस्फोट से किसी के हताहत होने की ना तो पुष्टि की है और ना ही इस विस्फोट से इनकार किया है. उन्होंने कहा कि विस्फोट की प्रकृति अभी तक स्पष्ट नहीं है. हिजबुल्लाह के सैनिकों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी है. विस्फोट के आसपास के इलाके में मीडिया कर्मियों को जाने से रोक दिया गया है. यह बताया जा रहा है कि विस्फोट हिजबुल्ला के हथियार डिपो में हुआ है.

ये भी पढ़ें: 14 भारतीय भाषाओं में पॉपुलर हो रहा है ये नारा, अमेरिका का नेता कैसा हो, बाइडेन जैसा हो 

ब्रिटेन में भारतीय सिख ड्राइवर को गोरों ने तालिबानी बताया, पगड़ी उछाली और पीटा

बीते 4 अगस्त को हुए बेरुत धमाके की प्राथमिक जानकारी से पता चला कि पोर्ट के 12 नंबर वेयरहाउस में 2014 से भंडारित अमोनियम नाइट्रेट के कारण यह जानलेवा विस्फोट हुआ था. इस हादसे में करोड़ों डॉलर का नुकसान हुआ. दुनिया के कई देशों की ओर से लेबनान को सहायता भेजी गई थी. हादसा इतना खतरनाक था कि यहां सत्ता के शीर्ष पर बैठे लोगों में बदलाव तक करना पड़ गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज